Regular Monthly Income Scheme: लगातार करनी है कमाई तो, ये निवेश विकल्प हैं बेहतर

regular monthly income scheme ऐसे निवेशक जो रिटायर हो चुके हैं या रिटायर होने की योजना बना रहे हैं वे अपनी जीवन शैली को बनाए रखने के लिए नियमित आय की तलाश करते हैं। कई ऐसे निवेश विकल्प हैं जिनसे महीने में लगातार आया हो सकती है

NiteshPublish: Wed, 02 Feb 2022 02:05 PM (IST)Updated: Wed, 02 Feb 2022 02:57 PM (IST)
Regular Monthly Income Scheme: लगातार करनी है कमाई तो, ये निवेश विकल्प हैं बेहतर

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। नौकरी-पेशा होने के बाद या ऐसे भी कई निवेशक ऐसे निवेश की तलाश में रहते हैं जिनसे उन्हें मंथली इनकम आए। विशेष रूप से ऐसे निवेशक जो रिटायर हो चुके हैं या रिटायर होने की योजना बना रहे हैं वे अपनी जीवन शैली को बनाए रखने के लिए नियमित आय की तलाश करते हैं। उनके लिए निवेश के कई विकल्प हैं जो पूंजी की सुरक्षा सुनिश्चित करने के साथ-साथ नियमित मासिक आय भी देते हैं। जानिए ऐसे ही कुछ निवेश विकल्प

Fixed Deposits

फिक्स्ड डिपॉजिट एक ऐसा ही निवेश विकल्प है जिनसे बराबर आय हो सकती है. बैंकों, डाकघरों और एनबीएफसी द्वारा फिक्स्ड डिपॉजिट की पेशकश की जाती है। एनबीएफसी और कंपनियां बैंकों या डाकघर की तुलना में अधिक रिटर्न देती हैं। वरिष्ठ नागरिकों को अतिरिक्त 0.25 प्रतिशत-0.50 प्रतिशत मिलता है। हालांकि, इन फिक्स्ड डिपॉजिट में सरकार की नीति में अचानक बदलाव या कंपनी से बाहर के कारकों के कारण डिफ़ॉल्ट का कुछ जोखिम होता है।

Senior Citizens Saving Scheme (SCSS)

वरिष्ठ नागरिकों के लिए यह एक अनिवार्य योजना है। इस योजना में केवल वरिष्ठ नागरिक या जल्दी रिटायर लोग ही निवेश कर सकते हैं। SCSS पर ब्याज दर त्रैमासिक देय है और पूरी तरह से कर योग्य है।

यह भी पढ़ें: आपके Aadhaar का कहां-कहां हुआ है इस्तेमाल, घर बैठे ऐसे लगाएं पता

Post Office Monthly Income Scheme (MIS)

यह योजना शून्य जोखिम सहनशीलता वाले लोगों के लिए सबसे अच्छा है। इसमें निवेश की अधिकतम सीमा सिंगल अकाउंट में 4.5 लाख रुपये और ज्वाइंट अकाउंट में 9 लाख रुपये है। एक व्यक्ति एमआईएस में अधिकतम 4.5 लाख रुपये का निवेश कर सकता है।

Long-term government bond

लंबी अवधि के सरकारी बांड भी नियमित आय अर्जित करने का एक विकल्प हैं। हालांकि मैच्योरिटी अवधि काफी लंबी है, निवेशक इसका उपयोग पूरे वर्ष आय अर्जित करने के लिए कर सकते हैं। ये सेकंड्री मार्केट में कारोबार करते हैं।

Edited By Nitesh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept