ICC का सख्त फैसला, जिंबाब्वे के पूर्व कप्तान ब्रेंडन पर लगाया साढ़े 3 साल का प्रतिबंध

Brendan Taylor banned by ICC for three and half years जिंबाब्वे के पूर्व कप्तान ब्रेंडन टेलर पर 2019 में भारतीय व्यवसायी द्वारा स्पाट फिक्सिंग की पेशकश की रिपोर्ट समय पर नहीं करने के लिए शुक्रवार को साढ़े तीन साल का प्रतिबंध लगाया।

Viplove KumarPublish: Fri, 28 Jan 2022 10:40 PM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 07:40 AM (IST)
ICC का सख्त फैसला, जिंबाब्वे के पूर्व कप्तान ब्रेंडन पर लगाया साढ़े 3 साल का प्रतिबंध

दुबई, पीटीआइ। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) ने जिंबाब्वे के पूर्व कप्तान ब्रेंडन टेलर पर 2019 में भारतीय व्यवसायी द्वारा स्पाट फिक्सिंग की पेशकश की रिपोर्ट समय पर नहीं करने के लिए शुक्रवार को साढ़े तीन साल का प्रतिबंध लगाया। आइसीसी ने साथ ही टेलर को इसी प्रकरण के दौरान कोकीन लेने के कारण डोप परीक्षण में विफल रहने के लिए एक महीने के लिए निलंबित किया है।

वैश्विक संस्था ने कहा कि टेलर ने स्वीकार किया है कि उन्होंने आइसीसी की भ्रष्टाचार रोधी संहिता के चार प्रविधानों (अनुच्छेद 2.4.2, 2.4.3, 2.4.4 और 2.4.7) का उल्लंघन किया। आइसीसी ने कहा, 'जिंबाब्वे के पूर्व कप्तान ब्रेंडन टेलर को आइसीसी भ्रष्टाचार रोधी संहिता के प्रविधानों का उल्लंघन करने के चार आरोपों और आइसीसी डोपिंग रोधी संहिता के एक आरोप को स्वीकार करने के बाद साढ़े तीन साल के लिए सभी तरह की क्रिकेट से प्रतिबंधित कर दिया गया है।'

टेलर ने 24 जनवरी को रहस्योद्घाटन किया था कि एक भारतीय व्यवसायी के साथ बैठक के दौरान मूर्खतापूर्वक कोकीन लेने के बाद उन्हें ब्लैकमेल किया गया था। टेलर ने कहा था कि उन्हें भारतीय व्यवसायी द्वारा 2019 में भ्रष्ट पेशकश की रिपोर्ट समय पर नहीं करने के कारण कई साल का प्रतिबंध झेलना पड़ सकता है।

टेलर ने दावा किया था कि भारतीय व्यवसायी ने उन्हें भारत में प्रायोजक दिलाने और जिंबाब्वे में एक टी-20 टूर्नामेंट की संभावित योजना पर चर्चा करने के लिए आमंत्रित किया था। उन्होंने व्यवासायी के नाम बताए बिना कहा था कि उन्हें अक्टूबर, 2019 में 15,000 डालर (करीब 11 लाख रुपये) की पेशकश की गई थी।पिछले साल संन्यास लेने वाले 35 वर्षीय टेलर ने 205 वनडे, 34 टेस्ट और 45 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले। उन्हें बेंजोलेकोगनाइन के सेवन का दोषी पाया गया था जिसकी वजह कोकीन का सेवन होता है।

आइसीसी संहिता में इसे प्रतिबंधित पदाथरें के तहत रखा गया है। टेलर का आठ सितंबर 2021 को जिंबाब्वे और आयरलैंड के बीच मैच में प्रतियोगिता के दौरान परीक्षण किया गया था।

आइसीसी ने कहा, 'आइसीसी भ्रष्टाचार रोधी संहिता के तहत साढ़े तीन साल के प्रतिबंध के साथ ही एक महीने का निलंबन चलेगा। टेलर 28 जुलाई 2025 के बाद खेल से जुड़ी गतिविधियों में शामिल होने के लिए स्वतंत्र होंगे। टेलर का डोपिंग के लिए निलंबन एक महीने तक इसलिए घटाया गया क्योंकि वह यह साबित करने में सफल रहे कि उन्होंने प्रतियोगिता से इतर इस पदार्थ का सेवन किया था और इसका खेल में प्रदर्शन से कोई संबंध नहीं था तथा वह अभी रिहैबिलिटेशन कार्यक्रम से गुजर रहे हैं।'

आइसीसी ने कहा कि यह फैसला अंतिम है। वैश्विक संस्था ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि टेलर ने भ्रष्ट पेशकश के बारे में आइसीसी भ्रष्टाचार रोधी इकाई को 31 मार्च 2020 को जानकारी दी थी जबकि यह घटना उससे पिछले साल नवंबर में घटी थी।

 

Edited By Viplove Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept