बजट में फिर बढ़ेगा शेयर बाजार, इन Stock में निवेश से आपको हो सकता है मुनाफा

चाहे एक्सपायरी का दिन हो या नए सेटलमेंट का बाजार का पहला दिन आपको भरोसा दिलाता है कि यह नीचे आएगा। और बजट में भी ज्‍यादा दिन नहीं बचे हैं। कारोबार के अंत में यह आपकी व्यक्तिगत कॉल है लेकिन मैं 18100 18800 और 19400 के टार्गेट पर कायम रहूंगा।

Ashish DeepPublish: Sat, 29 Jan 2022 11:33 AM (IST)Updated: Tue, 01 Feb 2022 08:58 AM (IST)
बजट में फिर बढ़ेगा शेयर बाजार, इन Stock में निवेश से आपको हो सकता है मुनाफा

नई दिल्‍ली, KISHOR OSTWAL। Nifty इस हफ्ते 17125 पर बंद हुआ, जो 17100 के 3 महीने के औसत से बहुत दूर नहीं था। हालांकि निपटान के पहले दिन 17395 का हाई बनाया था। 27 नवंबर को निफ्टी 17100 पर था, 27 दिसंबर को फिर निफ्टी 17100 और 27 जनवरी को फिर 17100 पर था। बीच में हमने 16431 और 18350 का स्‍तर भी देखा। लेकिन यह अस्थिरता भी 17100 के आसपास केंद्रित थी और मैंने उल्लेख किया था कि 17000 से नीचे खरीदारी का अवसर है। जो निवेशक एक्टिव थे, उन्‍हें अच्‍छी कमाई हुई। मुझे पता है कि आप सभी इस स्थिति से परेशान हैं क्योंकि आपको ऐसी परिस्थितियां कभी पसंद नहीं आती हैं, जहां अत्यधिक अस्थिरता होती है। आइए कुछ दिलचस्प टिप्पणियों और तथ्यों को देखें।

चाहे एक्सपायरी का दिन हो या नए सेटलमेंट का, बाजार का पहला दिन आपको भरोसा दिलाता है कि यह नीचे आएगा। और बजट में भी ज्‍यादा दिन नहीं बचे हैं। कारोबार के अंत में यह आपकी व्यक्तिगत कॉल है, लेकिन मैं 18100, 18800 और 19400 के टार्गेट पर लंबे समय तक कायम रहूंगा।

बीते सप्ताह 4.38 ट्रिलियन डॉलर का ऑप्शंस एक्सपायरी हुआ। हालांकि DOW फेडरल रिजर्व की कार्रवाई से अस्थिर रहा, जो मेरे हिसाब से बेकार ट्रिगर था। अब वह इवेंट भी खत्म हो गया है। अगली अस्थिरता 18 मार्च को अमेरिका में देख सकते हैं। रूस, यूक्रेन तनाव भी खत्‍म है। QE की बदौलत US GDP (7 ट्रिलियन डॉलर) मजबूत हुई है और यह फेड के बयानों पर व्यापक रूप से अनुमान लगाने के बावजूद नहीं रुकेगी।

चीन ने NEOCOV के नए वायरस के बड़े खतरे का ऐलान किया है। उसका दावा है कि इस नए संक्रमण से हर तीसरा व्यक्ति मर जाएगा। हालांकि चीन पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। तथ्य आने बाकी हैं। QE को वापस नहीं लिया जा सकता है। और अगर QE वापस ले लिया और दरों में बढ़ोतरी हुई तो यूएस जीडीपी फिर से गिर जाएगी। खैर, इस तरह के बयान बार-बार दिए जाते हैं क्योंकि इरादा बाजारों को ऊपर और नीचे ले जाने का होता है। मेरे लिए रैली तब तक जारी रहेगी जब तक मेरा टार्गेट नहीं आ जाता। बहुत जल्द DOW 37K को पार कर जाएगा और घबराहट में बेचने वालों को अहसास होगा कि वे कितने अच्छे हैं।

28 जनवरी 2022 को आरएसआई (रिलेटिव स्ट्रेंथ इंडेक्स) 37.2 पर बंद हुआ, जो 20 दिसंबर 2021 (32.33) के बाद सबसे कम है। 21 नवंबर 2021 को यह 31 था और 20 सितंबर 2020 से पहले भी यह 30 था। इन सभी स्तरों से बाजार में विस्फोट हुआ। 21 नवंबर 2021 को 18300 की ऐतिहासिक गिरावट की भविष्यवाणी की गई और कल की गिरावट BUDGET के कारण थी। आपको अभी निर्णय लेना होगा कि क्या हम 37 आरएसआई से गिर सकते हैं और यदि हां तो कितना...? 30, 31 को निफ्टी का सबसे ज्‍यादा ओवरसोल्ड स्‍टेट माना जाता है। निफ्टी हर बार इन स्तरों से लगभग 1000, 1500, 2000 अंकों का उछाल आया है। अभी एक और पारी बाकी है। इसलिए 18800 अगला लक्ष्य है।

NAMO के पीएम बनने के बाद सभी 7 बजटों के विश्लेषण से पता चलता है कि बाजार में कभी करेक्‍शन नहीं हुआ। बजट के बाद यह 10% तक बढ़ गया। मैंने पहले ही सीएनआई बजट साझा किया है, जहां हमने इस बात पर प्रकाश डाला है कि जीएसटी अनुमानित 6.3 लाख करोड़ रुपये के मुकाबले 14.70 लाख करोड़ रुपये हो सकता है, प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर 14 लाख करोड़ रुपये से अधिक हो सकता है, जबकि अनुमानित 11.07 लाख करोड़ रुपये है। दूसरी तरफ खर्च आधा अंक तक भी नहीं पहुंचा है और अगले 60 दिनों में 100% क्रॉस करना असंभव है। इस तरह की स्थिति केवल भारत में हुई है, क्योंकि महामारी ने निश्चित रूप से भारतीय अर्थव्यवस्था को प्रभावित नहीं किया है।

क्या बजट ही बाजार के लिए ट्रिगर है..? उत्तर नहीं। अगले महीने यूपी चुनाव है, जिसका परिणाम 10 मार्च 2022 को आएगा। लेकिन वह अगले सेटलमेंट में आता है, इसलिए FEB सेटलमेंट पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। अटकलों से पैदा हुई कोई भी अस्थिरता केवल खरीदने का एक अवसर होगा। यूपी में बीजेपी का कोई समाधान नहीं है क्योंकि उन्होंने कड़ी मेहनत की है और परिणाम देखे गए हैं। जबकि विपक्ष ने अभी तक बीजेपी सरकार के फॉल्‍ट के बारे में बात नहीं की है और वे यूपी में क्या करेंगे। इसके बजाय वे बार-बार केवल एक ही पंक्ति कह रहे हैं कि योगी को जाना पड़ेगा। योगी भले ही सीएम हैं और चेहरा हैं, लेकिन बीजेपी है, सत्ता में सबसे बड़ी पार्टी है। वास्तव में बाजार 10 मार्च से 17 मार्च 2022 तक उत्साहपूर्ण हो जाएंगे।

6 सुनहरे दिन, जहां मुझे लगता है कि निफ्टी 75000 करोड़ रुपये के LIC IPO के लिए 19000 (19k से 19.4k) से ऊपर होना चाहिए। इसलिए जो लोग मानते हैं कि बाजार तेजी दिखा चुका है और शॉर्ट हो सकता है, उन्हें इस तथ्य को भी ध्यान में रखना चाहिए। हम देखेंगे कि नए डीआईआई खिलाड़ी बाजार में मजबूत होते जा रहे हैं, एलआईसी को सब्सक्राइब करने के लिए एसबीआई उनमें से एक हो सकता है क्योंकि एलआईसी स्वयं अपने आईपीओ की सदस्यता नहीं ले सकती है। 38 लाख करोड़ रुपये के एयूएम के साथ मुझे नहीं लगता कि सरकार को एलआईसी आईपीओ बेचने में मुश्किल होगी।

निफ्टी वैल्यूएशन यानि PE, बाजार पूंजीकरण से लेकर जीडीपी तक पर बोलने की जरूरत नहीं है। फिर भी सिर्फ यह उल्लेख करने के लिए कि भारतीय बाजार अमेरिकी बाजारों की तुलना में पहली बार कम कारोबार कर रहे हैं। यह स्थिति संभवतः सुझाव देती है कि यूएस जीडीपी चमक जारी रख सकती है। वह यह सुझाव भी दे रही है कि वास्तविक विकास अब केवल अमेरिका में है और उस स्थिति में एफपीआई को सब कुछ बेचकर अमेरिकी बाजार में जाना चाहिए। अगर ऐसा होता है तो मुझे खुशी होगी। अगर यह होता है तो ब्याज दर और बॉन्ड यील्ड बेकार हो जाएगी। भारत अमेरिकी ट्रेडरों को बनाए रखने और 25 पीई को क्रॉस करने के लिए भारी छूट पर ट्रेडिंग कर रहा है और उस स्थिति में 2022 में मेरा निफ्टी लक्ष्य 21000 हो जाता है।

मुझे लगता है कि त्रिवेणी ग्लास (Triveni Glass) आगे जाकर एक मल्‍टीबैगर बन सकता है। हां, प्रमोटरों की होल्डिंग बहुत कम लग रही है। आप आरओसी से ब्‍योरा ले सकते हैं और प्रमोटर की वास्तविक होल्डिंग का पता लगा सकते हैं। साथ ही IDBI ने 3.8 मिलियन शेयर बेचे थे जो कि लगभग 31% है, जिन्होंने इन शेयरों को खरीदा था..? मैं नहीं जानता कि आप पता लगा सकते हैं कि ये प्रमोटरों के खाते में रखे गए थे या नहीं। मैं तथ्यों पर बेस्‍ड हूं। अक्टूबर 2020 में कंपनी ने इलाहाबाद में 36 एकड़ भूमि विकसित करने की घोषणा की। यह प्राइम लोकेशन है क्योंकि यह 2 मेगा सुपर हाईवे के बीच सरस्वती हाई टेक सिटी 1150 एकड़ के विशाल प्रौद्योगिकी पार्क के निकट है। 5 और शहरों को इलाहाबाद से जोड़ने के लिए 65 एकड़ की रिंग रोड बनाई जा रही है और सब यहीं से आते-जाते हैं। इस हाईटेक पार्क में अगर आप केवल औद्योगिक प्‍लॉट खरीदना चाहते हैं तो इसकी कीमत आपको 3000 से 4000 रुपये प्रति वर्ग फीट बैठेगी। बाकी आप कैलकुलेट कर सकते हैं कि एफपीआई मूल्य कितना होना चाहिए और त्रिवेणी ग्लास के पास कितना कैश फ्लो आएगा। बीएसई फाइलिंग के अनुसार उन्होंने कहा है कि यह 50% जेवी के माध्यम से किया जाता है और डेवलपर खर्च में मदद करेगा।

GLOBAL OFFSHORE, AANCHAL, RR METALS, METAL COATING, VIRAT CRANES, ARTIFECT, AKAR AUTO, SUNIL AGRO, AMD Industries, RENUKA SUGAR, ARTEMISMED, ASIAN ENERGY, HERCULES, HCC, INOX WIND, INTEGRA ENGG, M K EXIM, RVNL, RDB RASAYAN, VIPUL ORGANICS, SOLIMAC, WINDSOR, YAARII, SWISS MILITARY, SUBEX and ONMOBILE जैसे स्‍टॉक में निवेश जारी रखना चाहिए।

(लेखक CNI Research Ltd में CMD हैं। छपे विचार उनके निजी हैं।)

Edited By Ashish Deep

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept