This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

रेलवे ने चलाई हाईब्रिड एक्सप्रेस नाम से विशेष मालगाड़ी, दिल्ली समेत कई राज्यों के व्यापारियों को मिलेगी राहत

IRCTC Hybrid Express Train रेल मार्ग से माल ढुलाई को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली मंडल ने संचय माला हाईब्रिड एक्सप्रेस नाम से विशेष मालगाड़ी का संचालन शुरू किया है। मंडल से इस तरह की दूसरी विशेष मालगाड़ी दक्षिण भारत के लिए रवाना की गई है।

Mangal YadavWed, 27 Oct 2021 01:33 PM (IST)
रेलवे ने चलाई हाईब्रिड एक्सप्रेस नाम से विशेष मालगाड़ी, दिल्ली समेत कई राज्यों के व्यापारियों को मिलेगी राहत

नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। IRCTC Hybrid Express Train: रेल मार्ग से माल ढुलाई को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली मंडल ने संचय माला हाईब्रिड एक्सप्रेस नाम से विशेष मालगाड़ी का संचालन शुरू किया है। मंडल से इस तरह की दूसरी विशेष मालगाड़ी दक्षिण भारत के लिए रवाना की गई है। इससे इस्पात के उत्पाद व अनाज भेजे गए हैं। उत्तर रेलवे से पहली बार मालगाड़ी के जरिए इस्पात के उत्पाद कहीं भेजे गए हैं। इस विशेष मालगाड़ी में अलग-अलग प्रकृति के सामान एक साथ भेजने की सुविधा है। इस तरह से एक मालगाड़ी में एक ही प्रकार के सामान भेजने की बाध्यता खत्म होने से छोटे व्यापारियों को दूसरी जगह सामान भेजने में आसानी होगी। परंपरागत मालगाड़ी में एक ही तरह के वैगन लगाए जाते हैं। सभी वैगन में एक ही तरह का सामान लादा जाता है।

यानी अन्नाज, कोयला, सीमेंट, सीमेंट, खाद, उपकऱण, वाहन आदि के लिए अलग-अलग मालगाड़ी चलाई जाती है, जिससे छोटे व्यापारियों को परेशानी होती थी। विशेष मालगाड़ी में विभिन्न प्रकार के वैगन (मालगाड़ी का डब्बा) लगाए जाते हैं। बारिश से खराब होने वाले सामान जैसे अन्नाज, सीमेंट आदि की ढुलाई के लिए चारो तरफ से बंद वैगन का इस्तेमाल किया जाता है।

कोयला व अन्य खनिज पदार्थ ढोने के लिए ऊपर से खुला हुआ और वाहन, बड़े उपकरण आदि के लिए तीन तरफ से खुला हुआ वैगन प्रयोग में लाया जाता है। इन तीनों प्रकार के वैगन को एक ही मालगाड़ी में लगाकर संचय माला हाईब्रिड एक्सप्रेस बनाया गया है।

इस तरह की पहली विशेष मालगाड़ी इसी माह असम भेजी गई थी। दूसरी मालगाड़ी तुगलकाबाद और शाहबाद मारकंडा से दक्षिण रेलवे के मद्रास मंडल में इस्पात के उत्पाद व अनाज भेजे गए हैं। यह मालगाड़ी 24 सौ से ज्यादा दूरी तय करेगी और इससे रेलवे को 81.50 लाख का राजस्व मिला है।

रेल कर्मियों ने ली सत्यनिष्ठा की शपथ

वहीं, उत्तर रेलवे के मुख्यालय बडौदा हाउस में सतर्कता जागरूकता सप्ताह कार्यक्रम का आयोजन किया गया। महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने रेल कर्मियों को सत्यनिष्ठा की शपथ दिलाई। कार्यक्रम में मुख्य सतर्कता आयुक्त सुरेश एन पटेल मुख्य अतिथि थे। उन्होंने कोरोना महामारी के दौरान रेलवे के योगदान की सराहना की। उन्होंने कहा कि आक्सीजन एक्सप्रेस चलाकर पूरे देश में आक्सीजन की कमी दूर की गई। इसी तरह से कई और कदम उठाकर कोरोना से लड़ाई में मदद की गई। उन्होंने रेलवे द्वारा लंबित सतर्कता मामलों को निर्धारित समय के भीतर निपटाने पर जोर दिया। पूरे सप्ताह 'अखंडता के साथ आत्मनिर्भरता' थीम पर कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

Edited By: Mangal Yadav

नई दिल्ली में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
Jagran Play

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

  • game banner
  • game banner
  • game banner
  • game banner