This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Amazon और दैनिक जागरण ने किया विशेष वेबीनार का आयोजन, व्यापारियों के लिए ई-कॉमर्स के महत्व पर की गई चर्चा

Amazon-Dainik Jagran Webinar किसी भी व्यापारी के लिए बाजार कितना महत्वपूर्ण है इस विषय पर बात करते हुए सिद्धार्थ नाथ सिंह कहते हैं विक्रेताओं या व्यापारियों के लिए बाजार का होना बहुत जरूरी है ताकि वो अपने प्रोडक्ट को बेच सके और उस दृष्टि से ई-कॉमर्स महत्वपूर्ण हो जाता है।

Pawan JayaswalMon, 28 Sep 2020 08:17 AM (IST)
Amazon और दैनिक जागरण ने किया विशेष वेबीनार का आयोजन, व्यापारियों के लिए ई-कॉमर्स के महत्व पर की गई चर्चा

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। विक्रेताओं और व्यापारियों के व्यवसाय को मजबूत करने के उद्देश्य से Amazon और दैनिक जागरण ने साझे रूप से बीते शनिवार 26 सितंबर को एक विशेष वेबीनार का आयोजन किया। इस वेबीनार का विषय था 'आत्मनिर्भर भारत की ओर-इस त्योहार में लाएं ई-कॉमर्स द्वारा व्यापार में वृद्धि'।

इस वेबीनार में मुख्य अतिथि के रूप में उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने भाग लिया। वह राज्य में MSME इन्वेस्टमेंट, एक्सपोर्ट टेक्सटाइल व हैंडलूम का विभाग देखते हैं। इस कार्यक्रम के अन्य अतिथियों में निदेशक, MSME एवं सेलर एक्सपीरियंस (अमेजन इंडिया) प्रणव भसीन, फाउंडिंग डायरेक्टर (व डायलॉग) काजिम रिजवी, फाउंडर एवं एमडी (अदा चिकन) विनोद पंजाबी और को-फाउंडर (टू बी ऑनेस्ट) रितिका अग्रवाल शामिल थीं।

किसी भी व्यापारी के लिए बाजार कितना महत्वपूर्ण है, इस विषय पर बात करते हुए सिद्धार्थ नाथ सिंह कहते हैं, "विक्रेताओं या व्यापारियों के लिए बाजार का होना बहुत जरूरी है, ताकि वो अपने प्रोडक्ट को बेच सके और उस दृष्टि से ई-कॉमर्स महत्वपूर्ण हो जाता है।" सिंह ने अपने संबोधन में MSME के लिए अपनी सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं पर बात की। उन्होंने ई-कॉमर्स के फायदों के बारे में बताया और व्यापारियों को इससे जुड़ने के लिए प्रोत्साहित किया।  

कार्यक्रम में ‘व डायलॉग' के फाउंडिंग डायरेक्टर काजिम रिजवी ने आत्मनिर्भर भारत के लिए ई-कॉमर्स को महत्वपूर्ण माना। उन्होंने ‘लोकल फोर ग्लोबल’ की बात की और कहा कि "भारत के व्यापारी बेहतर प्रोडक्ट बनाएं और ई-कॉमर्स की मदद से दूसरे बाजार में अपने प्रोडक्ट को बेचें।"    

लॉकडाउन के समय ई-कॉमर्स कितना फायदेमंद रहा, इस पर बात करते हुए ‘टू बी ऑनेस्ट’ की को-फाउंडर रितिका अग्रवाल ने कहा, “लॉकडाउन में सब दुकानें बंद हो गई थीं, उस दौरान ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से ही हम अपना प्रोडक्ट ग्राहकों को बेच पाए।" उनका स्नैक्स प्रोडक्ट्स पिछले एक साल से Amazon पर है और लॉकडाउन के दौरान उनके प्रोडक्ट्स ने पांच गुना की वृद्धि देखी है। 

देश के किसी भी हिस्से में अगर कुछ भी उत्पादन हो रहा है, तो उसे तकनीक के माध्यम से दुनिया के किसी भी कोने में पहुंचाया जा सकता है और इसमें ई-कॉमर्स की बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। इसी बात पर जोर डालते हुए अदा चिकन के फाउंडर एवं एमडी विनोद पंजाबी कहते हैं, "पहले किसी कोलकता के ग्राहक को लखनऊ की चिकनकारी पसंद आती थी, तो उसे खरीदने के लिए लखनऊ आना पड़ता था, लेकिन ई-कॉमर्स ने ग्राहकों को सहूलियत दे दी, अब वो घर बैठे कहीं से भी कुछ भी मंगवा सकते हैं।"

कार्यक्रम में उपस्थित MSME एवं सेलर एक्सपीरियंस (अमेजन इंडिया) के डायरेक्टर प्रणव भसीन ने अपने संबोधन में यह बताया कि ई-कॉमर्स पर व्यापार करना कितना आसान हो चुका है। उन्होंने Amazon से जुड़ने के लाभ बताये और यह भी बताया कि लॉकडाउन के दौरान किस तरह से व्यापारियों ने अपने व्यापार में वृद्धि दर्ज की। महामारी से उबरने और त्योहारी सीजन में अपने व्यापार को कैसे बढ़ाया जाए, इस बारे में भी प्रणव ने बात की।

वेबिनार का पूरा वीडियो देखें

Edited By: Pawan Jayaswal