इस महीने लॉन्च हो सकता है साइबर सिक्युरिटी फर्म इंस्पिरा एंटरप्राइज इंडिया का आइपीओ

इंस्पिरा एंटरप्राइज इंडिया इस महीने अपने 800 करोड़ रुपये के आकार वाले आइपीओ को लॉन्च करने की योजना बना रही है। इंस्पिरा इस इश्यू से मिली रकम को वैश्विक आधार पर खास तौर पर अमेरिका में अपनी उपस्थिति का विस्तार करने के लिए करेगी।

Abhishek PoddarPublish: Sun, 05 Dec 2021 12:11 PM (IST)Updated: Mon, 06 Dec 2021 06:58 AM (IST)
इस महीने लॉन्च हो सकता है साइबर सिक्युरिटी फर्म इंस्पिरा एंटरप्राइज इंडिया का आइपीओ

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। साइबर सुरक्षा फर्म इंस्पिरा एंटरप्राइज इंडिया इस महीने अपने 800 करोड़ रुपये के आकार वाले आइपीओ को लॉन्च करने की योजना बना रही है। कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस बारे बयान देते हुए यह जानकारी दी है कि, इंस्पिरा इस इश्यू से मिली रकम को वैश्विक आधार पर खास तौर पर अमेरिका में अपनी उपस्थिति का विस्तार करने के लिए करेगी।

वर्तमान में, मुंबई स्थित कंपनी की सिंगापुर, फिलीपींस, संयुक्त अरब अमीरात, इंडोनेशिया, अमेरिका और केन्या जैसे छह देशों में मौजूदगी है। कंपनी नए सिरे से इक्विटी शेयर जारी कर 300 करोड़ रुपये जुटाने पर विचार कर रही है। इसके अलावा, प्रकाश जैन, मंजुला जैन फैमिली ट्रस्ट और प्रकाश जैन फैमिली ट्रस्ट द्वारा 500 करोड़ रुपये के इक्विटी शेयरों की बिक्री की पेशकश की जाएगी।

इंस्पिरा के प्रबंध निदेशक चेतन जैन ने इस बारे में बताते हुए यह कहा कि, "हम इस महीने में क्रिसमस की छुट्टियों से पहले अपना आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) लॉन्च करने की योजना बना रहे हैं। अगर किसी वजह से हम इस महीने अपना आइपीओ लॉन्च नहीं कर पाते हैं, तो हम निश्चित रूप से अगले महीने पब्लिक इश्यू लॉन्च करेंगे।" आपको बताते चलें कि, कंपनी को पब्लिक इश्यू लॉन्च करने के लिए पहले ही सेबी की हरी झंडी मिल चुकी है। कंपनी की तरफ से दिए गए बयानों के मुताबिक, नए निर्गम से प्राप्त राशि का उपयोग भौगोलिक रूप से कंपनी की उपस्थिति का विस्तार करने के लिए किया जाएगा।

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मनोज कनोदिया ने कहा, "हम नए बाजारों में अपनी उपस्थिति बनाने और नए वर्टिकल में डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन सॉल्यूशंस की जरूरत को पूरा करने पर ध्यान केंद्रित करने का इरादा रखते हैं। हमने अभी-अभी अमेरिका में एक कार्यालय खोला है और हम अगले दो-तीन वर्षों में अमेरिका में अपनी उपस्थिति का और विस्तार करना चाहते हैं। इसके अलावा हम यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में भी अपनी उपस्थिति दर्ज करने की कोशिश कर रहे हैं।"

आइपीओ से मिली रकम का उपयोग कर्ज के पुनर्भुगतान और सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए किया जाएगा। कंपनी अपने ग्राहकों को साइबर सुरक्षा और डिजिटल परिवर्तन सेवाएं प्रदान करती है और भारत में विभिन्न संस्थानों के लिए बड़ी साइबर सुरक्षा परिवर्तन परियोजनाओं, बुनियादी ढांचे और डिजिटल परिवर्तन परियोजनाओं को क्रियान्वित करती है।

Edited By Abhishek Poddar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept