AUS vs SL: आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका के नागरिकों के चेहरों पर क्रिकेट ने लाई खुशी

AUS vs SL आस्ट्रेलिया के खिलाफ 30 साल बाद सीरीज में मिली जीत के बाद श्रीलंका के कप्तान दसुन शनाका ने कहा है कि इस जीत को पूरे देश में सेलिब्रेट करना चाहिए। आपको बता दें कि आस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन दशक के बाद श्रीलंका ने सीरीज जीती है।

Sameer ThakurPublish: Wed, 22 Jun 2022 03:09 PM (IST)Updated: Wed, 22 Jun 2022 03:09 PM (IST)
AUS vs SL: आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका के नागरिकों के चेहरों पर क्रिकेट ने लाई खुशी

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। इन दिनों श्रीलंका लगातार आर्थिक संकट से जूझ रहा है। वहां के लोग भोजन ईंधन सहित बाकी चीजों की कमी का सामना कर रहे हैं ऐसे में आस्ट्रेलिया के कारण न केवल वहां के लोगों के चेहरे पर मुस्कान आई है बल्कि बाकी समस्या को भी कम करने में मदद मिली है।

एक तरफ क्रिकेट में आस्ट्रेलिया के खिलाफ श्रीलंका को 30 साल बाद सीरीज में जीत मिली है दूसरी तरफ आस्ट्रेलियाई सरकार ने आर्थिक समस्या से जूझ रहे श्रीलंका के लिए 50 मिलियन अमेरिकी डालर की मदद करने का एलान किया है। इससे तत्काल भोजन और स्वास्थ्य देखभाल की जरूरतों को पूरा किया जाएगा।

पहले बात कर लेते हैं श्रीलंका के दर्शकों के चेहरों पर मुस्कान लाने की तो प्रेमदासा स्टेडियम में आस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच चल रहे वनडे सीरीज के चौथे मैच में वो हुआ जिसने वहां के उदास चेहरों पर खुशियां बिखेर दी।

चौथे मैच में श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए आस्ट्रेलिया के सामने 259 रनों का लक्ष्य रखा लेकिन आस्ट्रेलिया की पूरी टीम केवल 254 रन बनाकर आल आउट हो गई है और श्रीलंका ने यह मैच 4 रन से जीत लिया है।

इस जीत के साथ ही श्रीलंका ने 30 साल बाद अपनी जमीन पर आस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज जीती है। इस जीत ने न केवल श्रीलंका के क्रिकेट फैंस बल्कि पूरे श्रीलंका में खुशी की लहर है।

श्रीलंका के कप्तान दसुन शनाका का भी यही मानना है। उन्होंने जीत के बाद कहा कि "यह केवल मेरे, मेरे साथी खिलाड़ी या फिर श्रीलंका क्रिकेट की नहीं बल्कि पूरे देश के लिए एक जरूरी पल है जिसकी जरुरत थी। मुझे लगाता कि यह जीत पूरे देश को सेलिब्रेट करनी चाहिए।"

Edited By Sameer Thakur

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept