This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

सोने का रिकॉर्ड आयात, इस साल मार्च में 160 टन सोना किया गया इम्पोर्ट

Gold Import in March कोरोना की दूसरी लहर में सोने की मांग में बढ़ोतरी की उम्मीद को भांपते हुए मार्च में रिकॉर्ड आयात किया गया। इस साल मार्च में 160 टन सोने का आयात किया गया जो पिछले वर्ष समान अवधि के मुकाबले 471 फीसद अधिक है।

Ankit KumarSat, 24 Apr 2021 08:33 AM (IST)
सोने का रिकॉर्ड आयात, इस साल मार्च में 160 टन सोना किया गया इम्पोर्ट

नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। कोरोना की दूसरी लहर में सोने की मांग में बढ़ोतरी की उम्मीद को भांपते हुए मार्च में रिकॉर्ड आयात किया गया। इस साल मार्च में 160 टन सोने का आयात किया गया जो पिछले वर्ष समान अवधि के मुकाबले 471 फीसद अधिक है। पिछले तीन वर्षों के दौरान किसी एक महीने में सोने का सबसे ज्यादा आयात इस वर्ष मार्च में ही हुआ है। अगर डॉलर मूल्य के हिसाब से देखा जाए तो मार्च में सोने के आयात में 581 फीसद की बढ़ोतरी दर्ज की गई। पिछले साल मार्च में मात्र में 28 टन सोने का आयात किया गया था। इस साल मार्च में सोने का आयात 8.49 अरब डॉलर मूल्य का रहा। 

पिछले वर्ष मार्च के दौरान देश में 1.22 अरब डॉलर मूल्य के सोने का आयात हुआ था। इससे पहले मई, 2019 में 133.46 टन सोने का आयात किया गया था। हालांकि सोने के आयात में बढ़ोतरी से जेम्स व ज्वैलरी के निर्यात में भी बढ़ोतरी की उम्मीद की जा रही है। सराफा बाजार के विशेषज्ञों के मुताबिक कोरोना की लहर में तेजी के साथ सोने की तरफ निवेशकों के रुझान में बढ़ोतरी की उम्मीद है। इस कारण से भी मार्च में सोने का रिकॉर्ड आयात किया गया। 

वहीं, इस साल फरवरी में पेश बजट में सोने के आयात पर शुल्क घटाकर 7.5 फीसद कर दिया गया। गत वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही (जनवरी-मार्च, 202) में तेज आर्थिक रिकवरी से भी सोने की मांग में बढ़ोतरी हुई। इस वर्ष मार्च में सोने की खुदरा कीमत 43,000-44,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के आसपास रह गई, जो पिछले वर्ष अगस्त में सोना 55,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के आसपास थी। अप्रैल में सोने का वायदा भाव फिर 48,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के पार पहुंच चुका है। 

जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल के चेयरमैन कोलिन शाह के अनुसार सोने के आयात में बढ़ोतरी घरेलू व अंतरराष्ट्रीय बाजार दोनों ही जगह सकारात्मक रुख को दर्शाता है। मुझे उम्मीद है कि चालू वित्त वर्ष में जेम्स व ज्वैलरी के निर्यात में बढ़ोतरी होगी। जेम्स ज्वैलरी निर्यातकों के मुताबिक अमेरिका व ब्रिटेन में कोरोना के मामले पहले के मुकाबले कम होने के चलते वहां से लगातार मांग बढ़ रही है।

देश में बिजनेस गतिविधियां बढ़ने के साथ शादी का सीजन होने के कारण भी मार्च में सोने के आयात में बढ़ोतरी हुई। वित्त वर्ष 2018-19 में भारत ने 979.94 टन सोने का आयात किया था, जो औसतन 80 टन मासिक बैठता है। इसके मुकाबले इस वर्ष मार्च में खत्म वित्त वर्ष में 632.73 टन सोने का ही आयात किया गया। यह मासिक आधार पर औसतन 50 टन के करीब है।

Edited By: Ankit Kumar