Kisan Andolan: देखें वीडियो, राकेश टिकैत के फतेह मार्च कहां-कहां कैसे किया गया स्वागत

Kisan Andolan ये मार्च कृषि कानूनों के विरोध में दिए जा रहे धरना प्रदर्शन को खत्म करने की एवज में निकाला गया था। भाकियू राकेश टिकैत की अगुवाई में बुधवार सुबह बजे यूपी गेट पर हवन-पूजन के बाद मुजफ्फरनगर के सिसौली के लिए फतेह मार्च निकालना शुरू किया गया।

Vinay Kumar TiwariPublish: Wed, 15 Dec 2021 02:50 PM (IST)Updated: Wed, 15 Dec 2021 02:50 PM (IST)
Kisan Andolan: देखें वीडियो, राकेश टिकैत के फतेह मार्च कहां-कहां कैसे किया गया स्वागत

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारतीय किसान यूनियन की ओर से 15 दिसंबर को यूपी गेट से सिसौली तक किसान फतेह मार्च निकाला गया। ये मार्च कृषि कानूनों के विरोध में दिए जा रहे धरना प्रदर्शन को खत्म करने की एवज में निकाला गया था। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत की अगुवाई में बुधवार सुबह बजे यूपी गेट पर हवन-पूजन के बाद मुजफ्फरनगर के सिसौली के लिए फतेह मार्च निकालना शुरू किया गया।

यूपी गेट से जब फतेह मार्च सिसौली के लिए निकला तो उसका जगह-जगह स्वागत किया गया। दुहाई के पास तो फ्लाईओवर के ऊपर से टिकैत के ऊपर फूल बरसाए गए। सड़क के नीचे काफी संख्या में पटाखे भी फोड़े गए। ये मार्च मोदीनगर, मेरठ, मुजफ्फरनगर के खतौली, मंसूरपुर, सौरम चौपाल होते हुए सिसौली स्थित किसान भवन पहुंचेगा।
इस मार्च का रास्ते में जगह-जगह स्वागत किया जाएगा। यूपी गेट से बुधवार को प्रदर्शनकारियों का आखिरी जत्था रवाना हुआ। इससे पहले यहां हवन हुआ। हवन के बाद भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत की अगुवाई में मुजफ्फरनगर के सिसौली गांव के लिए फतेह मार्च निकलना शुरू किया गया। इसी के साथ ही यूपी गेट की सड़कें खाली हो गई।

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण सड़कों का निरीक्षण और मरम्मत करेगा। नगर निगम सफाई करेगा। उसके बाद सभी विभागों से समन्वय और दिल्ली पुलिस के बैरिकेड हटने के बाद रास्ता खुलेगा। रास्ता खुलने की तिथि व समय अब तक तय नहीं है। संभावना है कि आज देर शाम तक दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे की दिल्ली जाने वाली लेन खुल सकती है।

मालूम हो कि दिल्ली की सीमाओं पर किसान केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों को खत्म किए जाने की मांग को लेकर धरना देकर प्रदर्शन कर रहे थे, इस दौरान लाखों वाहन चालकों को अपना रास्ता बदलना पड़ा था। अब इनके रास्ते से हट जाने की वजह से वाहन चालकों को अपने गंतव्य तक जाने में कम समय लगेगा।

Edited By Vinay Kumar Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept