क्रेडिट कार्ड धारक ऐसे रखें अपने सिबिल स्कोर का ध्यान, नहीं तो जाएंगे परेशान

क्रेडिट कार्ड लेना और उसको मेंटेन करना ये दोनों बातें बहुत अलग-अलग हैं। लोग क्रेडिट कार्ड तो ले लेते हैं लेकिन उसको मेंटेन नहीं कर पाते हैं। इससे सिबिल स्कोर पर काफी असर पड़ता है। इसीलिए आज हम क्रेडिट कार्ड से जुड़ी कुछ जरूरी बातों के बारे में बताएंगे।

Sarveshwar PathakPublish: Sun, 22 May 2022 05:11 PM (IST)Updated: Mon, 23 May 2022 07:05 AM (IST)
क्रेडिट कार्ड धारक ऐसे रखें अपने सिबिल स्कोर का ध्यान, नहीं तो जाएंगे परेशान

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। आज कल हर कोई अपने पास क्रेडिट कार्ड रखने लगा है, लेकिन बहुत लोगों का उसका सही इस्तेमाल नहीं पता है। क्रेडिट कार्ड का सही इस्तेमाल किया जाए? क्या करें क्या न करें? ऐसे कई सवाल हमारे मन में रहते हैं, जिससे सिबिल स्कोर प्रभावित होता है। ऐसे में आज हम आपको बताने वाले हैं कुछ ऐसे बातों के बारे में जो एक क्रेडिट कार्ड धारक के लिए बहुत जरूरी हैं। तो आइए जानें...

टाइम पर करें पेमेंट

टाइम पर भुगतान नहीं कर पाए तो लेट पेमेंट चार्ज लगने के साथ साथ ही आउटस्टैंडिंग पर ब्याज भी लगता है, जो 50% सालाना तक हो सकता है। इससे बचने के लिए आप समय पर भुगतान करें। अगर आप फुल पेमेंट नहीं कर सकते हैं तो मिनिमम आउटस्टैंडिंग को जरूर समय पर क्लियर कर दें। आप अपने कार्ड को बैंक अकाउंट से लिंक कर सकते हैं, ताकि समय पर खुद आपका भुगतान हो जाए। ऐसा करके, लेट पेमेंट चार्जर और आउटस्टैंडिंग पर लगने वाले ब्याज से बचा जा सकते हैं।

क्रेडिट लिमिट

क्रेडिट कार्ड की लिमिट को कभी भी पूरा यूज नहीं करना चाहिए। इससे बचना चाहिए। क्रेडिट लिमिट का फुल एमाउंट यूज करने से आपका क्रेडिट स्कोर खराब होता है। अगर आपके पास एक-एक लाख रुपये की क्रेडिट लिमिट वाले 3 कार्ड हैं, तो आप किसी भी एक कार्ड की पूरी लिमिट को खर्च न करें, तीनों का इस्तेमाल करें।

कैश निकालने से बचें

क्रेडिट कार्ड से कभी भी कैश न निकालें, क्योंकि उसके ऊपर क्रेडिट पीरियड (खर्च करने और बिलिंग के बाद भूगतान करने की आखिरी तारीख तक बिना ब्याज वाली अवधि) नहीं मिलता है। इस पर जो भी आपके कार्ड पर ब्याज दर लगती है, वह पैसा निकलने के दिन से ही शुरू हो जाएगी। इसके ऊपर अलग से भी चार्ज होता है।

ज्यादा क्रेडिट कार्ड न रखें

कई को-ब्रॉन्डेड कार्ड होते हैं, जैसे- ट्रैवल कार्ड अलग होता है, पैट्रोल कार्ड अलग होता है, शॉपिंग कार्ड अलग है। इनमें रिवॉर्ड पॉइंट्स होते हैं। इस चक्कर में कई बार लोग कई कार्ड्स रखना पसंद करते हैं, लेकिन कई बार बहुत सारे कार्ड होने से उन्हें मैनेज करना मुश्किल होता है। इसीलिए, ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखने से बचना।

Edited By Sarveshwar Pathak

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept