This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

क्रेडिट कार्ड यूजर ध्यान दें, आप ऐसे बचा सकते हैं अपना काफी सारा पैसा

क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल से जुड़ी मामूली बातें भी अक्सर यूजर को नहीं मालूम होती हैं, हालांकि इन्हें जानना जरूरी है

Surbhi JainSun, 19 Aug 2018 06:11 PM (IST)
क्रेडिट कार्ड यूजर ध्यान दें, आप ऐसे बचा सकते हैं अपना काफी सारा पैसा

नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। आमतौर पर ऐसा देखा जाता है कि हमारी सैलरी हमारे परिवार के खर्चो के लिहाज से नाकाफी होती है। ऐसे में हमें अपनी सैलरी के  इतर कमाई के विकल्प ढूंढ़ने पड़ जाते हैं या फिर हम दोस्तों एवं बैंक से लोन लेने की आदत डाल लेते हैं। उधार लेना तो कम समय के लिए ठीक है लेकिन, अगर लंबे समय के लिए कर्ज चाहिए होता है तो लोन एक विकल्प के रूप में नजर आता है।

हालांकि इसके अलावा एक और रास्ता है वो है क्रेडिट कार्ड। बैंक हमारी आय के हिसाब से क्रेडिट कार्ड देते हैं। क्रेडिट कार्ड पर मिले रुपये खर्च करने के बाद हमें समय-समय पर उसके बिल का भुगतान करना होता है। अगर आपने बिल सही वक्त पर भर दिया है तो आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा रहता है और आपको बैंक से लोन लेने में या अन्य क्रेडिट कार्ड लेने में दिक्कत नहीं होती है।

जानिए क्या है क्रेडिट स्कोर?

क्रेडिट स्कोर तीन अंको वाला एक नंबर होता है जिससे पता चलता है कि आपने पहले कितना लोन ले रखा है और उसका भुगतान समय पर किया है या नहीं। बैंक कोई भी कर्ज देने से पहले आपका क्रेडिट स्कोर चेक करते हैं। आपको क्रेडिट कार्ड देने के पहले भी क्रेडिट स्कोर चेक किया जाता है। अगर आपने नियमित कर्ज चुकाया है तो आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा रहता है। जितना अच्छा क्रेडिट स्कोर होता है, उतनी ही आसानी से कर्ज मिलता है। क्रेडिट स्कोर को 24 महीने की क्रेडिट हिस्ट्री के हिसाब से तैयार किया जाता है।

अगर आपने क्रेडिट कार्ड बिल और ईएमआई का भुगतान सही समय पर किया है और अपनी क्रेडिट सीमा का 40 फीसद खर्च किया है तो यह हाई क्रेडिट स्कोर बनाने में मदद करेगा।

लेकिन, अगर भुगतान पर चूक हुई है या नियमित रूप से आपकी क्रेडिट सीमा का 50% से 60% तक खर्च हुआ है तो इससे आपका स्कोर नीचे आ जाएगा। जिससे आपको लोन लेने में परेशानी होगी। हम आपको बता रहे हैं कि कैसे हाई क्रेडिट स्कोर आपको लोन मिलने के साथ पैसे बचाने में भी मदद करता है।

कम ब्याज दर: कई वित्तीय संस्थानों ने आवेदक की प्रोफाइल के हिसाब से अलग-अलग ब्याज दरें तय की हैं। यदि आपका प्रोफाइल अच्छा है तो आपको कम ब्याज दर पर लोन मिलेगा। लेकिन, वहीं प्रोफाइल कमजोर है तो या तो लोन मिलने में दिक्कत होगी या फिर अधिक ब्याज दर पर लोन मिलेगा।

क्रेडिट स्कोर से लाभ: यदि आपके पास हाई क्रेडिट स्कोर है, तो आप अधिक से अधिक क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं। जिससे कि आपको लंबे समय तक कार्ड/पॉइंट्स, कैशबैक, डिस्काउंट आदि का लाभ मिलता रहेगा।

लोन ट्रांसफर: लोन देने वाला पहले लोन ट्रांसफर के लिए आपके वेतन, एम्प्लॉयमेंट की जांच करेगा। अगर आपके पास हाई क्रेडिट स्कोर है और हाल में या पिछले लोन को आपने समय पर चुका दिया है तो आप लोन ट्रांसफर कर सकते हैं। ऐसे में ब्याज दर भी कम रहेगी।

अलग-अलग रेट: यदि आपके पास हाई क्रेडिट स्कोर है और आप लोन की बड़ी राशि के लिए आवेदन कर रहे हैं, तो उधारकर्ता शुल्क छोड़ने या कम करने के लिए सहमत हो सकता है।