Ashok Kumar Birth Anniversary: हीरो बनने की खबर से अशोक कुमार के घर में मच गया था तूफान, टूट गई थी तय शादी

अभिनेता अशोक कुमार अपने घर में सभी भाई-बहनों में बड़े थे।जब अशोक कुमार ने फिल्मी दुनिया में कदम दखा था उस वक्त उनकी महीने की तनख्वाह महज पछत्तर रुपये थी। लेकिन जिस तरह उनकी तनख्वाह में इजाफ हुआ वो वाकई उनके लिए काफी हैरान करने वाला था।

Priti KushwahaPublish: Tue, 13 Oct 2020 09:32 AM (IST)Updated: Wed, 14 Oct 2020 04:57 PM (IST)
Ashok Kumar Birth Anniversary: हीरो बनने की खबर से अशोक कुमार के घर में मच गया था तूफान, टूट गई थी तय शादी

नई दिल्ली, जेएनएन। Ashok Kumar Birth Anniversary: बॉलीवुड के पहले सपुरस्टार अशोक कुमार फिल्म इंडस्ट्री में दादामुनि के नाम से मशहूर हैं। अपनी दमदार अदाकारी के चलते दर्शकों के दिलों पर आज भी राज करने वाले दिग्गज कलकार अशोक कुमार का आज जन्मदिन है। उनका जन्म 13 अक्टूबर, 1911 को भागलपुर शहर के आदमपुर मोहल्ले में हुआ था। अशोक कुमार के नाम से फिल्म इंडस्ट्री में फेमस एक्टर का असली नाम कम लोग ही जातने हैं। उनका असली नाम कुमुदलाल गांगुली था। बॉलीवुड में एंट्री के बाद ही उन्होंने अपना नाम बदल कर अशोक कुमार रख लिया था। अशोक कुमार के​ लिए एक्टर बनना आसान नहीं था। उन्हें सबसे ज्यादा संघर्ष अपने ही परिवार से करना पड़ा था। अशोक कुमार के हीरो बनते ही उनकी तय की हुई शादी टूट गई थी। आज हम आपको अशोक कुमार के जन्मदिन के खास मौके पर आपको बताते हैं उनसे जुड़े कुछ दिलचस्प किस्से... 

अपने करियर में कई यादगार फिल्में देने वाले अभिनेता अशोक कुमार अपने घर में सभी भाई-बहनों में बड़े थे।जब अशोक कुमार ने फिल्मी दुनिया में कदम दखा था उस वक्त उनकी महीने की तनख्वाह महज पछत्तर रुपये थी। लेकिन जिस तरह उनकी तनख्वाह में इजाफ हुआ वो वाकई उनके लिए काफी हैरान करने वाला था। एक बार अशोक कुमार ने अपनी तनख्वाह को लेकर अपने खास मित्र सआदत हसन मंटो से बात करते हुए कहा था, 'बाई गॉड, मेरी अपनी सैलरी में इतना इजाफा देखकर मेरी तो हालत ही खराब हो गई थी। मन में एक अजीबो-गरीब कशमकश सी हो गई थी। ढाई सौ रुपये! दफ्तर के खजांची से जब पहली बार मुझे बड़ा अजीब सा लगा। जब मैंने इतनी रकम ली, तो मेरे हाथ अचानक कांपने लगे थे। समझ में नहीं आता था कि इतने सारे रुपये मैं आखिर रखूंगा कहां?'

अशोक कुमार ने एक बार इंटरव्यू में बातया था, 'हिंदी सिनेमा में एक दौर ऐसा था जब फिल्मों में काम करने वाली एक्ट्रसेस के बारे में लोगों की सोच अच्छी नहीं थी। उन्होंने काफी गलत नजर देखा जाता था। लेकिन इन सबके बीच मैंने अपनी पहचान बतौर अभिनेता बनाई।'

वहीं अशोक कुमार ने साल 1936 में आई अपनी पहली फिल्म 'जीवन नैया' में बतौर एक्टर काम किया ​था। इस फिल्म में उन्होंने एक गाना भी गाया था। वहीं साल 1943 में फिल्म किस्मत में अशोक कुमार एंटी-हीरो की भूमिका में नजर आए। इस फिल्म से वो रातों-रात हिट होकर हिंदी सिनेमा के पहले सुपर स्टार बने।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो अशोक कुमार को लेकर फिल्म इंडस्ट्री में आज भी एक बात​ कही जाती है कि हीरो बनने की वजह से उनकी तय शादी टूट गई थी। कहा जाता है कि जब अशोक कुमार के एक्टर बनने की खबर उनके खंडवा में उनके घरवालों को पता चला तो उनके घर में मानों हड़कंप मच गया था। इसी वजह से उनकी तय शादी तक टूट गई थी। इसके बाद उनके पिता नागपुर गए और अशोक कुमार से मिले। अशोक कुमार के पिता ने उनसे एक्टिंग छोड़ने को कहा लेकिन उस समय हिमांशु राय के समझाने पर अशोक के पिता माना गए और उन्हें एक्टिंग करने की अनुमति दे दी। 

Edited By Priti Kushwaha

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept