This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

आर्बिट्राज फंड से बाजार में उतार-चढ़ाव का फायदा

शेयर बाजार में कीमतों में उतार-चढ़ाव बाजार की प्रक्रिया का ही हिस्सा है, लेकिन अगर इस उतार-चढ़ाव दोनों ही स्थितियों में अगर आपको मुनाफा हो तो कैसा रहे। आर्बिट्राज फंड दो बाजारों के बीच कीमतों में अंतर को अपने फायदे के लिए इस्तेमाल करते हैं। इन फंडों में एक ही सिद्धांत पर काम किया जाता हैं कि प्रतिभूतियों को अलग-अलग बाजा

Mon, 30 Mar 2015 06:40 PM (IST)
आर्बिट्राज फंड से बाजार में उतार-चढ़ाव का फायदा

शेयर बाजार में कीमतों में उतार-चढ़ाव बाजार की प्रक्रिया का ही हिस्सा है, लेकिन अगर इस उतार-चढ़ाव दोनों ही स्थितियों में अगर आपको मुनाफा हो तो कैसा रहे।

आर्बिट्राज फंड दो बाजारों के बीच कीमतों में अंतर को अपने फायदे के लिए इस्तेमाल करते हैं। इन फंडों में एक ही सिद्धांत पर काम किया जाता हैं कि प्रतिभूतियों को अलग-अलग बाजार में बेचा जाए ताकि नुकसान को कम और मुनाफे को ज्यादा किया जा सके। आर्बिट्राज वित्तीय भाषा में एक ऐसा नियम है जिसमें मुनाफा कमाना ही मूल धारणा होती है। इसमें हाजिर और वायदा बाजार के अंतर का कारोबार के जरिये फायदा लेने की कोशिश की जाती है। बाजार में आर्बिट्राज मौकों की पहचान करने वाले सहभागियों यानी पार्टिसिपेंट्स को आर्बिट्रेजर्स कहा जाता है।

क्यों आकर्षक हैं ये फंड

क्रिसिल की ताजा रिपोर्ट में यह तथ्य सामने आया है कि जून, 2011 से जुलाई, 2012 के बीच इन फंडों ने 9 फीसद का रिटर्न दिया, जबकि इक्विटी फंडों में 4 फीसद से ज्यादा का नुकसान हुआ। टैक्स के लिहाज से भी ये फंड डेट फंड से बेहतर हैं। एक साल से अधिक अवधि तक बने रहने पर इन फंडों से आय पर कोई कर नहीं लगता। एक साल से कम निवेश पर 15 फीसद का टैक्स है। फंड मैनेजर को इन फंडों का 65 फीसद निवेश इक्विटी में करना अनिवार्य है। रिस्क फ्री रिटर्न के लिए आप इन फंडों का रुख कर सकते हैं।

फायदे

-इन फंडों में नुकसान की संभावना कम होती है

-आर्बिट्राज फंड का साइज छोटा होने की वजह इसका प्रबंधन आसान है

-ज्यादातर सौदे अल्गोरिद्म ट्रेडिंग यानी मशीनों के जरिये होते हैं

-बाजार में काफी उठापटक की स्थिति में इन फंडों को सबसे ज्यादा मुनाफा होता है

-जो निवेशक शेयरों में सीधे निवेश का जोखिम नहीं ले सकते इन फंडों का चुनाव सर सकते हैं

नुकसान

-खास परिस्थितियों में ही इन फंडों का लाभ निवेशकों को मिल पाता है

-अगर बाजार में तरलता की कमी होती है तो सीधा प्रभाव इन फंडों पर पड़ता है

-डेट फंड की तुलना में इनका रिटर्न बेहतर होता है लेकिन इक्विटी फंड बेहतर हो सकते हैं

फंड और सालाना रिटर्न

आर्बिट्राज फंड-एक साल का रिटर्न

आईसीआईसीआई इक्विटी आर्बिट्राज - 9.65 फी.

आईडीएफसी आर्बिट्राज प्लान बी - 8.53 फी.

कोटक इक्विटी आर्बिट्राज - 8.31 फी.

यूटीआई स्प्रेड - 7.2 फी.

बिरला सन लाइफ एनहान्स्ड आर्बिट्राज - 8.96 फी.

स्त्रोत- वैल्यूरीसर्च आनलाइन.कॉम

Edited By