This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

सितंबर से मार्च के दौरान 105 बिलियन डॉलर बढ़ गई घरेलू शेयरों में FPI होल्डिंग की कीमत: रिपोर्ट

DII इनफ्लो वित्त वर्ष 2020-21 में 1.38 लाख करोड़ रुपये नकारात्मक रहा इससे उनकी कुल होल्डिंग्स की कीमत 203 बिलियन डॉलर रह गई। वित्त वर्ष 2020-21 में रिकॉर्ड 37 बिलियन डॉलर डालने से घरेलू शेयरों में एफपीआई की होल्डिंग्स की कीमत 555 बिलियन डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई।

Pawan JayaswalThu, 22 Apr 2021 07:28 AM (IST)
सितंबर से मार्च के दौरान 105 बिलियन डॉलर बढ़ गई घरेलू शेयरों में FPI होल्डिंग की कीमत: रिपोर्ट

नई दिल्ली, पीटीआइ। वित्त वर्ष 2020-21 में घरेलू शेयरों में विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPI) की होल्डिंग्स की कीमत 555 बिलियन डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई। सितंबर 2020 से मार्च 2021 के दौरान ही इसमें 105 बिलियन डॉलर की वृद्धि हुई है। एक रिपोर्ट से यह जानकारी सामने आई है। बैंक ऑफ अमेरिका (BofA) सिक्युरिटीज के आंकड़ों के अनुसार, इसके मुकाबले घरेलू संस्थागत निवेशकों (DII) का निवेश 203 अरब डालर था, जो एफपीआई के मुकाबले आधे से भी कम है।

रिपोर्ट के अनुसार, एफपीआई ने इस साल 16 अप्रैल तक (वर्ष दर तारीख के आधार पर) शुद्ध 7.2 अरब डॉलर का निवेश किया है। साथ ही भारत एकमात्र ऐसा बाजार है, जिसने इस साल में शुद्ध सकारात्मक प्रवाह देखा है। हालांकि, मार्च 2021 में इसमें गिरावट देखने को मिली थी। नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, वित्त वर्ष 2020-21 में एफपीआई ने रिकॉर्ड 37 अरब अमरीकी डालर या 2.75 लाख करोड़ रुपये इक्विटी में निवेश किए, जो दो दशकों में सबसे अधिक है।

इससे पहले वित्त वर्ष 2010, 2011 और 2013 में एफपीआई इनफ्लो 20 बिलियन डॉलर के पार गया था। कई देशों के केंद्रीय बैंकों द्वारा महामारी से प्रभावित अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए लाखों करोड़ डॉलर्स बाजार में डालने से बाजार में भारी लिक्विडिटी आने के कारण एफपीआई निवेश में यह तेजी आई है। 

दूसरी तरफ घरेलू संस्थागत निवेशकों का इनफ्लो वित्त वर्ष 2020-21 में 1.38 लाख करोड़ रुपये नकारात्मक रहा, इससे उनकी कुल होल्डिंग्स की कीमत 203 बिलियन डॉलर रह गई। रिपोर्ट के अनुसार, वित्त वर्ष 2020-21 में रिकॉर्ड 37 बिलियन डॉलर डालने से घरेलू शेयरों में एफपीआई की होल्डिंग्स की कीमत 555 बिलियन डॉलर के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गई, तो सितंबर 2020 के आखिर में केवल 450 बिलियन डॉलर थी।

Edited By: Pawan Jayaswal