श्रीलंकाई खिलाड़ी ने बस 23 मैच खेलने के बाद किया रिटायरमेंट का ऐलान, बताया ये कारण

श्रीलंका की टीम के धाकड़ ओपनर भानुका राजपक्षे ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। पारिवारिक दायित्व निभाने का कारण बताते हुए उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट लेने की घोषणा कर दी है। उनको श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने बैन किया हुआ था।

Vikash GaurPublish: Wed, 05 Jan 2022 02:53 PM (IST)Updated: Wed, 05 Jan 2022 02:53 PM (IST)
श्रीलंकाई खिलाड़ी ने बस 23 मैच खेलने के बाद किया रिटायरमेंट का ऐलान, बताया ये कारण

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। श्रीलंका की टीम के दमदार ओपनर भानुका राजपक्षे ने बुधवार 5 जनवरी को रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया। भानुका राजपक्षे ने अपना इस्तीफा श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) को सौंप दिया और तत्काल प्रभाव से संन्यास की घोषणा कर दी। एसएलसी को सौंपे गए पत्र में 30 वर्षीय भानुका राजपक्षे ने ये भी बताया है कि वे क्यों रिटायरमेंट ले रहे हैं। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने उनको एक साल के लिए बैन किया हुआ है।

इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट लेने का कारण भानुका राजपक्षे ने पारिवारिक दायित्वों को समय देना बताया है। अपने इस्तीफे में उन्होंने लिखा है, "मैंने एक खिलाड़ी और एक पति के रूप में अपनी स्थिति पर बहुत सावधानी से विचार किया है और पितृत्व और संबंधित पारिवारिक दायित्वों को देखते हुए यह निर्णय ले रहा हूं।" भानुका पर पिछले साल सितंबर में श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने एक साल का बैन और 5 हजार यूएस डालर का जुर्माना लगाया था।

भानुका राजपक्षे ने 5 एकदिवसीय और 18 टी20 इंटरनेशनल मैचों में श्रीलंका की टीम का प्रतिनिधित्व किया है। उन्होंने साल 2019 में टी20 क्रिकेट से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था और 2021 में उनको एकदिवसीय क्रिकेट खेलने का मौका मिला था। हालांकि, महज 23 इंटरनेशनल मैचों के बाद उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया। वनडे क्रिकेट में भानुका राजपक्षे ने 89 रन और टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में 320 रन बनाए थे।

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने जब भानुका राजपक्षे पर प्रतिबंध लगाया था तो उस समय बयान जारी कर बोर्ड ने कहा था, "जांच में राजपक्षे को खिलाड़ियों के 2019-2020 अनुबंध के उल्लंघन का दोषी पाया गया, जिसके बाद उन पर सभी प्रारूप से एक साल का प्रतिबंध लगाया गया है और उन्हें दो साल के लिए निलंबित कर दिया गया है। उन पर 5000 डॉलर का जुर्माना भी लगाया गया।"

Edited By Vikash Gaur

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept