जानिए अगले 48 घंटे कैसा रहेगा दिल्ली-एनसीआर का मौसम, विज्ञानी ने बताया कितने दिन रहेगा कोल्ड डे और कहां होगा घना कोहरा

एक ओर जहां मंगलवार सीजन का सबसे ठंडा दिन रिकार्ड किया गया वहीं दूसरी ओर बुधवार को भी इससे निजात नहीं मिलती दिखी। पूरे दिन मौसम अजीब सा ही बना रहा। सुबह खिली धूप को देखकर लगा था कि ठंडक में थोड़ा बदलाव होगा

Vinay Kumar TiwariPublish: Wed, 26 Jan 2022 05:06 PM (IST)Updated: Wed, 26 Jan 2022 05:06 PM (IST)
जानिए अगले 48 घंटे कैसा रहेगा दिल्ली-एनसीआर का मौसम, विज्ञानी ने बताया कितने दिन रहेगा कोल्ड डे और कहां होगा घना कोहरा

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। दिल्ली-एनसीआर में ठंडी शीत लहर और धूप की लुकाछिपी का दौर जारी है। एक ओर जहां मंगलवार सीजन का सबसे ठंडा दिन रिकार्ड किया गया वहीं दूसरी ओर बुधवार को भी इससे निजात नहीं मिलती दिखी। पूरे दिन मौसम अजीब सा ही बना रहा। सुबह खिली धूप को देखकर लगा था कि ठंडक में थोड़ा बदलाव होगा मगर ऐसा मौसम दिखा नहीं। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के वैज्ञानिक असीम कुमार मित्रा ने बताया कि अभी अगले दो से तीन दिन तक इसी तरह से शीत दिवस देखने को मिलेंगे। मंगलवार का दिन सिवियर कोल्ड डे यानी अत्यधिक ठिठुरन भरे ठंडे दिन की श्रेणी में भी रखा गया।

उन्होंने बताया कि अगले 2 दिनों के दौरान विदर्भ, उत्तरी मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा और गुजरात राज्य में अलग-अलग इलाकों में शीत लहर की स्थिति की संभावना है। इसके बाद अगले 3-4 दिनों के दौरान पंजाब, हरियाणा-चंडीगढ़-दिल्ली, उत्तरी राजस्थान, मध्य प्रदेश, ओडिशा और छत्तीसगढ़ में भी शीत लहर देखने को मिलेगी। कुछ इलाकों में सुबह के समय हल्का और घना कोहरा भी दिखाई देगा।

उन्होंने बताया कि आने वाले 24 घंटों में बढ़ोतरी होने जा रही है। कोल्ड डे की स्थिति देखने को मिलेगी उसके बाद बढ़ोतरी होगी। मध्य प्रदेश, मध्य भारत में शीत दिवस देखने को मिलेंगे। पश्चिमी विक्षोभ के कारण शीत दिवस, गंभीर शीत दिवस देखने को मिलेंगे। गहरे कोहरे, देखे गए।

मालूम हो कि पिछले एक दशक में 25 जनवरी यानि मंगलवार को राजधानी सर्वाधिक ठिठुरी। दिन का अधिकतम तापमान सामान्य से 10 डिग्री नीचे रहा। इससे यहां के लोग रात को ही नहीं, दिन में भी कंपकंपाते रहे। मौसम विभाग की ओर से इस संबंध में पहले ही येलो अलर्ट जारी किया गया था। इससे पहले तीन जनवरी 2013 को अधिकतम तापमान इससे भी कम 9.8 डिग्री दर्ज किया गया था। इस दृष्टि से बीते आठ सालों में जनवरी माह में यह दूसरा सबसे ठंडा दिन कहा गया था। इसके साथ ही न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 6.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। हवा में नमी का स्तर 81 से 97 प्रतिशत रहा।

यह भी पढ़ेंः दिल्ली से निकाली जा रही यूपी में जीत की 'राह', जाट बनाएंगे भाजपा के पक्ष में माहौल

अधिकतम तापमान 11.4 डिग्री सेल्सियस के लिहाज से जाफरपुर, जबकि न्यूनतम तापमान 5.6 डिग्री सेल्सियस की दृष्टि से नरेला राजधानी के सबसे ठंडे इलाके रहे। दिल्ली के अन्य इलाकों पालम, लोधी रोड, रिज, आयानगर, जाफरपुर, नरेला, नजफगढ़ और मयूर विहार में भी लोगों को ठिठुरन का सामना करना पड़ा। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी आरके जैनामणि ने बताया कि कोल्ड डे की स्थिति बनने के पीछे मुख्य वजह बादल छाए रहना है। सूर्य बादलों में छिप रहा है और धूप धरती तक नहीं पहुंच पा रही है। उन्होंने बताया कि बृहस्पतिवार से आसमान साफ होना शुरू होगा, तभी इस ठिठुरन भरी ठंड से कुछ राहत मिल सकेगी। अन्यथा ये ठंडक अगले कुछ दिन और परेशान करेगी।

यह भी पढ़ेंः दिल्ली-एनसीआर में शुक्रवार को निकलेगी धूप या कोहरा करेगा परेशान, जानिए दो फरवरी तक कैसा रहेगा मौसम

यह भी पढ़ेंः अमित शाह को ‘चौधरी’ बोलकर जाटों ने दिए यूपी विधानसभा चुनाव के लिए बड़े संकेत

Edited By Vinay Kumar Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept