UP के मंत्री स्वतंत्रदेव लोकसभा के लिए BJP के MP चुनाव प्रभारी

UP के मंत्री स्वतंत्रदेव कमलनाथ, सिंधिया और भूरिया की सीट पर भाजपा को बड़ी बढ़त नहीं दिला पाए थे।

Hemant UpadhyayPublish: Wed, 26 Dec 2018 10:38 PM (IST)Updated: Thu, 27 Dec 2018 09:06 AM (IST)
UP के मंत्री स्वतंत्रदेव लोकसभा के लिए BJP के MP चुनाव प्रभारी

भोपाल। उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह को लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा ने पूरे प्रदेश का प्रभारी बनाया है। हालांकि सिंह को राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने करीब सवा साल पहले मध्य प्रदेश में भी कांग्रेस के खाते की तीन सीटों का प्रभारी बनाया था, लेकिन वे इन सीटों पर भाजपा को बड़ी कामयाबी नहीं दिला पाए।

विधानसभा चुनाव के नतीजों पर गौर करें तो इन तीनों लोकसभा सीटों पर भाजपा को बढ़त मिलती हुई नहीं दिखाई दे रही है। मप्र में अभी 29 लोकसभा सीट में से तीन कांग्रेस के पास हैं। इसमें गुना से ज्योतिरादित्य सिंधिया, छिंदवाड़ा से कमलनाथ और रतलाम-झाबुआ से कांतिलाल भूरिया सांसद हैं। रतलाम-झाबुआ सीट पर हुए उपचुनाव में भूरिया जीते थे। भाजपा ने दिल्ली के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सतीश उपाध्याय को सह प्रभारी नियुक्त किया है।

औपचारिक बैठकों तक सीमित रहे

सिंह पिछले सवा साल में मप्र की तीनों लोकसभा सीटों पर औपचारिक बैठकों तक ही सीमित रहे। इन सीट पर उन्होंने एक या दो बार दौरे कर एक रिपोर्ट भी भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को सौंपी थी।

छिंदवाड़ा में एक लाख से ज्यादा वोटों से पीछे

विधानसभा चुनावों में छिंदवाड़ा की सातों विधानसभा सीट भाजपा हारी है। सात सीट पर कांग्रेस को 5 लाख 79 हजार 62 वोट मिले, जबकि भाजपा 4 लाख 55 हजार 859 वोट ही ले सकी। छिंदवाड़ा लोकसभा सीट पर भाजपा 1 लाख 23 हजार से ज्यादा वोट से पीछे रही। झाबुआ रतलाम की आठ विधानसभा सीट में से पांच कांग्रेस और तीन भाजपा ने जीती हैं। विस चुनाव में इन आठ सीटों पर कांग्रेस को 5 लाख 69 हजार 739 वोट हासिल हुए, जबकि भाजपा ने 5 लाख 40 हजार 549 वोट लिए। भाजपा 29 हजार से ज्यादा वोट से पिछड़ी।

गुना में मामूली बढ़त

गुना की आठ विधानसभा सीट में से 5 कांग्रेस और 3 भाजपा के पास हैं, लेकिन वोटों की संख्या में भाजपा मामूली अंतर से आगे है। आठों सीटों पर भाजपा को कुल 5 लाख 16 हजार 796 वोट मिले, जबकि कांग्रेस को 5 लाख 297 वोट हासिल हुए। इस सीट पर जरूर भाजपा 16 हजार के मामूली अंतर से आगे रही, लेकिन इस सीट पर बहुजन समाज पार्टी की अहम भूमिका रही। विस चुनाव में बसपा को इन सीटों पर 1 लाख 4 हजार 268 वोट मिले हैं।

अपेक्षाओं पर खरा उतरने का प्रयास करूंगा

लोकसभा चुनाव के सह प्रभारी बनाए गए सतीश उपाध्याय ने ट्वीट कर कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मप्र के सह प्रभारी के रूप में दायित्व सौंपा है। मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व और पार्टी अध्यक्ष के मार्गदर्शन में पार्टी की अपेक्षाओं पर एक कार्यकर्ता के रूप में खरा उतरने का प्रयास करूंगा।

मप्र से नरोत्तम और गेहलोत को दूसरे राज्यों में भेजा

भाजपा के लोकसभा चुनाव के प्रभारी और सह प्रभारी की सूची में मप्र से दो नाम हैं। इनमें पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा को उप्र का सह प्रभारी बनाया गया है। नरोत्तम ने उप्र विधानसभा चुनाव में भी भाजपा की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। केंद्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत को उत्तराखंड का प्रभारी बनाया है। 

Edited By Hemant Upadhyay

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept