Mother's Day: नई कामकाजी माताओं की कैसी हो फाइनेंशियल प्‍लानिंग, एक्‍सपर्ट से जानें इसके 5 बेहतरीन टिप्‍स

Mothers Day बच्चे को बड़ा करने के लिये वक्त धैर्य और पैसे की जरूरत होती है। फाइनेंशियल प्‍लानिंग के इन 5 सुझावों के साथ कामकाजी माताएं अपने बच्चे का भविष्य सुरक्षित कर सकती हैं। मदर्स डे के मौके पर सभी मां अपने बच्चे को यह तोहफा दे सकती हैं

Manish MishraPublish: Sun, 08 May 2022 11:28 AM (IST)Updated: Sun, 08 May 2022 11:28 AM (IST)
Mother's Day: नई कामकाजी माताओं की कैसी हो फाइनेंशियल प्‍लानिंग, एक्‍सपर्ट से जानें इसके 5 बेहतरीन टिप्‍स

नई दिल्‍ली, मुरली जालान। आज Mother's Day है। मां के साथ-साथ बच्‍चों के लिए भी एक खास दिन। अपना परिवार शुरू करने के बाद आपमें से कई माताएं अपने कॅरियर की ओर दोबारा रुख करने के बारे में सोच रही होंगी। यह अपनी आमदनी को व्यवस्थित रखने की दिशा में सबसे पहला कदम है। और यह पहले से कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण है क्योंकि आपको सिर्फ अपनी ही नहीं, बल्कि अपने नन्हे-मुन्‍ने की आर्थिक देखभाल की भी जरूरत है। नई मांओं के लिये यह बेहद स्वाभाविक है कि आपका वित्‍तीय नियोजन (Financial Planning) उतना अच्छा नहीं जा रहा हो जितना कि आपने उम्मीद की है। नया पेरेंट बनना बहुत खुशी की बात हो सकती है। आपको एक साथ कई सारी चीजों के साथ तालमेल बिठाना पड़ सकता है। इसके अलावा, आपका पुरानी वित्‍तीय योजना शायद अब उतनी कारगर ना हो, क्योंकि आपके परिवार में एक नया मेहमान आ गया है जोकि हर चीज के लिये आपके ऊपर निर्भर है। ऐसे में हम नई कामकाजी मांओं के लिये Financial Planning के 5 बेहतरीन सुझाव लेकर आए हैं।

महीने का एक नया बजट बनाएं

परिवार में एक नये बच्चे के आने के साथ, आपके मासिक बजट में काफी बढ़ोतरी होने की उम्मीद है। आपको बेबी फूड, दवाइयां, डायपर, बेबी केयर प्रोडक्ट्स, कपड़े जैसी जरूरी चीजें और डॉक्टर्स के पास जाने का खर्च जोड़ना होगा। ये सभी अतिरिक्त खर्चे हैं जो पहले आपके मासिक बजट का हिस्सा नहीं थे। हो सकता है, आप निवेश में कटौती करके इन खर्चों को पूरा करने का विकल्प चुनें। हालांकि, यह स्मार्ट तरीका नहीं है, बल्कि इससे आपकी दीर्घकालिक बचत और भविष्य की वित्तीय स्थिति प्रभावित हो सकती है। इसके बजाय आप अपने निजी खर्चे जैसे लक्जरी चीजों में कटौती करें, जिनके बिना भी आप कुछ समय तक काम चला सकते हैं।

अपना इमरजेंसी फंड तैयार करें

यदि आपने अपने बच्चे के पहले भी प्रोफेशनल रूप में काम किया है तो यह संभव है कि आपने पहले ही एक इमरजेंसी फंड तैयार कर लिया हो। हालांकि, एक बच्चे के आ जाने से आपको अपने आपातकालीन कोष के बारे में फिर से विचार करने की जरूरत है। आपको इसे और भी मजबूत बनाना होगा। बच्चे के पहले की गिनती बच्चे के बाद काम नहीं करेगी, क्योंकि आपके महीने का खर्च काफी बढ़ चुका है। अपने आपातकालीन कोष की गणना फिर से करें, आपको अपना औसत मासिक खर्च देखने की जरूरत होगी। हम एक औसत लेने के बारे में सलाह क्यों दे रहे हैं? ऐसा इसलिये है क्योंकि बच्चे के साथ कई सारी अप्रत्याशित खर्चे सामने आ सकते हैं, जिसका शायद आपने किसी महीने में हिसाब नहीं किया होगा। अब उस मासिक बजट के आंकड़े को 12 महीने से गुणा करें और आपके पास अपने आपातकालीन कोष के लिए जादुई संख्या है। अब उस फंड को बनाने की दिशा में काम करें ताकि आपके परिवार के पास पटरी पर लौटने के लिये पर्याप्त पैसे हों।

नये लक्ष्यों के लिए निवेश करना शुरू करें

एक नया बच्चा आपके परिवार का केंद्र है। इसलिए, प्राथमिकताएं बदल गई हैं और आपको जीवन के नये लक्ष्य तैयार करने की जरूरत है जो आने वाले कल में आपके बच्चे की जरूरत को पूरा कर सके। अपने बच्चे के जीवन के हर स्टेज का चार्ट तैयार कर लें और उसके हिसाब से फाइनेंशियल लक्ष्यों का रूट बनाते जाएं। जैसे, आप चाहेंगे कि आपके बच्चे का एडमिशन शहर के नामचीन स्कूल में हो। आमतौर पर महानगरों में अच्छे स्कूलों में दाखिले की कीमत काफी ज्यादा होती है। इसका मतलब है कि आपको बच्चे के जीवन के बहुत ही शुरूआती चरण में उन फंड्स को हाथ लगाना होगा और इसलिये वित्‍तीय लक्ष्य ऐसे होने चाहिए जोकि उस समय पर परिपक्‍व हो रहे हों। आपके बच्चे की पढ़ाई की जरूरतें और अन्य मुख्य खर्चे पूरे हो सकें, तो कई सारी चाइल्ड पॉलिसी या एसआईपी में निवेश करना स्मार्ट चीज होगी। जब आप अपने निवेश के साथ आगे बढ़ें तो खाते में होने वाली वृद्धि को ध्यान में रखें जोकि भविष्य में ज्यादा खर्चों को कवर करने वाला होना चाहिये।

अपने टर्म लाइफ कवर को बूस्ट करें

टर्म लाइफ कवर बीमा का एक रूप है जोकि आजकल की कामकाजी माताएं ले रही हैं। यह आपकी अनुपस्थिति में आपके प्रियजनों के लिए एक किफायती मूल्य पर बीमा प्रदान करता है। हो सकता है कि आपने बच्चे के जन्म के पहले ही लाइफ कवर खरीद लिया हो। हालांकि, यह बच्चे के जन्म के पहले लिया गया है तो यह आपकी उन आवश्यकताओं और जिम्मेदारियों का ख्याल रखे जोकि बच्चे के पहले वाली स्थिति में था। परिवार में बच्चे के साथ, खर्च बढ़ जाता है और तो ऐसे में आप अपने टर्म लाइफ कवर को टॉप अप करने पर विचार कर सकती हैं जोकि आपके पूरे परिवार की आर्थिक जरूरतों को पूरा कर सके, तब जब आप उनके साथ नहीं हों। बस आपको अपने कवरेज के बीच के फर्क की गणना करने की जरूरत है और आपको क्या जरूरत होगी। आप उस फर्क को दूसरा प्लान खरीद करके पूरा कर सकती हैं।

अपने बच्चे को अपनी स्वास्थ्य बीमा योजना में शामिल करें

एक नवजात शिशु के साथ, आपको कई सारे मेडिकल खर्चों से होकर गुजरना पड़ सकता है। इसलिये, यह जरूरी है कि आप अपने बच्चे को अपने स्वास्थ्य बीमा योजना में शामिल करें, जैसे ही बच्चा 3 महीने का हो जाए। याद रखें कि आप अपने बच्चे के लिये एक अलग स्वास्थ्य योजना नहीं खरीद सकते हैं, जिसका अर्थ है कि आपको अपने बीमा प्रदाता से बात करनी होगी और अपने बच्चे का नाम अपनी मौजूदा स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी में शामिल करना होगा।यदि आपके या आपके साथी के पास स्वास्थ्य बीमा नहीं है या व्यक्तिगत पॉलिसी के अंतर्गत आते हैं, तो आपको एक फैमिली फ्लोटर योजना का चयन करना चाहिये जो पूरे परिवार को कवरेज प्रदान करती है।

बच्चे को बड़ा करने के लिये वक्त, धैर्य और पैसे की जरूरत होती है। फाइनेंशियल प्‍लानिंग के इन 5 स्मार्ट सुझावों के साथ, नई कामकाजी माताएं अपने बच्चे का भविष्य सुरक्षित कर सकती हैं। मदर्स डे के मौके पर सभी मां अपने बच्चे को यह सबसे बेहतर तोहफा दे सकती हैं।

(लेखक हेड – टाईड एजेंसी & डायरेक्ट डिस्ट्रीब्यूशन, भारती एक्सा लाइफ इंश्‍योरेंस हैं। प्रकाशित विचार उनके निजी हैं।)

Edited By Manish Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept