राजधानी में कहीं डुगडुगी तो कहीं नाटक के माध्यम से वैक्सीन के लिए फैलाई जा रही जागरूकता, डीडीएमए ने दिया आदेश

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कोरोना संक्रमण रोकने के साथ-साथ वैक्सीन को लेकर जागरूकता बढ़ाने के सभी डीएम को निर्देश दिए हैं। सरकार का उद्देश्य है कि वैक्सीन को अधिक से अधिक बढ़ावा मिले। आदेश के बाद सभी डीएम अपने अपने तरीके से वैक्सीन को बढ़ावा देने में जुटे हैं।

Vinay Kumar TiwariPublish: Mon, 17 Jan 2022 02:46 PM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 02:46 PM (IST)
राजधानी में कहीं डुगडुगी तो कहीं नाटक के माध्यम से वैक्सीन के लिए फैलाई जा रही जागरूकता, डीडीएमए ने दिया आदेश

नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। वैक्सीन कोरोना मरीजों का बचाने में कारगर साबित हो रही है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने कोरोना संक्रमण रोकने के साथ-साथ वैक्सीन को लेकर जागरूकता बढ़ाने के सभी डीएम को निर्देश दिए हैं। सरकार का उद्देश्य है कि वैक्सीन को अधिक से अधिक बढ़ावा मिले। डीडीएमए के आदेश के बाद सभी डीएम अपने अपने तरीके से वैक्सीन को बढ़ावा देने में जुटे हैं। कहीं डुगडुगी के माध्यम से तो कहीं नाटक के माध्यम से लोगों को वैक्सीन के प्रति जागरूक किया जा रहा है।

कोरोना की तीसरी लहर में यह बात देखने में आ रही है कि संक्रमण जरूर तेजी से फैल रहा है, लेकिन लोग गंभीर बीमार कम हो रहे हैं। अस्पताल जाने की जरूरत नही पड़ रही है। इसे लेकर विशेषज्ञों का मानना है कि वैक्सीन लगी होने के कारण कोरोना असर नहीं कर पा रहा है। इसके बाद दिल्ली सरकार ने कोरोना संक्रमण रोकने के साथ-साथ टीकाकरण पर और अधिक ध्यान देने की रणनीति बनाई है। इसके तहत अब प्रत्येक जिले में अभियान के तौर पर इसे आगे बढ़ाया जा रहा है। यमुना खादर को 100 प्रतिशत वैक्सीनेटेड किया गयापूर्वी जिला प्रशासन ने वैक्सीन पर भी फोकस बढ़ा दिया है। यहां लोगों को नुक्कड़ नाटक के माध्यम से वैक्सीनेशन की जरूरत को समझाया जा रहा है।

आरडब्ल्यूए, धार्मिक व सामाजिक संगठन, मार्केट एसोसिएशन के सदस्यों व धर्म गुरुओं के साथ बैठकें की जा रही हैं। शिविर लगाकर यमुना खादर को 100 प्रतिशत वैक्सीनेटेड किया गया है। बेघरों व मेट्रो स्टाफ व सीनियर सिटीजन के लिए शिविर लगाए गए हैं। किसी जरूरतमंद द्वारा मांगने पर डीएम कार्यालय परिवहन की सुविधा भी उपलब्ध करा रहा है। शाहदरा, उत्तर-पूर्वी जिला में वैक्सीन को बढ़ावा देने के लिए लगातार जनता के साथ बैठकें की जा रही हैं। मस्जिदों में शिविर लगाए गए हैं। आरडब्ल्यूए, धार्मिक और सामाजिक संगठन, मार्केट एसोसिएशन के सदस्यों के साथ बैठकें की जा रही हैं।

नई दिल्ली के दो बाजारों में शत प्रतिशत टीकाकरण नई दिल्ली जिला में सरोजनी नगर व जनपथ बाजार में 100 प्रतिशत टीकाकरण किया जा चुका है। इसी के साथ नई दिल्ली मध्य दिल्ली में जिला प्रशासन की बाजार और सामाजिक संगठनों तथा आरडब्ल्यूए पदाधिकारियों के साथ बैठकें हो रही हैं। बाजारों में मुनादी हो रही है। आरडब्ल्यूए और मार्केट संगठनों के समन्वय से विशेष टीकाकरण केंद्रों की व्यवस्था की जा रही है। बेघर और भिखारियों की पहचान कर उन्हें टीका दिया जा रहा है।दक्षिणी जिले में दो माल में 100 प्रतिशत टीकाकरण दक्षिणी जिला में साकेत स्थित सेलेक्ट सिटी माल और डीएलएफ माल में 100 प्रतिशत टीकाकरण पूर्ण हो चुका है। इसके साथ ही दक्षिणी जिला व दक्षिण-पूर्वी जिला प्रशासन की ओर से लोगों को टीकाकरण के प्रति जागरूक करने के लिए विभिन्न कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं।

बाजारों में लाउडस्पीकर के जरिये लोगों को जागरूक किया जा रहा है, बाजारों व माल तथा कालोनियों में आरडब्ल्यूए की ओर से टीकाकरण कैंप लगवाए जा रहे हैं। स्कूलों के अनुरोध पर उनके स्कूलों में टीकाकरण शिविर लगाकर 15 से 18 साल के किशोरों को टीका लगवाया जा रहा है। इसके साथ ही उत्तरी और उत्तर-पश्चिमी, दक्षिण-पश्चिमी व पश्चिमी जिला में भी प्रशासन द्वारा जिले में आरडब्ल्यूए पदाधिकारियों के साथ बैठकें की जा रही हैं। बाजार संगठनों को भी कोरोना नियमों का पालन करने के लिए जागरूक किया जा रहा है। इसके अलावा स्कूल प्रबंधन और आरडब्ल्यूए पदाधिकारियों से समन्वय कर अलग-अलग इलाके में टीकाकरण शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। नुक्कड़ नाटक, वीडियो कान्फ्रेंसिंग , मुनादी के माध्यम से जागरूकता कार्यक्रम चलाया जा रहा है।

Edited By Vinay Kumar Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept