Air India के यात्रियों के लिए बड़ी खबर, हवाई सफर में इन वजहों से आएगा और मजा-टाटा ने संभाला प्रबंधन

टाटा समूह ने कई अन्य बदलावों की भी योजना बनाई है। विमान में बैठने की व्यवस्था और केबिन क्रू की ड्रेस में भी बदलाव होगा। सूत्रों ने कहा कि टाटा होटल व्यवसाय में अग्रणी कंपनी है और वह एयरलाइन में भोजन की गुणवत्ता में सुधार को सर्वोच्च प्राथमिकता देगी।

Ashish DeepPublish: Thu, 27 Jan 2022 03:46 PM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 08:02 AM (IST)
Air India के यात्रियों के लिए बड़ी खबर, हवाई सफर में इन वजहों से आएगा और मजा-टाटा ने संभाला प्रबंधन

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। टाटा समूह Air India के ऑन-टाइम-परफॉर्मेंस में सुधार पर ध्यान केंद्रित करेगा। समूह ने गुरुवार को एयर इंडिया का अधिग्रहण किया है। समूह ने कहा कि उसने आज से एयर इंडिया का प्रबंधन और नियंत्रण संभाला है। समूह ने कहा कि वह एयर इंडिया में बड़े बदलाव करेगी। सूत्रों ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि यह सुनिश्चित करने के लिए अधिकतम जोर दिया जाएगा कि एयर इंडिया के सभी विमान समय पर उड़ान भरें।

विमान में बैठने की व्‍यवस्‍था बदलेगी एयरलाइन

टाटा समूह ने कई अन्य बदलावों की भी योजना बनाई है। विमान में बैठने की व्यवस्था और केबिन क्रू की ड्रेस में भी बदलाव होगा। सूत्रों ने कहा कि टाटा होटल व्यवसाय में अग्रणी कंपनी है और वह एयरलाइन में भोजन की गुणवत्ता में सुधार को सर्वोच्च प्राथमिकता देगी। एयर इंडिया के एक अधिकारी के मुताबिक, रतन टाटा का रिकॉर्डेड मैसेज एयर इंडिया के सभी विमानों में ऑनबोर्ड चलाया जाएगा।

18000 करोड़ रुपये में किया है एयर इंडिया का अधिग्रहण

टाटा संस ने 18,000 करोड़ रुपये में एयरलाइन के अधिग्रहण के लिए बोली जीती है। टाटा संस की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी टैलेस प्राइवेट लिमिटेड ने एयर इंडिया के लिए बोली लगाई थी। टाटा संस के अलावा स्पाइसजेट के प्रमोटर अजय सिंह के नेतृत्व वाले कंसोर्टियम ने 15,100 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी। टाटा संस की बोली जीतने के बाद समूह के अध्यक्ष एन चंद्रशेखरन ने इसे ऐतिहासिक क्षण करार दिया और कहा कि समूह का प्रयास इसे एक विश्व स्तरीय एयरलाइन बनाने का होगा जो हर भारतीय को गौरवान्वित करे।

SBI कंसोर्टियम और लोन देने को तैयार

यही नहीं सूत्रों ने बताया है कि एसबीआई के नेतृत्व वाला कंसोर्टियम एयर इंडिया की आवश्यकताओं के अनुसार निश्चित अवधि और कार्यशील पूंजी कर्ज दोनों देने पर सहमत हो गया है। सूत्रों के अनुसार पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया सहित सभी बड़े ऋणदाता कंसोर्टियम का हिस्सा हैं।

Edited By Ashish Deep

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम