शेयर बाजार में गिरावट, निवेशकों के 25 लाख करोड़ रुपये डूबे

Share Market भारतीय शेयर बाजार में अस्थिरता के बीच बुधवार को शेयर बाजार गिरावट के साथ खुला और गिरावट के साथ ही बंद हो गया। ऐसे में निवेशकों को भारी नुकसान उठाना पड़ा। उनके करीब 25 लाख करोड़ रुपये डूब गए।

Lakshya KumarPublish: Wed, 27 Apr 2022 04:28 PM (IST)Updated: Wed, 27 Apr 2022 04:28 PM (IST)
शेयर बाजार में गिरावट, निवेशकों के 25 लाख करोड़ रुपये डूबे

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। भारतीय शेयर बाजार में अस्थिरता जारी है। मंगलवार को शेयर बाजार में तेजी रही लेकिन यह तेजी बुधवार को जारी नहीं रह सकी। शेयर बाजार गिरावट के साथ खुला और गिरावट के साथ ही बंद हुआ। इसका नतीजा रहा कि निवेशकों के करीब 25 लाख करोड़ रुपये डूब गए। प्रोविजनल एक्सचेंज डेटा के अनुसार, बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण घटकर 266.9 लाख करोड़ रुपये रह जाने से निवेशकों की संपत्ति में 2.5 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ।

सेंसेक्स और निफ्टी की स्थिति

बीएसई का 30 शेयरों वाला इंडेक्स सेंसेक्स पूरे दिन नुकसान में कारोबार करता रहा। ज्यादातर समय सेंसेक्स में 500 अंकों से ज्यादा की गिरावट देखी गई। अंत में सेंसेक्स 537.22 अंक या 0.94 प्रतिशत गिरकर 56,819.39 अंक पर बंद हुआ। इसके अलावा, एनएसई के इंडेक्स निफ्टी की भी यही स्थिति रही। निफ्टी भी पूरे दिन नुकसान के साथ कारोबार करता रहा और अंत में 162.40 अंक या 0.94 प्रतिशत की गिरावट के साथ 17,038.40 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स के लाभ और घाटे वाले शेयर

30 शेयरों वाले सेंसेक्स पैक से बजाज फाइनेंस, बजाज फिनसर्व, आईसीआईसीआई बैंक, टाइटन, डॉ रेड्डीज, विप्रो, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, इंफोसिस, मारुति और अल्ट्राटेक सीमेंट सबसे ज्यादा घाटे वाले शेयर रहे। इसके विपरीत, टाटा स्टील, एशियन पेंट्स, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, टीसीएस, कोटक महिंद्रा बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज और एचडीएफसी बैंक लाभ में रहे। इसके साथ ही, रिलायंस इंडस्ट्रीज देश की पहली ऐसी कंपनी बन गई है, जिसका बाजार पूंजीकरण 19 लाख करोड़ रुपये को पार कर गया है।

अन्य बाजारों की स्थिति

एशियाई बाजारों में मिला-जुला रुख रहा। टोक्यो और सियोल में 1 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई जबकि हांगकांग और शंघाई बढ़त के साथ बंद हुए। वहीं, दोपहर के सत्र में यूरोप के बाजार हरे निशान में कारोबार कर रहे थे और अमेरिका में शेयर बाजार मंगलवार को काफी गिरावट के साथ बंद हुए थे।

Edited By Lakshya Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept