Menu
blogid : 316 postid : 1396750

भारत में कोरोना की तीसरी वैक्सीन को मंजूरी, तमाम देशों में इस्तेमाल हो रहीं ये 13 वैक्सीन

दुनियाभर में कोरोना वायरस को खत्‍म करने के लिए 100 से ज्‍यादा वैक्‍सीन विकसित की जा रही हैं। भारत में भी एक दर्जन से अधिक वैक्‍सीन ट्रायल्‍स के अलग-अलग फेज में हैं। इस बीच भारतीय दवा नियामक संस्‍थान (DCGI) ने 13 अप्रैल को तीसरी वैक्‍सीन के इस्‍तेमाल की मंजूरी दे दी है। उम्‍मीद जताई जा रही है कि अप्रैल के अंत तक इस वैक्‍सीन की खुराक मिलनी शुरू हो जाएगी।

Rizwan Noor Khan
Rizwan Noor Khan13 Apr, 2021

देश में इस्‍तेमाल होगी रूस की स्पुतनिक-V वैक्‍सीन
देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस को थामने और लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए अब तक दो वैक्‍सीन को इस्‍तेमाल किया जा रहा है। लेकिन, अब तीसरी वैक्‍सीन के इस्‍तेमाल की मंजूरी दे दी गई है। एएनआई के मुताबिक भारतीय दवा नियामक संस्‍थान (DCGI) ने रूस की स्पुतनिक-V वैक्सीन को आपातकालीन इस्‍तेमाल की मंजूरी दे दी है। स्‍पुतनिक वैक्‍सीन की खुराक अप्रैल के अंत तक मिलने की संभावना है।

59 देश पहले ही दे चुके हैं उपयोग की अनुमति
स्पुतनिक-V वैक्‍सीन को रूस में विकसित किया गया है। भारत में इस वैक्‍सीन के ट्रायल्‍स फॉर्मा कंपनी डॉक्‍टर रेड्डी ने किए हैं। बता दें कि इस वैक्‍सीन को पिछले साल मार्च में ही कोरोना पर असरदार होने के दावे के बाद रूस की वैश्विक स्‍तर पर आलोचना हुई थी। कई महीने बाद रूस ने ट्रायल्‍स का डाटा दोबारा जारी किया था। स्पुतनिक-V करीब 59 देशों में इस्‍तेमाल हो रही है। भारत इसे मंजूरी देने वाला 60वां देश बना है।

13 वैक्‍सीन हासिल कर चुकी हैं मंजूरी
दुनियाभर में करीब 108 वैक्‍सीन ट्रायल्‍स के अलग अलग फेज में हैं। न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स की रिपोर्ट के अनुसार 11 अप्रैल तक 50 वैक्‍सीन फेज-1 में हैं तो 35 वैक्‍सीन फेज-2 में और 23 वैक्‍सीन फेज-3 में चल रही हैं। अबतक कुल 13 वैक्‍सीन को मंजूरी मिली है। इनमें से 5 वैक्‍सीन को शुरुआती, सीमित और आपातकालीन उपयोग की अनुमति है, जबकि 8 वैक्‍सीन को इस्‍तेमाल का फुल एप्रूवल हासिल हो चुका है।

इन वैक्‍सीन को मिल चुका है फुल एप्रूवल
रिपोर्ट के मुताबिक 8 फुल एप्रूवल हासिल करने वाली वैक्‍सीन में से 4 वैक्‍सीन चीन की हैं। चीन ने अपनी वैक्‍सीन को फुल एप्रूवल दे रखा है। वैक्‍सीन फाइजर-बायोएनटेक, मॉडर्ना, आस्‍ट्राजेनेका, कैनसिनो, सिनोफॉर्म, सिनोवेक और सीनोफॉर्म की वैक्‍सीन को कई देश फुल इस्‍तेमाल का एप्रूवल दे चुके हैं। वहीं, भारत बायोटेक, वेक्‍टर इंस्‍टीट्यूट, जॉनसन एंड जॉनसन और गमेलेया की वैक्‍सीन को सीमित और आपातकालीन उपयोग की मंजूरी मिली है।

covid-19 vaccine tracker infographic courtesy-NYT

 

 

ये भी पढ़ें: दुनिया की सबसे अमीर बहनें, अथाह दौलत की मालकिन

कोरोना ने पिछले साल के रिकॉर्ड तोड़े, सर्वाधिक संख्‍या में मरीज मिले

मुकेश अंबानी फिर एशिया के सबसे अमीर शख्स बने, ये हैं टॉप 10 अमीर

कोरोना से इन 10 राज्‍यों का बुरा हाल, सर्वाधिक संक्रमण यहीं पर