तकरीबन एक सप्ताह बाद दिल्ली-एनसीआर में खिली हल्की धूप, जानें कब मिलेगी सर्दी के सितम से राहत

Cold Weather in Delhi दिल्ली-एनसीआर में कोल्ड डे की स्थिति बनने के पीछे मुख्य वजह बादल छाए रहना है। सूरज बादलों में छिप रहा है और धूप धरती तक नहीं पहुंच पा रही। बृहस्पतिवार से आसमान साफ होगा तभी इस ठिठुरन भरी ठंड से कुछ राहत मिलने की संभावना है।

Jp YadavPublish: Wed, 26 Jan 2022 08:25 AM (IST)Updated: Wed, 26 Jan 2022 12:21 PM (IST)
तकरीबन एक सप्ताह बाद दिल्ली-एनसीआर में खिली हल्की धूप, जानें कब मिलेगी सर्दी के सितम से राहत

नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। दिल्ली-एनसीआर में लगातार कई दिनों से जारी भीषण ठंड के बीच बुधवार को बादलों को असर कम हुआ और धूप निकली, जिससे लोगों को कुछ राहत महससू हुई। बुधवार को निकली धूप बहुत तेज नहीं है, लेकिन इससे कंपकंपी से हल्की राहत तो मिली ही है। वहीं, मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि बृहस्पतिवार से आसमान साफ हो जाए, जिसके बाद धूप खिलेगी। इससे ठंड से हल्की राहत मिलेगी, लेकिन शीतलहर का असर अभी कुछ दिन और जारी रहेगा।

यहां पर बता दें कि देश की राजधानी दिल्ली की सर्दी इस बार नित नए रंग दिखा रही है। दिल्ली वासी रात को ही नहीं, दिन में भी खूब कंपकंपा रहे हैं। बुधवार की सुबह जहां कोहरा हल्का रहा तो ठंड जबरदस्त है। वहीं, सर्दी का आलम यह है कि बारिश के बाद अब दिल्ली की सर्दी ने भी रिकार्ड तोड़ दिया है। तीन जनवरी 2013 के बाद मंगलवार (25 जनवरी) को राजधानी सर्वाधिक ठिठुरी। दिन का तापमान सामान्य से 10 डिग्री नीचे चला गया। आरेंज अलर्ट की ठंड के बीच लोग दिन भर कांपते रहे।  

वहीं छुट्टी का दिन होने की वजह से बुधवार को दिल्ली-एनसीआर की सड़कों पर लोग कम परेशान दिखे, जबकि ठिठुरन वाले ठंडे दिन की स्थिति भी बरकरार रहेगी। बुधवार को अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान क्रमश: 14 और छह डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी आर के जैनामणि ने बताया कि कोल्ड डे की स्थिति बनने के पीछे मुख्य वजह बादल छाए रहना है। सूरज बादलों में छिप रहा है और धूप धरती तक नहीं पहुंच पा रही। बृहस्पतिवार से आसमान साफ होगा, तभी इस ठिठुरन भरी ठंड से कुछ राहत मिलने की संभावना है।

इससे  पहले मंगलवार की शुरुआत घने कोहरे से हुई। सुबह साढ़े पांच बजे पालम में ²श्यता का स्तर महज 50 मीटर जबकि सफदरजंग एयरपोर्ट पर 200 मीटर दर्ज किया गया। दिन चढ़ने के साथ ²श्यता तो कुछ सु़धरी लेकिन बादल दिन भर छाए रहे। इसीलिए सूरज के दर्शन भी पूरे दिन नहीं हुए। ऐसे में ठिठुरन भरी सर्दी से निजात पाने को या तो दिल्ली वासी रजाई-कंबल में लिपटे रहे या फिर हीटर और अलाव के आगे हाथ सेंकते नजर आए। मंगलवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान सामान्य से 10 डिग्री कम 12.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। यह मौजूदा सीजन का ही नहीं बल्कि 25 जनवरी के दिन पिछले एक दशक में सबसे कम अधिकतम तापमान है। हालांकि तीन जनवरी 2013 को अधिकतम तापमान इससे भी कम 9.8 डिग्री दर्ज किया गया था। उस ²ष्टि से बीते आठ सालों में यह दूसरा सबसे ठंडा कहा जा सकता है।

मौसम विभाग की ओर से मंगलवार का दिन सिवियर कोल्ड डे यानी अत्यधिक ठिठुरन भरे ठंडे दिन की श्रेणी में भी रखा गया था। दिल्ली के अन्य इलाकों पालम, लोधी रोड, रिज, आयानगर, जाफरपुर, नरेला, नजफगढ़ और मयूर विहार में भी ठिठुरन भरा ठंडा दिन ही रहा।न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 6.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। हवा में नमी का स्तर 81 से 97 प्रतिशत रहा। अधिकतम तापमान 11.4 डिग्री सेल्सियस के लिहाज से जाफरपुर जबकि न्यूनतम तापमान 5.6 डिग्री सेल्सियस की ²ष्टि से नरेला राजधानी के सबसे ठंडे इलाके रहे।

यह भी पढ़ेंः अमित शाह को ‘चौधरी’ बोलकर जाटों ने दिए यूपी विधानसभा चुनाव के लिए बड़े संकेत

Edited By Jp Yadav

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept