यूनिवर्सिटी प्रीलिम्स के लिए आठ छात्र चयनित, 500 से अधिक छात्रों ने किया था आवेदन

पर्यावरण संरक्षण गतिविधि ( पीएसजी ) द्वारा देश भर के विश्वविद्यालयों में यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। इस मौके पर उप कुलपति प्रो. नेहारिका वोहरा ने छात्रों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी प्रीलिम्स में प्रत्येक छात्र का प्रयास सराहनीय रहा है।

Prateek KumarPublish: Sat, 22 Jan 2022 01:56 PM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 01:56 PM (IST)
यूनिवर्सिटी प्रीलिम्स के लिए आठ छात्र चयनित, 500 से अधिक छात्रों ने किया था आवेदन

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। राष्ट्रीय पर्यावरण युवा संसद-2022 के लिए दिल्ली कौशल एवं उद्यमिता विश्वविद्यालय (डीएसईयू) द्वारा आयोजित ‘यूनिवर्सिटी प्रीलिम्स ’ संपन्न हो गए हैं। प्रतियोगिता में डीएसईयू के 500 से अधिक छात्रों ने आवेदन किया था, जिनमें से आठ छात्रों का चयन किया गया। ये आठ छात्र 23 जनवरी 2022 को कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के अवसर पर आयोजित होने वाली क्षेत्रीय स्तर (सेमी-फाइनल) की प्रतियोगिताओं में डीएसईयू का प्रतिनिधित्व करेंगे।

समूह चर्चा की हुई प्रशंसा

बता दें, पर्यावरण संरक्षण गतिविधि ( पीएसजी ) द्वारा देश भर के विश्वविद्यालयों में यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। इस मौके पर उप कुलपति प्रो. नेहारिका वोहरा ने छात्रों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी प्रीलिम्स में प्रत्येक छात्र का प्रयास सराहनीय रहा है। इस मौके पर नोडल अधिकारी डाक्टर अचला कौशल व डाक्टर रश्मि पंवार ने ’ समूह चर्चा’ की प्रशंसा की।

इनका मार्गदर्शन में रहा महत्वपूर्ण योगदान

जूरी सदस्य अल्पना सिंह, गौतम पांडा, डाक्टर. ज्योति कुलकर्णी, कल्प मिश्र, डाक्टर एमडी जोशी, डाक्टर ममता आर सिंह, डाक्टर रविंद्र सिंह चौहान, डाक्टर रेखा वलेचा, रिनियो नानी, डाक्टर साहिल कौल, सीमाब अहमद, स्मृति महापात्र, विनीता गुप्ता का यूनिवर्सिटी प्रीलिम्स के लिए छात्रों का मार्गदर्शन व तैयारी कराने में महत्वपूर्ण योगदान रहा।

इन्हें मिला शीर्ष तीन में स्थान

यूनिवर्सिटी प्रीलिम्स में शीर्ष तीन स्थान पर नवनीत सिंह (बी.बी.ए., द्वितीय वर्ष), अभिषेक रोहन (मास्टर्स आफ कंप्यूटर एप्लीकेशन, प्रथम वर्ष) व जीया ठुकराल (बीएससी मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलाजी, प्रथम वर्ष) रहे। शीर्ष आठ विजेताओं में इशिता गर्ग (बीए डिजिटल मीडिया एंड डिजाइन, प्रथम वर्ष), मयंक शर्मा (बीबीए, प्रथम वर्ष), कनक शर्मा (टूल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा, द्वितीय वर्ष), विधि वर्मा (बैचलर्स आफ कंप्यूटर एप्लीकेशन, प्रथम वर्ष), व सिमरा खानम (बीएससी मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलाजी, प्रथम वर्ष) शामिल हैं।

यह भी पढ़ें- स्नातक पाठ्यक्रम के मसौदे पर डीयू ने मांगे सुझाव, 30 जनवरी तक दिया वक्त

Edited By Prateek Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept