अपने पसंदीदा टॉपिक्स चुनें
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

नैनीताल ऊधमसिंह नगर

ऊधम सिंह नगर से वर्तमान में भाजपा के सांसद भगत सिंह कोश्यारी हैं, जिन्होंने कांग्रेस के केसी सिंह बाबा को हराया था। केसी सिंह बाबा दो बार सांसद रह चुके थे। वैसे यह सीट पहले तब चर्चा में आई थी, जब 1991 में भाजपा के बलराज पासी ने कांग्रेस के दिग्गज नेता नारायण दत्त तिवारी को हराया था। तब चर्चा थी कि तिवारी प्रधानमंत्री बन सकते हैं। वर्ष 1952 से 2008 तक नैनीताल लोकसभा क्षेत्र था। वर्ष 2008 में परिसीमन के बाद इसे नैनीताल-ऊधमसिंह नगर के नाम से जाना गया। इस क्षेत्र में दो जिले और 15 विधानसभा सीटें हैं। इनमें गोविंद बल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय पंतनगर, हवाई अड्डा पंतनगर, आईआईएम काशीपुर, सिडकुल रुद्रपुर, राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी, उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय हल्द्वानी, कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल जैसे बड़े संस्थान स्थापित हैं।  

जिला नैनीताल के विधानसभा क्षेत्र, दल व विधायक
नैनीताल- भाजपा - संजीव आर्य
भीमताल- निर्दलीय- राम सिंह कैंड़ा
हल्द्वानी - कांग्रेस- डॉ. इंदिरा हृदयेश
लालकुआं- भाजपा- नवीन दुम्का
कालाढूंगी- भाजपा- बंशीधर भगत
रामनगर-  भाजपा-दीवान सिंह बिष्ट

जिला ऊधमसिंह नगर के विधानसभा क्षेत्र, दल व विधायक
बाजपुर- भाजपा- यशपाल आर्य
गदरपुर- भाजपा - अरविंद पांडेय
जसपुर- कांग्रेस - आदेश चौहान
काशीपुर- भाजपा- हरभजन सिंह चीमा
खटीमा- भाजपा - पुष्कर धामी
किच्छा-  भाजपा-   राजेश शुक्ला
नानकमत्ता- भाजपा- प्रेम सिंह राणा
रुद्रपुर- भाजपा- राजकुमार ठुकराल
सितारगंज- भाजपा- सौरभ बहुगुणा

विकास का हाल और स्‍थानीय मुद्दे

लोकसभा क्षेत्र का बड़ा हिस्सा मैदानी क्षेत्र में हैं। इसमें भी हल्द्वानी, रुद्रपुर व काशीपुर में कुछ सड़कों व स्वास्थ्य के क्षेत्र में थोड़ा बहुत काम हुआ, लेकिन अन्य क्षेत्रों में उम्मीद के मुताबिक सुविधाएं दुरुस्त नहीं हो सकीं। पंतनगर स्थित हवाई अड्डे के विस्तार को लेकर काम हुआ। एनएच 74 पर काम हुआ। स्वामी राम कैंसर संस्थान को 120 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट में भी तेजी आई। रोजगार के क्षेत्र में कोई खास काम नहीं हुआ। सरकारी शिक्षा भी बदहाल स्थिति में ही है। रुद्रपुर में 10 साल पहले मेडिकल कॉलेज की नींव रखी गई थी, लेकिन अभी तक काम पूरा नहीं हो सका। ईएसआई अस्पताल का काम भी अधूरा है। एनएच 125 का काम भी थारूलैंड को लेकर अटका हुआ है। एनएच 87 अभी तक नहीं बन सका है। ये हैं स्थानीय मुद्दे- सिडकुल में रोजगार बढ़ाना, हल्द्वानी में अंतरराज्यीय बस अड्डा बनाना, स्वास्थ्य सुविधाएं दुरुस्त करना, सरकारी स्तर पर शिक्षा की स्थिति को सुधारना, खस्ताहाल सड़कों की दशा ठीक करना, जगह-जगह खेल के मैदान विकसित करना और सिचाई के लिए पानी की व्यवस्था करना।

बड़ी घटनाएं और डेमोग्राफी

पिछले पांच में लोकसभा क्षेत्र में एनएच 74 घोटाला उजागर हुआ। इसमें पीसीएस अधिकारी समेत 54 लोगों को गिरफ्तार किया गया। सरकार ने इस मुद्दे को जीरो टॉलरेंस के नाम पर खूब भुनाया। विधानसभा चुनाव में किच्छा सीट पर भाजपा के राजेश शुक्ला ने तत्कालीन सीएम हरीश रावत को हराया। इसके साथ ही नगर निकाय चुनाव में अधिकांश सीटों पर भाजपा ने जीत हासिल की। नैनीताल-ऊधमसिंह लोकसभा क्षेत्र में की जनसंख्या इस समय 25 लाख है। यहां की ग्रामीण आबादी 63.11 फीसद है। जबकि शहरी जनसंख्या का आंकड़ा 36.89 फीसद है। यहां पर अनुसूचित जाति के लोगों का हिस्सा 16.08 फीसद है, जबकि अनुसूचित जनजाति की आबादी 5.17 फीसद है।

मतदाताओं की स्थिति

नैनीताल-उधमसिंह नगर सीट पर 2014 के लोकसभा चुनाव में 16 लाख 10 हजार 810 मतदाता थे. इसमें से पुरुष मतदाता 8 लाख 57  हजार 781 जबकि महिला वोटरों की संख्या सात लाख 53 हजार 29 थी. 2014 में यहां मतदान का प्रतिशत 68.38 था. 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में यहां मतदाताओं की संख्या बढ़कर 17 लाख 31 हजार 766 हो गई है। वर्तमान में कुल वोटर 1889827 हैं। इसमें से 995281 पुरुष और 894546 महिला वोटर हैं। थर्ड जेंडर की संख्या 28 है।

2014 का लोकसभा चुनाव

वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में राज्य के पूर्व सीएम भगत सिंह कोश्यारी ने 2 लाख 84 हजार 717 वोटों से जीत हासिल की। इस चुनाव में भगत सिंह कोश्यारी को 6 लाख 36 हजार 769 वोट मिले थे। जबकि कांग्रेस के केसी सिंह बाबा को तीन लाख 52 हजार 52 वोट मिले थे।

 

नैनीताल-ऊधमसिंह नगर की खास बातें

नैनीताल-ऊधमसिंह नगर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र उत्तराखंड का महत्वपूर्ण लोकसभा क्षेत्र है। इस संसदीय क्षेत्र को 2002 में गठित भारत के परिसीमन आयोग की सिफारिशों के बाद 2008 में गठित किया गया। इस क्षेत्र में पहली बार 2009 में लोकसभा चुनाव हुए। इस संसदीय सीट को दो जिलों नैनीताल और ऊधमसिंह नगर की 14 विधानभा क्षेत्रों को मिलाकर बनाया गया है। प्राकृतिक सुंदरता में डूबा यह क्षेत्र बेहद खूबसूरत है। हिमालय की पर्वत श्रंखलाएं इस क्षेत्र को अलौकिक बना देती हैं। इस इलाके में नैनीताल झील का सौंदर्य देखते ही बनता है। यहां पर बड़ी संख्या में पर्यटक घूमने आते हैं।

और पढ़ें >
  • सीटें534
  • महिला मतदाता753,029
  • पुरुष मतदाता857,782
  • कुल मतदाता1,610,811

लोकसभा चुनाव

    भगत सिंह कोश्यारी

    विजयी सांसद – 2014
    • जन्मतिथि17 जून 1942
    • जेंडरM
    • शिक्षापोस्ट ग्रेजुएट
    • संपत्ति55.62 लाख

    पूर्व सांसद

    • के सी सिंह बाबा

      कांग्रेस2009

    वीडियो

    किसने क्या कहा और पढ़ें

    • नरेंद्र मोदी(भाजपा)

      आज भारत दुनिया में तेजी से अपनी जगह बना रहा है, लेकिन कांग्रेस, डीएमके और उनके महामिलावटी दोस्त इसे स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं। इसलिए वे मुझसे नाराज हैं

      अन्य बयान
    • राबड़ी देवी(राजद)

      जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर लालू जी से मिलने उनके और तेजस्वी यादव के आवास पर पांच बार आए थे। नीतीश कुमार ने वापस आने की इच्छा जताई थी और साथ ही कहा था कि तेजस्वी को वो 2020 के विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं और इसके लिए 2019 के लोकसभा चुनाव में लालू उन्हें पीएम पद का उम्मीदवार घोषित कर दें।

      अन्य बयान
    • साक्षी महाराज(भाजपा)

      मैं एक संत हूं और वोट मांगने आए हूं। एक वोट का दान कई कन्यादान के बराबर होता है। संन्यासी लोगों का भला करते हैं। मैं आपसे घर, खेती या अन्य चीज दान में नहीं मांग रहा, सिर्फ आपका वोट मांग रहा हूं। संत की मांग जो पूरी नहीं करता वह उसके किए गए पुण्य ले जाता है।

      अन्य बयान
    • राजनाथ सिंह(भाजपा)

      अगर हमारी सरकार सत्ता में दोबारा आती है, तो हम देशद्रोह कानून को और ज्यादा सख्त करेंगे। अगर जम्मू-कश्मीर के लिए अलग पीएम की मांग की जाती रही तो हमारे पास अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है।

      अन्य बयान
    • राहुल गांधी(कांग्रेस)

      लोकसभा 2019 का चुनाव देश की दो विचारधाराओं की लड़ाई है। कांग्रेस कहती है कि देश की सभी विचारधारा, अवसर, भाषा, इतिहास, संस्कृति सब हंसी-खुशी से साथ रहें। सबको अपनी बात रखने का हक है। लेकिन संघ और बीजेपी चाहती है कि देश में एक ही विचारधारा का राज कायम रहे।

      अन्य बयान
    राज्य चुनें
    • उत्तर प्रदेश
    • पंजाब
    • दिल्ली
    • बिहार
    • उत्तराखंड
    • हरियाणा
    • मध्य प्रदेश
    • झारखण्ड
    • राजस्थान
    • जम्मू-कश्मीर
    • हिमाचल प्रदेश
    • छत्तीसगढ़
    • पश्चिम बंगाल
    • ओडिशा
    • महाराष्ट्र
    • गुजरात
    आपका राज्य