39 लाख करोड़ रुपये के बजट में सबसे बड़ी रकम मिली इस मिनिस्‍ट्री को, देखिए पूरा चार्ट

सरहद पर बढ़ते खतरे को भापंते हुए डिफेंस बजट में बड़ी रकम डाली गई है। रेलवे को भी मजबूत और फास्‍ट बनाने के लिए बजट में आवंटन किया गया है। वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2022-23 में कुल 39.45 लाख करोड़ रुपये का बजट पेश किया है।

Ashish DeepPublish: Wed, 02 Feb 2022 11:26 AM (IST)Updated: Wed, 02 Feb 2022 01:26 PM (IST)
39 लाख करोड़ रुपये के बजट में सबसे बड़ी रकम मिली इस मिनिस्‍ट्री को, देखिए पूरा चार्ट

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। बजट 2022 में अलग-अलग मंत्रालयों को खर्च के लिए बड़ी रकम दी गई है। सरकार का जोर सबसे ज्‍यादा किसानों की आय बढ़ाने की तरफ है। इसके अलावा सरहद पर बढ़ते खतरे को भापंते हुए डिफेंस बजट में बड़ी रकम डाली गई है। रेलवे को भी मजबूत और फास्‍ट बनाने के लिए बजट में आवंटन किया गया है। वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2022-23 में कुल 39.45 लाख करोड़ रुपये का बजट पेश किया है।

किस विभाग को कितना आवंटन

1- रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry) को बीते साल की तरह सबसे ज्यादा 5,25,166.15 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है। मंत्रालय को दिए फंड में 2021 की तुलना में बढ़ोतरी हुई है। पहले 4,78,196 करोड़ रुपये का बजट था।

2- रक्षा मंत्रालय के बाद दूसरे स्थान पर उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय है, जिसे 2,17,684.46 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। मंत्रालय बीते साल के बजट में भी 2,56,948 करोड़ रुपये के साथ दूसरे स्थान पर था।

3- तीसरे नंबर पर सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय 1,99,107.71 करोड़ रुपये के आवंटन के साथ है। इस मंत्रालय को गृह मंत्रालय से ज्‍यादा बड़ी रकम मिली है। क्योंकि सरकार ने पीएम गति शक्ति योजना के तहत राष्ट्रीय राजमार्ग प्रणाली में विस्तार की घोषणा की है।

4- गृह मंत्रालय 1,85,776.55 करोड़ रुपये की रकम के साथ चौथे स्थान पर आ गया है, जो पिछले साल की संख्या 1,66,547 करोड़ रुपये से थोड़ा अधिक है।

5- रेल मंत्रालय को पांचवां स्थान मिला है। इसे 1,40,367.13 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं।

6- छठे नंबर पर ग्रामीण विकास मंत्रालय है, जिसे 1,38,203.63 करोड़ रुपये मिले हैं, जो पिछले बजट के 1,33,690 करोड़ रुपये से थोड़ा ज्‍यादा है।

7- रसायन और उर्वरक मंत्रालय ने 1,32,513.62 करोड़ रुपये के आवंटन के साथ सातवां स्थान हासिल किया है।

इन योजनाओं पर खर्च आवंटन

1- PM Kisan - 68,000 करोड़ रुपये

2- Jal Jeevan Mission - 60,000 करोड़ रुपये

3- National Education Mission - 39,553 करोड़ रुपये

4- National Health Mission - 37,800 करोड़ रुपये

5- PM Gram Sadak Yojana - 19,000 करोड़ रुपये

Edited By Ashish Deep

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept