कोरोना संक्रमण की चपेट में आए दिल्ली के समाज कल्याण मंत्री, होम आइसोलेट

दिल्ली के समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम कोरोना संक्रमित हो गए हैं। उन्हें फिलहाल होम आइसोलेशन में रखा गया है। उन्होंने अपने संपर्क में आए सभी लोगों से कोरोना जांच कराने का अनुरोध किया है। गौतम ने मंगलवार को टवीट किया।

Pradeep ChauhanPublish: Tue, 18 Jan 2022 03:51 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 03:51 PM (IST)
कोरोना संक्रमण की चपेट में आए दिल्ली के समाज कल्याण मंत्री, होम आइसोलेट

नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। दिल्ली के समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम कोरोना संक्रमित हो गए हैं। उन्हें फिलहाल होम आइसोलेशन में रखा गया है। उन्होंने अपने संपर्क में आए सभी लोगों से कोरोना जांच कराने का अनुरोध किया है। गौतम ने मंगलवार को टवीट किया, “मैं पिछले चार दिनों से हल्के बुखार और खांसी के कारण होम आइसोलेशन में हूं। मैंने सोमवार को अपना कोविड परीक्षण करवाया जिसकी रिपोर्ट पाजीटिव आई। हालांकि अभी मैं वह अब बेहतर महसूस कर रहा हूं।” 

इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और भाजपा नेता मनोज तिवारी भी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। हालांकि पिछले पांच दिन से कोरोना संक्रमितों की संख्या में कमी आई है। दरअसल, राजधानी में कोरोना की जांच कम होने के साथ ही मामलों में भी लगातार कमी आ रही है।

सोमवार को कोरोना के 12 हजार 527 नए मामले सामने आए, जो रविवार को आए मामलों से 5762 कम हैं। हालांकि, 24 घंटे में 44 हजार 762 सैंपल की जांच हुई, जो पिछले दिनों हुई जांच से 20 हजार 859 कम है। जांच कम होने का एक कारण रविवार का दिन होना भी रहा। छुट्टी का दिन होने की वजह से अक्सर रविवार को जांच का आंकड़ा कम ही रहता है। वहीं, संक्रमण दर मामूली रूप से बढ़कर 27.99 प्रतिशत हो गई। दो दिन पहले संक्रमण दर 27.87 प्रतिशत थी।

बीते 24 घंटे में कोरोना के 18,340 मरीज ठीक हुए हैं और 24 मरीजों की मौत हो गई। इससे इस माह 17 दिनों में कोरोना से मरने वालों की संख्या 280 पहुंच गई है। दिल्ली में पांच दिसंबर को ओमिक्रोन का पहला मामला सामने आने के बाद से अब तक कोरोना के कुल दो लाख 81 हजार से ज्यादा मामले आ चुके हैं। 70 प्रतिशत से ज्यादा मरीज ठीक भी हो चुके हैं। इसका कारण संक्रमण का हल्का होना है। सोमवार को भी 1975 नए कंटेनमेंट जोन बनाए गए। इससे कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़कर 34 हजार 958 हो गई है।

Edited By Pradeep Chauhan

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept