ई-कामर्स में बनाना चाहते हैं करियर तो ये है आपके काम की खबर, पढ़े एक्सपर्ट की राय और जानें प्रमुख संस्थानों की डिटेल

इस बढ़ते रुझान को देखते हुए आए दिन नयी-नयी ई-कामर्स कंपनियां भी सामने आकर बेहद प्रतिस्पर्धी दरों पर सामान उपलब्ध कराकर लोगों को लुभाने में लगी हैं। ई-कामर्स के तेजी से आगे बढ़ने से युवाओं को भी करियर का नया विकल्‍प मिल गया है।

Vinay Kumar TiwariPublish: Tue, 02 Nov 2021 03:35 PM (IST)Updated: Tue, 02 Nov 2021 04:41 PM (IST)
ई-कामर्स में बनाना चाहते हैं करियर तो ये है आपके काम की खबर, पढ़े एक्सपर्ट की राय और जानें प्रमुख संस्थानों की डिटेल

नई दिल्ली [धीरेंद्र पाठक]। देश के सबसे बड़े त्योहार दीपावली और अन्य पर्व-त्योहारों को ध्यान में रखते हुए आनलाइन शापिंग का चलन खूब बढ़ गया है। कोरोना काल में बिना कहीं गए लोगों को घर बैठे पसंद और ब्रांड की चीजें अपेक्षाकृत सस्ते में मिल जा रही हैं। इस बढ़ते रुझान को देखते हुए आए दिन नयी-नयी ई-कामर्स कंपनियां भी सामने आकर बेहद प्रतिस्पर्धी दरों पर सामान उपलब्ध कराकर लोगों को लुभाने में लगी हैं। ई-कामर्स के तेजी से आगे बढ़ने से युवाओं को भी करियर का नया विकल्‍प मिल गया है। आइए जानें आप भी कैसे खुद को कुशल बनाकर इस सेक्‍टर में अपने लिए अच्‍छे मौके तलाश सकते हैं...

आजकल शायद ही कोई हो, जो आनलाइन शापिंग के बारे में न जानता हो। आप भी अपने घरों में जरूरत की कोई न कोई चीज आनलाइन जरूर मंगाते होंगे। आपकी तरह ही देशभर में लाखों की तादाद में लोग इसी तरह से आनलाइन के जरिये कपड़े, मिठाइयां, दवाएं, ग्रोसरी, गैजेट्स जैसी चीजें मंगा रहे हैं। कोरोना संकट के बाद देश में शापिंग का यह एक नया ट्रेंड बन गया है। आपको कभी भी कुछ भी चाहिए, वह आजकल घर बैठे आनलाइन मिल जाएगा। कोरोना के बाद लोगों के खरीदारी का तरीका काफी बदल गया है। लोगों को आनलाइन शापिंग ही सस्‍ता और सुविधाजनक लगने लगा है।

इसीलिए आनलाइन शापिंग करने वालों की संख्‍या तेजी से बढ़ती जा रही है। ईवाई-आइवीसीए ट्रेंड बुक 2021 की रिपोर्ट के अनुसार, साल 2025 तक भारत में आनलाइन शॉपर्स की संख्‍या करीब 2200 लाख तक पहुंच जाएगी। जाहिर है इस नये बाजार ने उत्साही युवाओं के लिए करियर के नये द्वार भी खोल दिए हैं। यहां आप अपनी योग्‍यतानुसार डिलीवरी ब्‍वाय, कस्‍टमर सर्विस एग्‍जीक्‍यूटिव से लेकर वेयर हाउस पर्सोनेल, मार्केटिंग स्‍पेशलिस्‍ट, एसईओ कंटेंट राइटर जैसे विविध रूपों में करियर बना सकते हैं।

जाब्‍स के अनेक मौके

ई-कामर्स आज सिर्फ अमेजन और फ्लिपकार्ट तक ही सीमित नहीं है। इनदिनों सभी छोटी-बड़ी कंपनियां अपने ग्राहकों को आनलाइन शापिंग की सुविधा दे रही हैं। लोगों के आनलाइन अनुभव को और अधिक आसान बनाने के लिए तमाम नये-नये स्‍टार्टअप भी आ रहे हैं, जहां इनको अपने हर विभाग में कुशल लोगों की आवश्‍यकता है। खासतौर से कस्‍टमर सर्विस, सप्‍लाई चेन मैनेजमेंट, लाजिस्टिक्‍स, मार्केटिंग, वेब डिजाइनिंग तथा फाइनेंस से जुड़ा कोर्स करने वाले युवाओं के लिए इस फील्‍ड में बहुत मौके हैं।

इसके अलावा, दूसरी कंपनियों में भी हमेशा ऐसे प्रोफेशनल्‍स की मांग रहती है। इस सेक्टर में स्किल्ड और नान-स्किल्ड दोनों तरह के लोगों के लिए नौकरियों के मौके हैं। कुल मिलाकर, यह विविधताओं से भरा फील्‍ड है। अगर आपमें टेक्निकल या नान-टेक्निकल किसी भी फील्‍ड में काम करने की कुशलता है, तो यहां ई-कामर्स में अवसरों की कोई कमी नहीं है। आइये जानते हैं, ईकामर्स में कुछ ऐसे ही हाट जाब्स के बारे में:

एंट्री-लेवल जॉब्‍स

दूसरे तमाम फील्‍ड की तरह ही ई-कामर्स में भी अलग-अलग लेवल पर जाब्‍स के मौके उपलब्‍ध हैं, जैसे कि एंट्री लेवल पर आप डिलीवरी ब्‍वाय और कस्‍टमर सर्विस रिप्रेजेंटेटिव/एग्‍जीक्‍यूटिव के रूप में अपने करियर की शुरुआत कर सकते हैं। अगर आप टेक्निकल फील्‍ड से नहीं हैं, तो शुरुआत में ई-कामर्स में भी इन्‍हीं पदों पर जाब मिल सकती है। डिलीवरी ब्‍वाय जहां आनलाइन आर्डर को ग्राहक तक पहुंचाने का काम करते हैं, वहीं कस्‍टमर एग्‍जीक्‍यूटिव जिसे ग्राहक सेवा प्रतिनिधि भी कहते हैं, ईकामर्स कंपनियों में फ्रंटलाइन के कर्मचारी होते हैं, जो आर्डर संभालते हैं और ग्राहकों के प्रश्‍नों का उत्तर देते हैं।

ये फोन पर आने वाली सेल्‍स काल को भी देखते हैं। इसी तरह से वेयरहाउस पर्सोनेल एंट्री लेवल का ही पद है, जो कंपनी के लाजिस्टिक्‍स का काम देखते हैं और यह सुनिश्चित करते हैं कि आर्डर की चीजें पैक होकर समय पर गोदाम से निकल जाएं। यही लोग स्टाक मेंटेन भी करते हैं। मार्केटिंग स्‍पेशलिस्‍ट, एसईओ कंटेंट राइटर, एडमिनिस्‍ट्रेटिव असिस्‍टेंट और रिटेंशन स्‍पेशलिस्‍ट जैसे पद भी एंट्री लेवल के पद हैं, जो आनलाइन मार्केटिंग, ब्रांडिंग से लेकर तमाम तरह के अन्‍य कागजी कार्य देखते हैं।

एक्‍सपीरिएंस्‍ड लेवल जॉब्‍स

ई-कामर्स सेक्‍टर की एक अच्‍छी खूबी यह है कि यहां एंट्री लेवल के अलावा, अनुभवी लोगों के लिए भी जाब्‍स के तमाम मौके हैं। जैसे यहां ग्राहकों के यूजर एक्‍सपीरिएंस को और बेहतर बनाने के लिए यूजर एक्‍सपीरिएंस डिजाइनर, ग्राफिक डिजाइनर, डेवलपर, आइटी टेक्निशियन या बिजनेस एनालिस्‍ट जैसे टेक्‍निकल प्रोफेशनल की काफी आवश्‍यकता होती है। ई-कामर्स कंपनियों के अलावा ग्राहकों को आनलाइन सुविधा देने वाली सभी कंपनियों में भी अपनी वेबसाइट और एप्‍स को यूजर फ्रेंडली बनाने के लिए ऐसे कुशल लोगों की हर समय जरूरत देखी जा रही है। आप भी टेक्निकल स्किल बढ़ाकर इसमें करियर बना सकते हैं।

मैनेजमेंट लेवल जाब्‍स

अन्‍य तमाम कारपोरेट कंपनियों की तरह ई-कामर्स कंपनियों में भी प्रबंधन स्‍तर के बहुत से पद होते हैं। इनमें मुख्‍य रूप से सप्‍लाई चेन मैनेजर, डिजिटल आपरेशन मैनेजर, डिजिटल मार्केटिंग मैनेजर, कस्‍टमर सैटिस्‍फैक्‍शन मैनेजर, फाइनेंशियल मैनेजर जैसे पद शामिल हैं, जो ई-कामर्स कंपनी के विभिन्‍न विभागों के प्रबंधन का कार्य देखते हैं। इनमें से किसी भी फील्‍ड में अपनी कुशलता बढ़ाकर आप भी मैनेजर के रूप में एक अच्‍छा करियर बना सकते हैं।

कोर्स एवं योग्‍यताएं

इस समय देश के बहुत से विश्‍वविद्यालयों, कालेजों और संस्‍थानों में ई-कामर्स के सर्टिफिकेट, डिप्लोमा,डिग्री और पोस्ट ग्रेजुएशन जैसे कोर्स आफर किये जा रहे हैं। यदि आप तेजी से बढ़ते ई-कामर्स सेक्‍टर में बेहतर करियर बनाना चाहते हैं तो अपनी सुविधा और उपयुक्तता के अनुसार कोई भी ई-कामर्स कोर्स करके इस फील्‍ड में आ सकते हैं। खास बात यह है कि किसी भी संकाय के स्‍टूडेंट ये कोर्स कर सकते हैं।

सैलरी पैकेज

देशभर में ज्‍यादातर लोगों द्वारा आनलाइन शापिंग किये जाने से इनदिनों ई-कामर्स के हर विभाग में अच्‍छी-खासी वैकेंसी देखी जा रही है। साथ ही अच्‍छे सैलरी पैकेज भी आफर किये जा रहे हैं। एंट्री लेवल पर आप अपनी स्किल और सक्षमता के आधार पर किसी भी विभाग में शुरुआत में 20 से 30 हजार रुपये तक सैलरी आराम से पा सकते हैं। अनुभवी प्रोफेशनल्‍स इस सेक्‍टर में हर महीने लाख रुपये से अधिक सैलरी पा रहे हैं।

प्रमुख संस्‍थान

गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्‍थ यूनिवर्सिटी, दिल्‍ली

www.ipu.ac.in

एमिटी बिजनेस स्‍कूल, नोएडा

www.amity.edu

अन्‍ना यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्‍नोलॉजी, कोयंबटूर, तमिलनाडु

www.annauniv.edu

डा. बाबा साहेब आंबेडकर मराठवाड़ा यूनिवर्सिटी, महाराष्‍ट्र

www.bamu.ac.in

एक्‍सपर्ट बाइट

नई पीढ़ी के लिए अपार संभावनाएं

कोरोना महामारी के दौरान लाकडाउन और सरकार का डिजिटलीकरण की दिशा में की गई पहल ई-कामर्स के लिए वरदान साबित हुआ है। 2020 की अंतिम तिमाही में इस क्षेत्र ने 36 फीसद की वृद्धि दर्ज की। इलेक्ट्रॉनिक्स श्रेणी में ई-कामर्स की सालाना 27 फीसद की वृद्धि देखी जा रही है। ऐसे में इसमें कोई दोराय नहीं कि तेजी से बढ़ता ई-कामर्स डिजिटल उद्यमियों की नई पीढ़ी को बहुत सारे अवसर प्रदान कर रहा है। यह बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर पैदा करने के अलावा,नई पीढ़ी के उद्यमियों को सक्षम बनाने, युवाओं को कौशल प्रदान करने और महिलाओं को सशक्‍त बनाने में भी मदद कर रहा है।

इस सेक्‍टर ने कई उद्यमियों को घर से व्यापार करने का विकल्प दिया है,वह भी बिना स्टोर या ऑफिस स्पेस किराए पर लिए बगैर। कुल मिलाकर,भारतीय ई-कामर्स उद्योग ऊपर की ओर विकास पथ पर है और 2034 तक अमेरिका को पीछे छोड़ते हुए इसे दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा ई-कामर्स बाजार बनने की उम्मीद की जा रही है। जाहिर है इससे आने वाले वर्षों में इस फील्‍ड में और अधिक रोजगार के मौके सामने आएंगे।

सेतनिक रॉय, को-फाउंडर, हाइपरएक्‍सचेंज

Edited By Vinay Kumar Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept