This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Amfi ने म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर्स के लिए पंजीकरण व नवीनीकरण शुल्क में 50 फीसद की कटौती की

Mutual Fund Industry एक बयान में एम्फी ने कहा कि एम्फी रजिस्ट्रेशन नंबर (एआरएन) और ईयूआइएन पंजीकरण व नवीनीकरण शुल्क घटाने का मकसद इस उद्योग के युवा पेशेवरों को देशभर के छोटे बचतकर्ताओं तक पहुंचने को प्रेरित करना है।

Pawan JayaswalSun, 02 May 2021 08:16 AM (IST)
Amfi ने म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर्स के लिए पंजीकरण व नवीनीकरण शुल्क में 50 फीसद की कटौती की

नई दिल्ली, पीटीआइ। म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) उद्योग की संस्था एम्फी (Amfi) ने अधिकतर डिस्ट्रीब्यूटरों और व्यक्तियों के लिए एआरएन पंजीकरण (ARN registration) व नवीनीकरण शुल्क में 50 फीसद कटौती कर दी है। नई दरें शनिवार (पहली मई, 2021) से प्रभावी हो गई हैं। इसके अलावा एम्फी ने इंप्लॉई यूनीक आइडेंटिफिकेशन नंबर (EUIN) पंजीकरण शुल्क 1,500 रुपये से और नवीनीकरण शुल्क 750 रुपये से घटाकर 500 रुपये कर दी हैं।

वहीं, व्यक्तियों और कंपनियों के लिए एआरएन पंजीकरण शुल्क 50 फीसद घटाकर 1,500 रुपये और नवीनीकरण शुल्क इतना ही घटाकर 750 रुपये कर दिया है। पोस्ट ऑफिस और माइक्रोफाइनेंस संस्थाओं (एमएफआइ) के लिए एआरएन पंजीकरण शुल्क घटाकर 7,500 रुपये और नवीनीकरण शुल्क 3,750 रुपये किया गया है।

एक बयान में एम्फी ने कहा कि एम्फी रजिस्ट्रेशन नंबर (एआरएन) और ईयूआइएन पंजीकरण व नवीनीकरण शुल्क घटाने का मकसद इस उद्योग के युवा पेशेवरों को देशभर के छोटे बचतकर्ताओं तक पहुंचने को प्रेरित करना है। खासतौर पर इन पेशेवरों के समक्ष देशभर के टीयर-2 व टीयर-3 शहरों तक पहुंचने और छोटे-छोटे बचतकर्ताओं की रकम म्यूचुअल फंड उद्योग की ओर मोड़ने की बड़ी जिम्मेदारी है।

एम्फी के सीईओ एन एस वेंकटेश ने कहा, 'म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटरों और व्यक्तियों के लिए एआरएन और ईयूआईएन के पंजीकरण व नवीनीकरण का घटा हुआ शुल्क म्यूचुअल फंड के विस्तार में मदद करेगा। साथ ही हम चाहते हैं कि युवा पीढ़ी म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूशन को एक रोमांचक करियर अवसर के रूप में देखे और शुल्क में इस कटौती के बाद हमें आशा है कि हम कई नए म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर्स को आकर्षित कर पाएंगे, जो इस इडस्ट्री को आगे बढ़ाने में मदद करेंगे।'