Menu
blogid : 316 postid : 1397622

इन 8 कारणों से ज्यादा रोते हैं छोटे बच्चे, पलभर में दूर करें लाडले की ये समस्या

2 साल की उम्र के या इससे छोटे बच्चे ज्यादातर 8 समस्याओं के चलते रोते हैं। बच्चों की ये समस्या ब्रेस्टफीडिंग के जरिए मां पल भर में दूर कर सकती हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के विशेषज्ञ यह मानते हैं कि ब्रेस्टफीडिंग मां और बच्चे के लिए बेहद जरूरी है। इससे बच्चे के विकास में अतुलनीय वृद्धि होती है, जबकि मां का स्वास्थ्य भी बेहतर होता है। वहीं, स्तनपान बच्चे को 4 तरह की खतरनाक बीमारियों से भी बचाता है।

Rizwan Noor Khan
Rizwan Noor Khan2 Aug, 2021

 

World breast feeding week 2021. Image courtesy- WHO

 

1-7 अगस्त तक वर्ल्ड ब्रेस्टफीडिंग वीक
विश्व स्वास्थ्य संगठन दुनियाभर में हर साल अगस्त के पहले सप्ताह में ब्रेस्टफीडिंग वीक मनाता है। इस साल भी 1 अगस्त से 7 अगस्त तक ब्रेस्टफीडिंग वीके जरिए मां के दूध से बच्चे विकास और स्वास्थ्य पर होने वाले लाभ के प्रति लोगों को जागरूक किया जा रहा है। विश्व स्वास्थ संगठन के विशेषज्ञ मानते हैं कि बच्चों की 8 समस्याओं को ब्रेस्टफीडिंग के जरिए एक पल में दूर किया जा सकता है।

स्तनपान से दूर होती हैं बच्चों की 4 बीमारियां
विशेषज्ञों के अनुसार बच्चे के जन्म के करीब एक घंटे बाद से ही मां का दूध देना चाहिए। मां के दूध में मौजूद पौष्टिक तत्व बच्चे को कई तरह की गंभीर बीमारियों से बचाते हैं। छोटे बच्चों में 4 तरह की गंभीर बीमारियां पनपने का खतरा होता है, जिनमें अस्थमा, ह्रदय संबंधी बीमारी, डाइबिटीज टाइप-2 और मोटापा शामिल है। ब्रेस्टफीडिंग करने वाले बच्चों में इन बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

ब्रेस्टफीडिंग से बेहतर होता है मां का स्वास्थ्य 
विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली मां भी कई तरह की बीमारियों से बची रहती हैं। ब्रेस्टफीडिंग से तनाव और एनजाइटी की समस्या दूर होती है। ब्रेस्टफीडिंग से बॉडी का इम्यून सिस्टम स्ट्रॉन्ग होता है और कई तरह के इन्फेक्शन से फैलने वाली बीमारियों से भी बचाने में मदद करता है।

बच्चों के रोने की 8 वजहें तुरंत होती हैं दूर
2 साल की उम्र के या उससे छोटे बच्चों के रोने की 8 मुख्य वजहें बताई गई हैं। बच्चा अगर दुखी है, फ्रस्टेट है, असहज मसूसस कर रहा है, अकेला है, डरा हुआ है, सर्दी लग रही, भूखा है या फिर उसे गर्मी लग रही है तो वह रोएगा। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार इन सभी स्थितियों में बच्चे को शांत रखने और सुकून देने का सबसे आसान तरीका ब्रेस्टफीडिंग है।...Next

 

https://twitter.com/WHO/status/1422085664850464768

 

ये भी पढ़ें-  

विश्वभर में 8 फीसदी बढ़े कोरोना केस, 132 देशों में पहुंचा डेल्टा वैरिएंट

मध्य प्रदेश और राजस्थान में सबसे कम कोरोना के नए मामले 

दुनिया का सबसे तेज और ज्यादा खाने वाला शख्स, बनाया विश्वरिकॉर्ड