This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

इन 5 वजहों से रिजेक्ट होती है आपके होम लोन की एप्लीकेशन, जानिए

अगर बैंक बार-बार आपके लोन की एप्लीकेशन खारिज कर रहा है तो इसकी कई अहम वजहें हो सकती हैं

Praveen DwivediFri, 29 Dec 2017 04:17 PM (IST)
इन 5 वजहों से रिजेक्ट होती है आपके होम लोन की एप्लीकेशन, जानिए

नई दिल्ली (जेएनएन)। नए मकान की खरीद के लिए लोग अक्सर लोन का सहारा लेते हैं। लोन के लिए आवेदन के दौरान आपको बैंक की ओर से मांगे गए तमाम तरह के कागजात जमा करने होते हैं, हालांकि कभी-कभी बैंक की ओर से आपकी लोन की एप्लीकेशन को रिजेक्ट भी कर दिया जाता है। लेकिन क्या कभी आपने यह जानने की कोशिश की है कि आखिर आपके लोन की एप्लीकेशंस को बैंक रिजेक्ट क्यों कर देते हैं। हम अपनी इस खबर के माध्यम से आपको यही बात समझाएंगे।

खराब क्रेडिट स्कोर हो सकती है अहम वजह: बैंक आपको लोन देन के पहले आपका सिबिल स्कोर चेक करते हैं जिसे क्रेडिट स्कोर भी कहा जाता है। आमतौर पर क्रेडिट स्कोर खराब होने की सूरत में बैंक या तो आपको लोन देने से बचते हैं या आपको लोन देने से सीधे इनकार कर देते हैं। क्रेडिट स्कोर 3 अंकों का एक नंबर होता है जो आपकी क्रेडि‍ट लेने की योग्यता को दर्शाता है। ऐसे में बैंक और उधार देने वाली कंपनि‍यां 750 के क्रेडि‍ट स्कोर को एक अच्छे स्कोर के रूप में लेती हैं। अगर आप अपनी बैंक ईएमआई और क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान समय पर करते रहते हैं तो आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा बना रहता है।

देखें वीडियो

आपकी उम्र भी हो सकती है अहम वजह: कभी कभी आपकी उम्र भी आपके होम लोन की एप्लीकेशन खारिज होने की अहम वजह हो सकती है। होम लोन देने वाली अधिकांश कंपनियां लोन देने की अधिकतम उम्र सीमा 60 साल ही रखती है। 60 वर्ष की उम्र में भी इसी शर्त पर लोन दिया जाता है कि व्यक्ति इस लोन को 70 वर्ष की आयु तक चुका ही देगा। ऐसे में आमतौर पर देखा जाता है कि रिटायरमेंट के करीब के व्यक्तियों की लोन एप्लीकेशन को खारिज कर दिया जाता है। अगर आप 60 की उम्र के करीब लोन के लिए एप्लीकेशन दे रहे हैं तो बेहतर होगा कि आप खुद को लोन लेने के योग्य दि‍खाने के लि‍ए अपने कामकाजी पति/‍ पत्नी और अपने बच्चों को भी सह-आवदेक बना लें।

बार-बार नौकरी बदलना भी हो सकता है कारण: अगर आप हर एक से दो साल में नौकरी बदलते रहते हैं तो यह आपके लोन की एप्लीकेशन को खारिज करने के लिए काफी है। इसलिए बेहतर होगा कि आप एक लक्ष्य निर्धारित करें। यानी अगर आप साल 2019 में लोन लेना चाहते हैं तो साल 2018 से पहले या 2020 तक नौकरी बदलने का विचार त्याग दें। ऐसा कर आप अपना क्रेडिट स्कोर कम होने से बचा सकते हैं। अगर आप ऐसा करते हैं तो शायद आपकी लोन एप्लीकेशन खारिज न हो।

कंपनी का प्रोफाइल: आप किस कंपनी में और किस प्रोफाइल पर काम कर रहे हैं यह भी आपके होम लोन की एप्लीकेशन खारिज होने की वजह हो सकती है। सरकारी और जानी-मानी निजी कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारियों को आसानी से लोन उपलब्ध करवा दिया जाता है लेकिन छोटी और कमतर प्रदर्शन वाली कंपनियों में काम करने वाले लोगों को लोन मिलने में दिक्कतें आती हैं। अगर कंपनी की प्रोफाइल के चलते आपके लोन की एप्लीकेशन खारिज हो रही है तो आप एनबीएफसी का विकल्प चुन सकते हैं।

संपत्ति के सही दस्तावेज न होने पर: आपकी संपत्ति के कागजात भी आपके लोन के आवेदन को प्रभावित करने के लिए काफी होते हैं। स्थानीय प्राधिकरणों की ओर से तय दिशानिर्देशों का पालन न करने पर भी बैंक आपके लोन की एप्लीकेशन को खारिज कर सकता है। ऐसे में बेहतर होगा कि प्रॉपर्टी खरीदने से पहले आप यह सुनिश्चित कर ले कि‍ संपत्ति के दस्ताेवेज ठीक हैं या नहीं।