दिल्ली के 13 लाख से अधिक वाहन चालक जल्द करवा लें यह काम, पकड़े जाने पर कटेगा 10,000 का चालान

Delhi Challan News बगैर पीयूसी प्रमाणपत्र का चालान 10 हजार रुपये का है। आंकड़ों पर नजर डालें तो 18 जनवरी तक की रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में इस समय कुल 1374797 वाहन बगैर पीयूसी प्रमाणपत्र वाले हैं।

Jp YadavPublish: Fri, 21 Jan 2022 12:39 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 02:27 PM (IST)
दिल्ली के 13 लाख से अधिक वाहन चालक जल्द करवा लें यह काम, पकड़े जाने पर कटेगा 10,000 का चालान

नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। दिल्ली में बगैर प्रदूषण नियंत्रण (पीयूसी) प्रमाणपत्र के वाहन चलाने वालों की संख्या फिर बढ़ गई है। इस समय दिल्ली में 13 लाख से अधिक वाहन बगैर पीयूसी प्रमाणपत्र वाले चल रहे हैं। इनमें करीब 10 लाख दोपहिया ही शामिल हैं। इन लोगों को शायद इस बात का ध्यान नहीं है कि बगैर पीयूसी प्रमाणपत्र का चालान 10 हजार रुपये का है। आंकड़ों पर नजर डालें तो 18 जनवरी तक की रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में इस समय कुल 13,74,797 वाहन बगैर पीयूसी प्रमाणपत्र वाले हैं। इसमें 10,19,388 दो पहिया व बगैर पीयूसीसी वाली 2,93,759 कार व 12,333 कैब शामिल हैं। जनवरी में अभी तक यानी 17 जनवरी तक कुल 2,88,663 पीयूसी प्रमाणपत्र बने हैं। हालांकि विभाग की कार्रवाई जारी है और जनवरी में अभी तक 1,849 चालान काटे गए हैं।

वैसे यह साल ऐसा गया है जब पिछले साल की अपेक्षा बगैर पीयूसी वालों के खिलाफ बहुत अधिक कार्रवाई है।पिछले साल जनवरी में 4,90,958 पीयूसी बने और कुल चालान 998 काटे गए। वहीं अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर में चालान की कार्रवाई तेज की गई। अक्टूबर में तो 10 हजार के करीब चालान काटे गए। विभाग की सख्ती का असर यह रहा कि सितंबर में 5,44,186, अक्टूबर में 8,05,249, नवंबर में 8,19,474 और दिसंबर में 7,96,963 पीयूसी प्रमाणपत्र बनवाए गए।

दिल्ली विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी कहते हैं कि दिल्ली में प्रदूषण भी एक बड़ी समस्या है।इसे देखते हुए बगैर पीयूसी वाले वाहनों पर सख्ती की जाती है।लोगों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वे इस मामले में लापरवाही न करें। 

Edited By Jp Yadav

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम