Gold Price on 2 Nov: धनतेरस पर महंगा हुआ सोना, चांदी के दाम भी बढ़े, जानिए क्या हो गए हैं भाव

Gold Price on 2 Nov मंगलवार को धनतेरस के दिन सोना और चांदी दोनों महंगे हो गए। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना और चांदी दोनों सपाट भाव से क्रमश 1793 अमेरिकी डॉलर प्रति औंस और 23.95 अमेरिकी डॉलर प्रति औंस पर कारोबार कर रहे थे।

NiteshPublish: Tue, 02 Nov 2021 03:58 PM (IST)Updated: Tue, 02 Nov 2021 05:58 PM (IST)
Gold Price on 2 Nov: धनतेरस पर महंगा हुआ सोना, चांदी के दाम भी बढ़े, जानिए क्या हो गए हैं भाव

नई दिल्ली, पीटीआइ। मंगलवार को धनतेरस के दिन सोना और चांदी दोनों महंगे हो गए। राष्ट्रीय राजधानी में आज सोना 53 रुपये की तेजी के साथ 46,844 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। यह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर गोल्ड की कीमतों में आई तेजी को दर्शाता है। पिछले कारोबार में सोना 46,791 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। चांदी भी 45 रुपये की तेजी के साथ 63,333 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई, जो पिछले कारोबार में 63,288 रुपये प्रति किलोग्राम थी।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना और चांदी दोनों सपाट भाव से क्रमश: 1,793 अमेरिकी डॉलर प्रति औंस और 23.95 अमेरिकी डॉलर प्रति औंस पर कारोबार कर रहे थे।

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के सीनियर एनालिस्ट (कमोडिटीज) तपन पटेल ने कहा कि मंगलवार को COMEX ट्रेडिंग फ्लैट में हाजिर भाव के साथ सोना 1,793 डॉलर प्रति औंस पर स्थिर रहा।

दिवाली से पहले धनतेरस में सोने की बिक्री तेज

धनतेरस के मौके पर सोना और चांदी की खरीदारी तेज है। सोने की कीमतों में नरमी से भी खरीदारी बढ़ी। हिंदू मान्यता के अनुसार धनतेरस को कीमती धातुओं से लेकर बर्तनों तक की खरीदारी के लिए सबसे शुभ दिन माना जाता है। व्यापारियों को उम्मीद है कि सोने की बिक्री महामारी से पहले के स्तर को हासिल कर लेगी। व्यापारियों ने यह भी कहा कि सुबह 11.30 बजे (मुहूर्त समय) के बाद बाजार में लोगों की भीड़ बढ़ी और यह सिलसिला बुधवार सुबह तक जारी रहेगा।

सोने की कीमत मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी में 46,000-47,000 रुपये प्रति 10 ग्राम (करों को छोड़कर) के दायरे में थीं, जो इस साल अगस्त में 57,000 रुपये से अधिक के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई थी। हालांकि, सोने की दर अभी भी धनतेरस 2020 के भाव 39,240 रुपये प्रति 10 ग्राम की तुलना में 17.5 प्रतिशत अधिक है। एक अनुमान के मुताबिक धनतेरस के दिन 100-150 टन सोना (महामारी से पहले के वर्षों में) बेचा जाता है। वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (डब्ल्यूजीसी) के क्षेत्रीय सीईओ (भारत) सोमसुंदरम के मुताबिक, मांग में कमी, कीमतों में नरमी और अच्छे मानसून के साथ ही लॉकडाउन संबंधी प्रतिबंधों में राहत से मांग में जोरदार उछाल की उम्मीद है।

Edited By Nitesh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept