This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Share Market Tips: बाजार के तेजी से ऊपर जाने की उम्मीद, ये शेयर दे सकते हैं जोरदार रिटर्न

Share Market Tips पश्चिम बंगाल चुनाव के एक बड़े डर ने अच्छी तरह काम किया। बेयर्स के शॉर्ट फंस गए निफ्टी बढ़ गया। कोविड-19 व वैक्सीनेशन की अफवाहों का जो अंतिम भूत है वह भी एक बार निफ्टी के 15100 पर पहुंचने के बाद निश्चित रूप से रुक जाएगा।

Pawan JayaswalMon, 10 May 2021 07:43 AM (IST)
Share Market Tips: बाजार के तेजी से ऊपर जाने की उम्मीद, ये शेयर दे सकते हैं जोरदार रिटर्न

नई दिल्ली, किशोर ओस्तवाल। इस हफ्ते निफ्टी 14,860 पर बंद हुआ, जो की 15,000 के मनोवैज्ञानिक बैरियर से अधिक दूर नहीं है। 14,800 के स्तर पर पुट राइटिंग भी देखी गई, जिसका मतलब है कि निफ्टी 14900 से ऊपर खुलेगा और आसानी से 15,000 से ऊपर जा सकता है। वास्तव में शुक्रवार को बाजार के बाद SGX 14968 पर ट्रेड कर रहा था। हालांकि, अधिकतर यह मैनिपुलेटिव होता है। 14,000 से 15,000 तक पहुंचने की निफ्टी की धीमी गति बेयर्स को फायदा पहुंचाने और उन्हें 15,000 तक शॉर्ट रखने के लिए हो सकती है। इसके बाद यह रफ्तार 15,900 तक सुपर एक्सप्रेस ट्रेन की तरह होगी।   

पश्चिम बंगाल चुनाव के एक बड़े डर ने अच्छी तरह काम किया। बेयर्स के शॉर्ट फंस गए निफ्टी बढ़ गया। कोविड-19 व वैक्सीनेशन की अफवाहों का जो अंतिम भूत है, वह भी एक बार निफ्टी के 15,100 पर पहुंचने के बाद निश्चित रूप से रुक जाएगा। अब कोई भी बॉन्ड यील्ड्स के बारे में बात नहीं करता।

बाकी काम बेयर्स द्वारा किया जाएगा। निफ्टी में केवल 1.1 करोड़ शेयरों की खुली दिलचस्पी और .92 पुट कॉल रेश्यो के साथ हमें बहुत यकीन है कि इस बार बाजार में कोई अधिक गिरावट बहुत मुश्किल है। खैर, आमतौर पर हम मार्च 2021 तक निफ्टी में 1.55 से 1.6 करोड़ शेयरों की खुली दिलचस्पी देखते थे। इसका मतलब यह भी है कि निफ्टी ओपन इंट्रेस्ट में काफी सारी शॉर्ट्स पॉजिशन छुपी हैं। उदाहरण के तौर पर 1.6 करोड़ लॉन्ग है तो .5 करोड़ शॉर्ट्स हैं। इस तरह  1.1 करोड़ शेयरों का ओपन इंट्रेस्ट हुआ।

वैसे भी, निफ्टी अपना काम करेगा और आरआईएल (Ril), एसबीआई (Sbi) एक्सिस (Axis), इंफोसिस (Infosys) और टीसीएस (Tcs) जैसे शेयर निफ्टी को अपनी दिशा बनाने में मदद करेंगे। टिस्को (Tisco) जैसे शेयर, जिसके लिए हमने 1500 रुपये तक जाने का अनुमान लगाया था, 1200 रुपये के करीब है और हिंडाल्को (Hindalco) 400 रुपये पर है। हमने सेल (Sail) को हमारे पहले टार्गेट 140 रुपये को छूते देखा है। (पिछले साल 34 रुपये पर हमने 140 का लक्ष्य दिया था।)

मेटल ने शानदार प्रदर्शन किया है। हमने फरवरी के आखिर में एनएमडीसी (NMDC) को केवल 120 रुपये पर खरीदा था, यह अब 185 पर ट्रेड कर रहा है। हम मानते हैं कि मेटल में ड्रीम रन यहां बंद नहीं हो रहा है। दूसरे मेटल स्टॉक्स जैसे Usha Martin,  Mukand ltd,  Nalco , Sunflag Iron और Manakasia Aluminium अभी भी आकर्षक बने हुए हैं। ये अच्छा करेंगे। हमने अपनी पिछली रिपोर्ट्स में इन सेक्टर्स पर क्यूई के प्रभाव को विस्तार से बताया था। Manakasia एक छोटी एलुमिनियम कंपनी है, लेकिन पिछले दो दिनों में इसने चार्ट्स पर एक बड़ा ब्रेकआउट दिया है।

मेटल के बाद हमें विश्वास है कि सीमेंट में एक्शन होगा, क्योंकि यहां प्रति बैग 4 से 12 रुपये की मूल्य वृद्धि हुई थी और अप्रैल में उत्पादन मार्च से बेहतर रहा था। Ultratech, Acc, Ambuja और Shree Cement की गिनती बड़े खिलाड़ियों के रूप में की जाती है और ये अच्छी तरह से जाने जाते हैं, लेकिन ओरिएंट सीमेंट (Orient Cement) और सीके बिरला ग्रुप (C K Birla) अभी भी दबी हुई हैं। हमें विश्वास है कि यहां स्मार्ट आउटपरफॉर्मेंस होगा। ऐसे शेयरों को लेना आपको आश्चर्यचकित कर सकता है। ये पहले से ही 52 सप्ताह की ऊंचाई पर हैं।

निफ्टी हालांकि ऊपर चला गया, लेकिन केवल कुछ ही शेयर ऐसे थे जिन्होंने निफ्टी को बढ़ने दिया। भारती एयरटेल की बात करें, तो यद्यपि परिणामों की घोषणा की तारीख अभी नहीं आई है, लेकिन शेयर 522 से 572 तक के ड्रीम रन पर था। ऐसे 3 संभावित ट्रिगर हैं, जो इस स्टॉक को तेजी से 620 रुपये तक और फिर 750 रुपये तक ले जा सकते हैं। ये 3 संभावित ट्रिगर हैं- अपेक्षा से अधिक बेहतर परिणाम, डी-मर्जर के इरादे का डी-मर्जर की कार्यवाही में बदलवा। और अंत में बहुप्रतीक्षित टैरिफ वृद्धि।

वैसे हमें उम्मीद है कि सभी तीनों प्लेयर्स एक साथ टैरिफ बढ़ोतरी की घोषणा करेंगे। भारती के बारे में दिलचस्प बात यह है कि विश्लेषक समुदाय के बीच यह स्टॉक शेयर बाजार के आलोकनाथ के रूप में जाना जाता है। उनका मानना ​​है कि भारती वैसा परफॉर्म नहीं करता, जो यह कर सकता है। कई लोग एक फ्लॉप शो बताते हुए 10 वर्षों का विश्लेषण दे देते हैं। दूसरी तरफ हम मानते हैं कि इस स्टॉक के लिए इस तरह की नफरत, यह विश्वास करने का एक अच्छा कारण है कि यह प्रदर्शन करेगा। क्योंकि हम हमेशा स्टॉक मार्केट में अप्रत्याशित चीजों को देखते हैं। यह नफरत शॉर्ट पॉजिशंस में परिवर्तित होती है। भारती ने लंबे समय से 555 के स्तर को नहीं तोड़ा है और हम मानते हैं कि यह 750 के पार जाएगा। यह एक परफेक्ट बॉटम अप स्टॉक है।

वैसे भी, स्मार्ट एक्शन छोटे कैप में देखा गया, जिसकी भविष्यवाणी हमारे द्वारा 2 सप्ताह पहले की गई थी और हमारे सभी पाठकों ने इस रन का आनंद लिया होगा। जिन लोगों ने इस रन में भाग नहीं लिया है, वे भी बहुत खुश हैं कि उनके पास मौजूद कई शेयरों में तेजी आ रही है। जिस तरह से हमारे पास सवाल आ रहे है, उससे हम आपके सामने कुछ तथ्य रखना आवश्यक समझते हैं। हर चमकती चीज सोना नहीं होती। लेकिन वे स्टॉक जो आपके खरीद मूल्य को पार करते हैं, निश्चित रूप से बिना किसी कारण के ऐसा नहीं करते। भारत में इनसाइडर ट्रेडिंग नहीं रुक सकती। सभी फ्रंटलाइन ऑपरेटर्स कंपनियों के आंकड़ों के बारे में जानते हैं।

वे इन शेयरों को बदले हुए फंडामेंटल्स पर खरीदते हैं। आपको वास्तव में यह पता नहीं होता कि स्टॉक की कीमतें क्यों बढ़ रही हैं, इसलिए आपकी लागत को पार करते ही आप इसे बेच देते हैं। उदाहरण के लिए आपने दस साल पहले SAIL को 100 रुपए में खरीदा था और शेयर 30 रुपये तक गिर गया था। अब आप 100 रुपये की कीमत फिर से दिखाई देते ही इसे बेच देते हैं। लेकिन स्टॉक 145 तक चला जाता है और अंततः 200, 250 भी हो सकता है। आपको तो अपनी पूंजी 10 साल बाद मिली, लेकिन जो लोग सब कुछ जानते हैं, वह कुछ ही समय में इससे पांच गुना मुनाफा ले लेते हैं। ऐसा हर शेयर के साथ होता है।

लब्बोलुआब यह है कि एक बार शेयर की कीमत आपकी लागत के करीब आ जाती है, तो आपको और अधिक जोड़ना चाहिए या तथाकथित तेजी के बारे में विशेषज्ञों से जानने की कोशिश करनी चाहिए। कारण जानने के बाद आप 200 से 300 फीसद का रिटर्न पाने के लिए दो साल तक और होल्ड कर सकते हैं। इससे आपका 12 वर्षों का रिटर्न बैलेंस हो जाएगा।

भारत में रिसर्च का सम्मान नहीं किया जाता है। यहां जिस चिज का सम्मान होता है, वह है फ्री टिप्स। यह बहुत प्रसिद्ध है। हमने एक सरल कार्यप्रणाली का पालन किया है और साबित किया है कि यदि आप आधारभूत बातों पर काम करते हैं, तो यहां तक कि एफएंडओ ट्रेडिंग में भी नुकसान का कोई सवाल नहीं है। पिछले 13 वर्षों में हमारे पास सकारात्मक रिटर्न देने का त्रुटिहीन रिकॉर्ड है।

खैर, हम इस बात की डिटेल में नहीं जाएंगे कि निफ्टी 15900 और 16600 को पार क्यों करेगा, क्योंकि इसकी हम हमारी पिछली रिपोर्ट्स में चर्चा कर चुके हैं। भारत बढ़त पर है और टीकाकरण में सफल रहा है। हम मुंबई में पंजीकरण के बाद 2 घंटे से कम समय में टीकाकरण करवाते हैं, जबकि ऐसे लोग भी हैं, जिन्होंने जर्मनी में जनवरी के आखिर में पंजीकरण करवाया है और अभी तक उन्हें टीका नहीं लगा। हम 17 करोड़ टीकाकरण तक पहुँच चुके हैं। जिस दिन हम एक दिन में 1 करोड़ टीकाकरण पर पहुंच जाएंगे, कोरोना का डर और संक्रमण दोनों गायब हो जाएंगे और यह शेयर बाजार के लिए जीत होगी। हमने उल्लेख किया था कि किसी भी तरह से बाजार शीर्ष पर नहीं है। हमें वैक्सीन प्रबंधन सरकार पर छोड़ देना चाहिए, जो अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दे रही है और केवल शेयर बाजार पर फोकस करना चाहिए। संक्षेप में, हमें अपना यह विश्वास जारी रखना चाहिए कि हम बिग बुल रन में हैं और हम इसे और बड़ा करेंगे।

(लेखक cniresearchltd.com के सीएमडी हैं। प्रकाशित विचार उनके निजी हैं।)