दिल्ली में जल्द रफ्तार भरेंगीं 1500 इलेक्ट्रिक बसें, मंत्री कैलाश गहलोत ने ट्वीट कर दी जानकारी

सीईएसएल ने इलेक्ट्रिक बसों के लिए अब तक का सबसे बड़ा टेंडर निकाला है। ग्रैंड चैलेंज योजना के तहत 5450 सिंगल डेकर इलेक्ट्रिक बसों को उपलब्ध कराया जाएगा साथ ही 130 डबल डेकर इलेक्ट्रिक बसें होंगी। ये बसें दिल्ली सहित पांच शहरों के लिए उपलब्ध होंगी।

V K ShuklaPublish: Fri, 21 Jan 2022 08:39 AM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 08:39 AM (IST)
दिल्ली में जल्द रफ्तार भरेंगीं 1500 इलेक्ट्रिक बसें, मंत्री कैलाश गहलोत ने ट्वीट कर दी जानकारी

नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने बृहस्पतिवार को ट्वीट कर कहा कि दिल्ली में जल्द 1500 इलेक्टि्रक बसें दौड़ेंगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली सरकार इलेक्टि्रक बसें लाने के लिए प्रतिबद्ध है। कैलाश  गहलोत ने कहा कि मुझे आज यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि दिल्ली ने ग्रैंड चैलेंज के तहत 1500 बसों का अनुरोध किया है और जहां आवश्यक हो वहां राज्य सब्सिडी देने के लिए तैयार है।  उन्होंने कहा कि हम आक्रामक रूप से इलेक्ट्रिक मोबिलिटी को आगे बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं सीईएसएल के प्रयास की सराहना करता हूं। उनका यह ट्वीट एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी कन्वर्जेंस एनर्जी सर्विसेज लिमिटेड (सीईएसएल) द्वारा इलेक्ट्रिक बसें खरीदने के लिए बड़े स्तर पर टेंडर निकालने के संदर्भ में आया।

सीईएसएल ने इलेक्ट्रिक बसों के लिए अब तक का सबसे बड़ा टेंडर निकाला है।  ग्रैंड चैलेंज योजना के तहत 5450 सिंगल डेकर इलेक्ट्रिक बसों को उपलब्ध कराया जाएगा साथ ही 130 डबल डेकर इलेक्ट्रिक बसें होंगी। ये बसें दिल्ली सहित पांच शहरों के लिए उपलब्ध होंगी।

बता दें कि मंगलवार को ही दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग ने क्लस्टर बस डिपो में चार्जिंग स्टेशन और बैटरी स्वैपिंग लगाने के लिए सीईएसएल के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए थे।  एक अन्य एमओयू में दिल्ली में इलेक्ट्रिक वाहनों की चुनिंदा श्रेणियों के इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद पर ऋण में पांच प्रतिशत ब्याज छूट प्रदान करने के लिए हस्ताक्षर किए गए थे।  

Edited By: JP Yadav

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept