नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर जल्द मिलेगी स्काईवाक की सुविधा, मेट्रो यात्रियों को भी मिलेगा लाभ

दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने लंबे इंतजार के बाद अजमेरी गेट की तरफ नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर स्काई वार्क का निर्माण काफी हद तक पूरा कर लिया है। इसके फिनिशिंग का काम चल रहा है जो दो दिन में पूरा हो जाएगा।

Ranbijay Kumar SinghPublish: Sat, 29 Jan 2022 09:50 AM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 09:52 AM (IST)
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर जल्द मिलेगी स्काईवाक की सुविधा, मेट्रो यात्रियों को भी मिलेगा लाभ

नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने लंबे इंतजार के बाद अजमेरी गेट की तरफ नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर स्काई वार्क का निर्माण काफी हद तक पूरा कर लिया है। इसके फिनिशिंग का काम चल रहा है, जो दो दिन में पूरा हो जाएगा। इसके बाद यह स्काई वाक यात्रियों के आवागमन के लिए उपलब्ध हो जाएगा, इसलिए नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर जल्द ही स्काई वाक शुरू हो जाएगा। तब यात्रियों को दिल्ली मेट्रो के स्टेशन व भवभुति मार्ग के किनारे स्थित बहुमंजिली पार्किंग से सीधे रेलवे स्टेशन पर पहुंचने में यात्रियों को सुविधा होगी। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन मेट्रो के दो कारिडोर से जुड़ा है। यहां येलो लाइन (समयपुर बादली-हुडा सिटी सेंटर) व एयरेपोर्ट एक्सप्रेस लाइन के स्टेशन हैं।

210 मीटर लंबे स्काई वाक को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के फुटओवर ब्रिज संख्या दो व बहुमंजिली पार्किंग से जोड़ा गया है, इसलिए पार्किंग में वाहन खड़ी करने के बाद यात्री स्काई वाक के जरिये आसानी से रेलवे स्टेशन पर पहुंच जाएंगे। इस स्काई वाक में करीब पांच निकास व प्रवेश द्वार हैं, इसलिए यह स्काई वाक येलो लाइन के मेट्रो स्टेशन के निकास द्वार और एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन के मेट्रो स्टेशन के प्रवेश द्वार से भी जुड़ा है। स्काई वाक में तीन एस्केलेटर होंगे। इसे दिव्यांगों के अनुकूल बनाया गया है, ताकि उनके अवागमन में परेशानी न होने पाए।

डीएमआरसी का कहना है कि इस स्काई वाक पर मेट्रो व रेलवे के लिए अलग-अलग काउंटर होंगे। टोकन वेंडिंग मशीने भी लगाई जाएंगी। इसके अलावा यात्रियों के ठहरने के लिए जगह निर्धारित रहेगी, जहां शौचालय की भी सुविधा होगी। इसके अलावा ट्राली की सुविधा रहेगी। एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन की मेट्रो से उतरने के बाद रेलवे स्टेशन पर जाने वाले यात्री इस ट्राली का इस्तेमाल कर सकेंगे। वर्ष 2018 के जून में यह स्काई वाक बनाने की योजना बनी थी और नौ करोड़ की लागत से 10 माह में इसे बनाकर तैयार करना था, लेकिन इसके निर्माण में करीब साढ़े तीन साल लग गए। 

Edited By: JP Yadav

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम