This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Xiaomi ने भारत में लॉन्च की Mi Credit लोन सर्विस, बेहद कम दर पर मिनटों में मिलेगा 1 लाख तक का लोन

Mi Credit में लोन के लिए आवेदन करना भी बेहद आसान है। कंपनी के अनुसार इस स्कीम में रियल टाइम अप्रूवल की सुविधा मिलती है। यूजर को सिर्फ अपने डॉक्यूमेंट और सेल्फी अपलोड करनी होती है।

Pawan JayaswalWed, 04 Dec 2019 08:36 AM (IST)
Xiaomi ने भारत में लॉन्च की Mi Credit लोन सर्विस, बेहद कम दर पर मिनटों में मिलेगा 1 लाख तक का लोन

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। चीन की दिग्गज स्मार्टफोन कंपनी शाओमी (Xiaomi) ने मंगलवार को भारतीय बाजार में अपनी पर्सनल लोन सर्विस एमआई क्रेडिट (Mi Credit) को लॉन्च कर दिया है। यह एमआई पे (Mi Pay) के बाद दूसरी फाइनेंस सोल्यूशन सर्विस है, जो शाओमी ने भारत में लॉन्च की है। न्यूज एजेंसी पीटीआइ के अनुसार, शाओमी इंडिया के वाइस प्रेसिडेंट और मैनेजिंग डायरेक्टर मनु जैन ने कहा, 'एमआई क्रेडिट बेस्ट पर्सनल लोन्स की पेशकश करने वाला एक ऑनलाइन मार्केटप्लेस है। यहां से लोग एक लाख तक का लोन ले सकते हैं और इसकी प्रोसेस में भी न्यूनतम समय लगेगा।'

उन्होंने आगे कहा कि ऑनलाइन क्रेडिट लेंडिंग में भारत में खूब मौके हैं और इसके साल 2023 तक 70 लाख करोड़ का आंकड़ा छूने का अनुमान है। कंपनी का कहना है कि सौ फीसद डिजिटल होने के कारण एमआई क्रेडिट सर्विस ग्राहकों को शीघ्रता से और आसानी के साथ लोन उपलब्ध कराएगी।

एमआई क्रेडिट के मौजूदा लेंडिंग पार्टनर मुख्य रूप से आदित्य बिरला फाइनेंस लिमिटेड, मनी व्यू, अर्लीसैलरी, ज़ेस्टमनी और क्रेडिटविधा जैसे एनबीएफसी और फिनटेक कंपनियां हैं। कंपनी का कहना है कि एमआई क्रेडिट सर्विस मार्केट में अन्य कंपनियों की तुलना में सबसे कम ब्याज दर पर लोन मुहैया कराती है।

जैन ने कहा कि यह स्कीम युवा प्रोफेशनल्स के लिए पर्सनल लोन की पहली पसंद बनेगी। एमआई फोन यूजर्स ऐप पर मुफ्त में अपना क्रेडिट स्कोर चेक कर सकते हैं। इस स्कीम में लोन के लिए आवेदन करना भी बेहद आसान है। कंपनी के अनुसार, इस स्कीम में रियल टाइम अप्रूवल की सुविधा मिलती है। यूजर को सिर्फ अपने डॉक्यूमेंट और सेल्फी अपलोड करनी होती है। साथ ही यूजर को लोन लेने का कारण भी बताना होता है।

कंपनी का कहना है कि सुरक्षा कारणों को देखते हुए एमआई क्रेडिट का पूरा डेटा भारत स्थित एमआई सर्वर में ही रखा जाएगा।