Bharat Bill Payment System: RBI गवर्नर का ऐलान, अब एनआरआई भी कर सकेंगे यूटिलिटी बिलों का भुगतान

Bharat Bill Payment System आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि यह सुविधा बुजुर्गों को ध्यान में रखकर शुरू की जा रही है। अब विदेशों में रहने वाले भारतीय अपने माता-पिता या परिवार के दूसरे सदस्यों की तरफ से उनके बिल का पेमेंट कर सकेंगे।

Siddharth PriyadarshiPublish: Fri, 05 Aug 2022 01:54 PM (IST)Updated: Fri, 05 Aug 2022 01:54 PM (IST)
Bharat Bill Payment System: RBI गवर्नर का ऐलान, अब एनआरआई भी कर सकेंगे यूटिलिटी बिलों का भुगतान

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। भारतीय रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को कहा कि अनिवासी भारतीय जल्द ही भारत बिल पे (Bharat Bill Payment System) से यूटिलिटी बिलों का भुगतान कर सकेंगे। भारत बिल पे सिस्टम की मदद से अब एनआरआई भारत में रहने वाले अपने परिवार के सदस्यों की ओर से गैस, पानी और बिजली आदि के बिलों और एजुकेशन फीस का भुगतान कर सकेंगे। द्विमासिक मौद्रिक नीति की घोषणा करते हुए आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास (RBI Governor Shaktikanta Das) ने कहा कि इससे वरिष्ठ नागरिकों को बहुत फायदा होगा। केंद्रीय बैंक जल्द ही इस संबंध में आवश्यक निर्देश जारी करेगा।

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि भारत बिल पे (Bharat Bill Pay) ने भारत में बिल पे करने के तौर-तरीकों को काफी हद तक बदल दिया है। अब प्रस्ताव यह है कि इस सिस्टम को विदेशों से आने वाली आवक के लिए तैयार किया जा सके। उन्होंने कहा कि यह अनिवासी भारतीयों (एनआरआई) को भारत में रहने वाले अपने परिवार की ओर से बिल का भुगतान करने में सक्षम बनाएगा। इसका मतलब यह हुआ कि अगर आपके बेटे या बेटी विदेश में रहते हैं तो वे आपके बिल का पेमेंट कर सकेंगे।

क्या है Bharat Bill Payment System?

बीबीपीएस यानी Bharat Bill Payment System बिल भुगतान की एकीकृत प्रणाली है, जो ग्राहकों को ऑनलाइन बिल पेमेंट सर्विस प्रदान करती है। यह सिस्टम नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) के अंतर्गत काम करता है। भारत बिल पे सिस्टम (बीबीपीएस) एक स्टैंडर्ड बिल पे सिस्टम है। 20,000 से अधिक बिलर इस सिस्टम का हिस्सा हैं। इस प्लेटफॉर्म पर हर महीने 8 करोड़ से अधिक लेन-देन प्रोसेस किए जाते हैं।

किन बिलों का कर सकते हैं भुगतान

Bharat Bill Payment System से बिजली, पानी, फोन और गैस आदि के बिलों का भुगतान कर सकते हैं। इसके साथ ही, इश्योरेंस प्रीमियम, म्यूचुअल फंड, स्कूल फीस, क्रेडिट कार्ड या FasTAG रिचार्ज और हाउसिंग सोसाइटी के मासिक या एनुअल चार्जेस भी दिए जा सकते हैं। बिल पे करने के लिए डेबिट कार्ड, इंटरनेट बैंकिंग, UPI और वॉलेट आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Edited By Siddharth Priyadarshi

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept