This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

शेयर बाजार की रैली खत्‍म, BSE-NSE पर ये बड़े कारण हुए हावी

Stocks to buy today Sensex की शुरुआत गुरुवार को कमजोरी के साथ हुई। 61143 अंक के पिछले बंद के मुकाबले BSE का मेन इंडेक्‍स 61081 अंक पर खुला। IndusInd Bank LT Bajaj Auto समेत एक दर्जन शेयर हरे निशान पर थे।

Ashish DeepThu, 28 Oct 2021 09:34 AM (IST)
शेयर बाजार की रैली खत्‍म, BSE-NSE पर ये बड़े कारण हुए हावी

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। Sensex की शुरुआत गुरुवार को कमजोरी के साथ हुई। 61,143 अंक के पिछले बंद के मुकाबले BSE का मेन इंडेक्‍स 61,081 अंक पर खुला। IndusInd Bank, LT, Bajaj Auto समेत एक दर्जन शेयर हरे निशान पर थे। खबर लिखे जाने तक सेंसेक्‍स 227 अंक नीचे आ गया था। वहीं Nifty 50 इंडेक्‍स भी 18,210 अंक के पिछले सत्र के मुकाबले मामूली गिरावट के साथ 18,187 पर खुला। बाद में यह फासला बढ़कर 73 अंक हो गया। जानकारों के मुताबिक ग्‍लोबल स्‍तर पर भी बाजारों में गिरावट का रुख है। इसलिए BSE और NSE भी दबाव में हैं।

इससे पहले बुधवार को वैश्विक बाजारों के कमजोर रुख के बीच शेयर बाजारों में तेजी का सिलसिला थम गया था। मासिक डेरिवेटिव्स अनुबंधों के निपटान की वजह से भी बाजार में उतार-चढ़ाव रहा। कारोबारियों ने कहा कि रुपये में गिरावट तथा कंपनियों के मिलेजुले तिमाही नतीजों से भी बाजार धारणा प्रभावित हुई। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 206.93 अंक या 0.34 प्रतिशत के नुकसान से 61,143.33 अंक पर आ गया। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 57.45 अंक या 0.31 टूटकर 18,210.95 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स की कंपनियों में एक्सिस बैंक का शेयर सबसे अधिक 6.52 प्रतिशत टूटा। बजाज फाइनेंस, बजाज फिनसर्व, इंडसइंड बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, टाटा स्टील और एनटीपीसी के शेयर भी नुकसान में रहे। दूसरी ओर, एशियन पेंट्स, सन फार्मा, इन्फोसिस, एसबीआई, अल्ट्राटेक सीमेंट, भारती एयरटेल और एचसीएल टेक के शेयर 4.42 प्रतिशत तक के लाभ में रहे।मारुति सुजुकी का सितंबर तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 66 प्रतिशत की गिरावट के साथ 487 करोड़ रुपये रहा है। इसके बावजूद कंपनी का शेयर मामूली बढ़त के साथ बंद हुआ।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘वैश्विक धारणा के अनुरूप घरेलू बाजार भी नकारात्मक दायरे में रहे। वित्तीय कंपनियों के शेयरों में गिरावट से बाजार नीचे आया।’’ लिगेयर ब्रोकिंग के उपाध्यक्ष-शोध अजित मिश्रा ने कहा, ‘‘मिलेजुले वैश्विक रुख के बीच बाजार में कारोबार सुस्त रहा। शुरुआत में एशियाई बाजारों के कमजोर रुख से धारणा प्रभावित हुई।’’

बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप 0.30 प्रतिशत तक चढ़ गए। अन्य एशियाई बाजारों में चीन के शंघाई कम्पोजिट, हांगकांग के हैंगसेंग, जापान के निक्की तथा दक्षिण कोरिया के कॉस्पी में नुकसान रहा। (Pti इनपुट के साथ)

Edited By Ashish Deep