This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Income Tax Portal: वित्त मंत्रालय ने Infosys के CEO सलिल पारेख को किया तलब, जानिए क्या है पूरा मामला

वित्त मंत्रालय ने Infosys के CEO सलिल पारेख को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के समक्ष यह विवरण देने को कहा है कि लॉन्चिंग के दो माह बाद भी नए इनकम टैक्स पोर्टल से जुड़ी तकनीकी समस्याएं क्यों नहीं दूर हो पायी हैं।

Ankit KumarMon, 23 Aug 2021 08:15 AM (IST)
Income Tax Portal: वित्त मंत्रालय ने Infosys के CEO सलिल पारेख को किया तलब, जानिए क्या है पूरा मामला

नई दिल्ली, एजेंसियां। इनकम टैक्स विभाग के नए ई-फाइलिंग पोर्टल में तकनीकी गड़बड़ियां खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। यही वजह है कि अब वित्त मंत्रालय भी इस मामले पर और सख्त होते जा रहा है। मंत्रालय ने इस पोर्टल को डेवलप करने वाली कंपनी Infosys के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ सलिल पारेख को तलब किया है। मंत्रालय ने पारेख को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के समक्ष यह विवरण देने को कहा है कि लॉन्चिंग के दो माह बाद भी पोर्टल से जुड़ी तकनीकी समस्याएं क्यों नहीं दूर हो पायी हैं।

इस महीने की 21 तारीख से पोर्टल के 'Not Available' होने के मामले को संज्ञान में लेते हुए इन्फोसिस के शीर्ष अधिकारी को तलब कर यह जानकारी देने को कहा कि अब तक क्यों तकनीकी गड़बड़ियों की वजह से वेबसाइट के कामकाज में दिक्कत आ रही है।

इनकम टैक्स विभाग ने इस बाबत ट्वीट कर कहा, ''वित्त मंत्रालय ने Infosys के एमडी और सीईओ सलिल पारेख को 23 अगस्त, 2021 को वित्त मंत्री को यह जानकारी देने के लिए तलब किया है कि पोर्टल से जुड़ी तकनीकी गड़बड़ियों को लॉन्चिंग के 2.5 माह बाद भी क्यों दूर नहीं किया जा सका है। वास्तव में 21 अगस्त, 2021 से पोर्टल ही उपलब्ध नहीं है।''

उल्लेखनीय है कि नए इनकम टैक्स ई-फाइलिंग पोर्टल 'www.incometax.gov.in' की शुरुआत ही काफी खराब रही है। Infosys द्वारा विकसित इस पोर्टल में लॉन्चिंग के दिन से ही किसी ना किसी तरह की दिक्कत आ रही है। इस वेबसाइट को सात जून, 2021 को लॉन्च किया गया था।

जनवरी, 2019 से जून, 2021 के बीच सरकार ने इस पोर्टल को डेवलप करने के लिए Infosys को 164.5 करोड़ रुपये का भुगतान किया था।

Edited By: Ankit Kumar