Delhi Crime: मुठभेड़ के बाद कुख्यात टिल्लू ताजपुरिया गिरोह के तीन शूटर धरे

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बुधवार रात होलंबी खुर्द में कुख्यात टिल्लू ताजपुरिया गिरोह के तीन शूटरों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। शूटरों में दो नाबालिग शामिल हैं। तीनों गांव हरियाणा में गन प्वाइंट पर बाइक लूटने के मामले में वांछित थे।

Prateek KumarPublish: Thu, 30 Jun 2022 08:04 PM (IST)Updated: Thu, 30 Jun 2022 10:27 PM (IST)
Delhi Crime: मुठभेड़ के बाद कुख्यात टिल्लू ताजपुरिया गिरोह के तीन शूटर धरे

नई दिल्ली [राकेश कुमार सिंह]। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बुधवार रात होलंबी खुर्द में कुख्यात टिल्लू ताजपुरिया गिरोह के तीन शूटरों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। शूटरों में दो नाबालिग शामिल हैं। तीनों गांव हिरणकुदना में रहने वाले सहायक जेल अधीक्षक के घर के बाहर फायरिंग करने व हरियाणा में गन प्वाइंट पर बाइक लूटने के मामले में वांछित थे। मुठभेड़ में बदमाशों की तरफ से तीन व पुलिस की तरफ से एक गोलियां चली।

डीसीपी जसमीत सिंह के मुताबिक तीनों ने गांव हिरणकुदना में सहायक जेल अधीक्षक को डराने-धमकाने के लिए उनके घर को निशाना बनाकर गोलियां चलाई थी। इनके पास से दो कटटा, आठ कारतूस के अलावा बीते 27 जून को कुंडली सोनीपत, हरियाणा से लूटी गई बाइक बरामद की गई है। गिरफ्तार बालिग शूटर का नाम शुभम बालियान है। वह गढ़ी नवाबा मुजफ्फरनगर, यूपी का रहने वाला है।

29 जून को इंस्पेक्टर शिव कुमार को सूचना मिली कि शुभम और उसके दो किशोर सहयोगी शाम सात बजे के बीच होलंबी खुर्द की ओर लूट गई बाइक से आने वाले हैं। इनकी योजना किसी वारदात को अंजाम देने की है। एसीपी अत्तर सिंह, इंस्पेक्टर शिव कुमार व पवन कुमार के नेतृत्व में एसआइ राजेश की टीम ने जब तीनों को रुकने करा इशारा किया तब दो ने पुलिसकर्मियों पर गोलियां चलानी शुरू कर दी।

बुलेटप्रूफ जैकेट पहने होने के कारण किसी को भी गोली नहीं लगी। जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने भी बदमाशों पर एक फायरिंग कर तीनों को काबू में कर लिया। मंडोली जेल के एक सहायक जेल अधीक्षक के घर पर तीनों ने उन्हें डराने के लिए गोलियां चलाईं थी, क्योंकि उन्होंने युद्धवीर उर्फ काला पंडित को जेल में जमकर फटकार लगाई थी। वह एक किशोर अपराधी का भाई है। काला पंडित, मंडोली जेल में बंद है। जेल में अपने भाई के अपमान का बदला लेने के लिए किशोर ने उन्हें सबक सिखाने के लिए उक्त घटना को अंजाम दिया।

Edited By Prateek Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept