Menu
blogid : 316 postid : 1363167

दिल्ली-एनसीआर की ये 5 जगह सबसे ज्यादा प्रदूषित, आने वाले दिनों में बढ़ेगी मुसीबत!

दिवाली पर पटाखों की बिक्री बैन थी, लेकिन फिर भी पटाखों के शोर ने लोगों की नाक में दम कर रखा था. ऐसे में पटाखे जलाने में रूचि ना रखने वाले लोगों का कहना था कि पटाखों की बिक्री के साथ, इसे जलाने पर भी बैन कर देना चाहिए था. दीवाली के बाद ईपीसीए ने एक रिपोर्ट जारी की है. द इन्वाइरनमेंट पलूशन(प्रिवेंशन ऐंड कंट्रोल) अथॉरिटी(EPCA) ने मंगलवार को ऐसी 5 जगहों की पहचान की है. जहां बाकियों के मुकाबले प्रदूषण का स्तर काफी ज्यादा है.

anand vihar 1

इन 5 जगहों में दिल्ली के आनंद विहार, राजस्थान के भिवाडी, उत्तर प्रेदश के साहिबाबाद व नोएडा सेक्टर-125 और हरियाणा के फरीदाबाद शामिल हैं. सुप्रीम कोर्ट ने राज्यों को निर्देश दिया है कि इन जगहों के प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए लॉन्ग टर्म प्लान तैयार करें. कोर्ट ने एक हफ्ते के भीतर इन योजनाओं की रिपोर्ट सौंपने को कहा है. एनसीआर का एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 300 के आसपास है, जिसका सीधा-सा मतलब ये है कि इससे इन इलाकों में रहने वाले लोगों की सेहत पर बुरा असर पड़ेगा. इसके अलावा पहले से किसी बीमारी से जूझ रहे लोगों की हालत और भी गंभीर हो सकती है.

anand vihar nearby

आनंद विहार सबसे ज्यादा प्रदूषित इलाका

रिपोर्ट में कहा गया है कि दिल्ली के आनंद विहार सबसे प्रदूषित इलाका है. इसका कारण है यहां दूसरे राज्यों में जाने के लिए बस मिलती है, जिससे बसें बड़ी तादाद में यहां खड़ी रहती हैं. दिन भर धुआं, डिपो का कचरा और लोगों की आवाजाही से यहां हर तरह का प्रदूषण फैलता है.  यहां पूरे दिन में लगभग 1800 बसें आती-जाती हैं. इनमें से आधी बसें यूपी रोड़वेज की होती हैं.

pollution

इस समस्या से निपटने के लिए टर्मिनल के बाहर एक पुलिस अधिकारी तैनात किया गया है. साथ ही उत्तर प्रदेश की बसों के लिए आनंद विहार बस टर्मिनल की दूसरी तरफ वाला टर्मिनल इस्तेमाल करने का निर्देश दिया गया है...Next

Read More:

शिंजो आबे और उनकी पत्‍नी ने एयरपोर्ट पर ही बदल लिए थे कपड़े, आपने ध्‍यान दिया क्‍या!

राजकुमारी जो बनीं देश की पहली महिला कैबिनेट मंत्री, एम्‍स की स्‍थापना में थी प्रमुख भूमिका

केजरीवाल ही नहीं इन नेताओं ने भी IIT से की है पढ़ाई, पूर्व रक्षा मंत्री भी हैं इनमें शामिल