गणतंत्र दिवस परेड में नहीं दिखेगी 'उम्मीदों का दिल्ली शहर' विषय पर झांकी, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह?

Republic Day 2022 Parade आजादी के 75वां साल होने के नाते अमृत महोत्सव चल रहा है। उसे देखते हुए सरकार की ओर से इस बार गणतंत्र दिवस परेड के लिए उम्मीदों का दिल्ली शहर विषय पर झांकी तैयार करने वाली थी।

Vinay Kumar TiwariPublish: Tue, 18 Jan 2022 01:19 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 01:59 PM (IST)
गणतंत्र दिवस परेड में नहीं दिखेगी 'उम्मीदों का दिल्ली शहर' विषय पर झांकी, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह?

नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। गणतंत्र दिवस समारोह में इस बार दिल्ली की झांकी दिखाई नहीं देगी। परेड में शामिल होने वाली झांकियों को चयन करने वाली केंद्र सरकार की समिति ने दिल्ली की झांकी को इसमें शामिल नहीं किया है। बता दें कि दिल्ली सरकार ने इस बार झांकी के लिए तैयारी शुरू कर दी थी। देश की आजादी के 75वां साल होने के नाते अमृत महोत्सव चल रहा है। उसे देखते हुए सरकार की ओर से इस बार गणतंत्र दिवस परेड के लिए 'उम्मीदों का दिल्ली शहर' विषय पर झांकी तैयार करने वाली थी।

दिल्ली सरकार के कला एवं संस्कृति विभाग के तहत आने वाली साहित्य कला परिषद झांकी की संकल्पना और डिजाइन तैयार कर रही थी। इसके लिए नवंबर में पब्लिक नोटिस भी निकाला था। दिल्ली सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि केंद्र सरकार को झांकी के विषय पर आधारित प्रस्ताव भेजा गया था, लेकिन दिल्ली सरकार के झांकी के प्रस्ताव का चयन नहीं हो सका है। वैसे, यह पहला मौका नहीं है जब दिल्ली सरकार की झांकी गणतंत्र परेड दिवस में शामिल नहीं हो रही है।

इससे पहले वर्ष 2018 और 2020 में भी दिल्ली की झांकी गणतंत्र दिवस परेड में नहीं आई थी, जबकि वर्ष 2017 में दिल्ली के माडल स्कूलों पर आधारित झांकी भेजी गई थी। फिर वर्ष 2019 में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती की थीम पर आधारित झांकी बनाई गई थी, जिसमें गांधी जी के दिल्ली में बिताए गए 720 दिनों को दर्शाया गया था। पिछले साल में दिल्ली सरकार की झांकी शाहजहांनाबाद पुनर्विकास पर आधारित थी।

Edited By Vinay Kumar Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept