Menu
blogid : 28590 postid : 4

वैक्सीन का भारत

vasunidhi
Hindi Kavitayen
  • 1 Post
  • 1 Comment

वैक्सीन का भारत
 

इंतज़ार की घड़ियाँ बीती, दूर हुआ काला साया 

टीकाकरण प्रारंभ हो गया, भारत में कोवैक्सीन आया

नवनिर्माण के भारत में, हम टीकाकरण करायेंगे 

दो गज दूरी के झंझट से, मिलकर मुक्ति पायेगें 

आफ़िस कॉलेज खुलेगें सारे, बच्चे भी स्कूल को जायेगें 

जब भी जरुरत होगी हम चेहरे पर मास्क लगायेगें 

हाथ मिलाना आलिंगन का, दौर पुनः चालू होगा 

सैनिटाइज़र का चरणामृत, और नहीं लेना होगा  

वृद्धजनों की सुबह सैर, पुनः शुरू हो जायेगी 

पार्क थियेटर, बाजारों में रौनक फिर बढ़ जायेगी 

घर पर योगा बहुत हो गया, अब हम जिम जा पायेगें 

मुखड़े की रंगत के ख़ातिर, पार्लर की और मुड जायेगें 

धूम मचेगी शादियों में, सबसे आने की विनती होगी 

सप्रेम विनय आमंत्रण पर, ना लोगों की गिनती होगी 

इतिहास में पहला अवसर आया, जब पटरी पर ना रेल चली 

टीकाकरण करा लो भैया, द्वार-द्वार और गली-गली 

विश्व भ्रमण के सपने को, हम फिर से पंख लगायेंगे 

पाप-पुण्य का लेखा करने, चारों धाम घूम आयेगें 

वर्क फ्रॉम होम की बोरियत से, मुक्ति फिर मिल जायेगी 

निर्जन ऑफिस के टेबिल पर, फाइल फिर खुल जायेगी 

कोरोना का अभिशाप, अब और ना हमें सतायेगा 

चहुँ और फिर खुशियाँ होगी,कोवैक्सीन का भारत आएगा 

प्रथम चरण आरम्भ हो चुका, कोरोना को भागने का 

चलो उठो संकल्प साथ लो, कोवैक्सीन का भारत बनाने का 

अगले चरण के टीकाकरण में, दोनों डोज लगवायेगें 

मेले और थियेटर में जाकर, फिर हम भीड़ बढ़ायेगे 

हम सब मिलकर झूमेगें , खुशियों का जश्न मनायेगें 

लम्बी चुभती रात ढलेगी, उम्मीदों के बादल छायेगें 

मोदी जी के अथक प्रयास उन्नति की और ले जायेगें 

कोवैक्सीन निर्माण हो गया, फिर अच्छे दिन आएंगे  रचियता V.Nidhi

 

डिस्क्लेमर: उपरोक्त विचारों के लिए लेखक स्वयं उत्तरदायी हैं। जॉगरण डॉट कॉम किसी तथ्य, दावे या आंकड़े की पुष्टि नहीं करता है।



Tags: