अंगीठी के धुंए में दम घुटने से हुई थीं महिला व उसके चार बच्चों की मौत, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा

सीमापुरी इलाके में महिला व उसके चार मासूम बच्चों की मौत के रहस्य से पर्दा उठ गया है। पांचों की मौत अंगीठी के धुएं के कारण दम घुटने से हुई थी। बृहस्पतिवार को मेडिकल बोर्ड द्वारा किए गए पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में दम घुटने से मौत की पुष्टि हुई है।

Pradeep ChauhanPublish: Fri, 21 Jan 2022 07:01 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 07:01 PM (IST)
अंगीठी के धुंए में दम घुटने से हुई थीं महिला व उसके चार बच्चों की मौत, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा

नई दिल्ली [शुजाउद्दीन]। सीमापुरी इलाके में महिला व उसके चार मासूम बच्चों की मौत के रहस्य से पर्दा उठ गया है। पांचों की मौत अंगीठी के धुएं के कारण दम घुटने से हुई थी। बृहस्पतिवार को मेडिकल बोर्ड द्वारा किए गए पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में दम घुटने से मौत की पुष्टि हुई है। पुलिस को अभी विसरा रिपोर्ट का इंतजार है, जिससे पता चलेगा उन्हें जहर तो नहीं दिया गया था।

गत मंगलवार रात परिवार दरवाजा बंद कर कमरे में अंगीठी जलाकर सो रहा था। अगले दिन बुधवार दोपहर राधा व उनके बच्चे कोमल, नितिन, रोशिनी व आरव मृत मिले थे। महिला का पति मोहित कालिया भी परिवार के साथ कमरे में सो रहा था, लेकिन वह जीवित बच गया। शुरुआत में आशंका जाहिर की जा रही थी कि उसने परिवार की हत्या की है। दो दिन तक हिरासत में रखने के बाद पुलिस ने मोहित को छोड़ दिया है। पुलिस ने इस मामले में लापरवाही से मौत का केस दर्ज किया है।

जानकारी के अनुसार मोहित अपने परिवार के साथ सीमापुरी जे-ब्लाक में किराये पर रहता है। गत सोमवार को ही उसने नया घर किराये पर लिया था। वह आनंद विहार में निजी ट्रांसपोर्टर की बस में हेल्पर की नौकरी करता है। सर्दी के कारण मंगलवार रात को मोहित व उसका परिवार कमरे में अंगीठी जलाकर सो रहा था, दरवाजा अंदर से बंद किया हुआ था। कमरे के अंदर से धुआं बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं था, सोने से पहले मोहित ने शराब पी थी। बुधवार दाेपहर को जब वह सोकर उठा तो उसकी पत्नी व बच्चे कमरे में मृत पड़े थे।

  • पाेस्टमार्टम रिपोर्ट आ चुकी है, उसमें दम घुटने से मौत की बात सामने आई है। पुलिस केस दर्ज कर मामले की जांच में जुटी हुई है। आर सत्यसुंदरम, जिला पुलिस उपायुक्त शाहदरा।

इन्फोग्राफिक्स के लिए अंगीठी या हीटर जलाकर न सोएं

  • अंगीठी या हीटर का इस्तेमाल करते वक्त कमरे को पूरी तरह बंद नहीं करना चाहिए। गर्मी बढ़ने के साथ ही धीरे-धीरे कमरे में आक्सीजन खत्म हो जाती है और कार्बन मोनोआक्साइड अधिक हो जाती है। इससे इंसान की मौत हो सकती है।
  •  किसी कमरे में एक से अधिक लोग हों तो ज्यादा समय तक हीटर या अंगीठी का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • अंगीठी व हीटर जलाने से कमरे में आग लगने का खतरा भी रहता है
  • अंगीठी व हीटर का इस्तेमाल करने पर उसके पास कपड़े, केमिकल व प्लास्टिक का सामान न रखें।
  • अंगीठी पर अगर कोई खाना बनाता है तो सोने से पहले उसे ठीक तरह से बुझा देना चाहिए।
  • सांस व किडनी के मरीज अंगीठी का इस्तेमाल बिल्कुल न करें।

(स्वामी दयानंद अस्पताल के सीएमओ डा. ग्लैडबिन त्यागी से बातचीत पर आधारित)

क्रोनोलोजी

  • जनवरी 2020 : फरीदाबाद में अंगीठी के धुएं से दम घुटने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत
  • दिसंबर 2020 : दिल्ली के अमन विहार इलाके में अंगीठी जलाकर सोए दो लोगों की मौत
  • दिसंबर 2020 : दक्षिण पश्चिमी दिल्ली में अंगीठी जलाकर सोए दंपती की दम घुटने से मौत
  • दिसंबर 2018 : राजौरी गार्डन में घर में अंगीठी जलाकर सोए दो लोगों की दम घुटने से मौत

Edited By Pradeep Chauhan

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept