Menu
blogid : 316 postid : 1395930

हेल्थवर्कर्स को वैक्सीन पंजीकरण से छूट, जानें कब से शुरू हो रहा टीकाकरण और क्या है वैक्सीन लगवाने की प्रक्रिया

देश में कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण शुरू करने को लेकर खुलासा कर दिया गया है। स्वास्थ्य सचिव ने बताया है कि वैक्सीन को मंजूरी मिलने से 10 दिनों के अंदर टीकाकरण प्रक्रिया शुरू करने की तैयारी है। लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए सरकार ने कोविन-20 डिजिटल प्लेटफॉर्म विकसित किया है। इच्छुक व्यक्ति को इस प्लेटफॉर्म पर पंजीकरण कराना होगा। हेल्थवर्कर्स को पंजीकरण से छूट दी गई है। वैक्सीन लगने की प्रकिया, डोज की समयावधि, टीके का प्रभाव आदि की मॉनि​टरिंग डिजिटल तरीके से होगी।

Rizwan Noor Khan
Rizwan Noor Khan5 Jan, 2021

क्या है कोविन-20 प्लेटफॉर्म
वैक्सीन वितरण प्रक्रिया के लिए कोविन-20 डिजिटिल प्लेटफॉर्म को विकसित किया गया है। यह स्मार्टफोन में एप्प के रूप में उपलब्ध होगा। कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए इच्छुक शख्स को कोविन-20 पर पंजीकरण कराना होगा और मांगी गई जानकारी निर्धारित कॉलम में भरनी होगी। कोविन-20 के जरिए ही लाभार्थी को पता चल सकेगा कि उसे कब, कहां और कैसे वैक्सीन लगेगी। वैक्सीनेशन के बाद होने वाले प्रभाव, अगले डोज आदि की जानकारी भी कोविन-20 प्लेटफॉर्म के जरिए लाभार्थी तक आसानी से पहुंच सकेगी।

पूरा विश्व ले सकता है कोविन-20 का लाभ
कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद लोगों में वैक्सीन लगवाने की प्रक्रिया समेत कई तरह के सवाल थे। जिनका स्वास्थ्य सचिव ने जवाब दे दिया है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि लोगों को कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए कोविन-20 डिजिटल प्लेटफॉर्म या मोबाइल एप्प पर पंजीकरण कराना होगा। एनएनआई के अनुसार स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि कोविन प्लेटफॉर्म हमने भारत में बनाया है, लेकिन ये विश्व के लिए है, जो भी देश इसका इस्तेमाल करना चाहेंगे भारत सरकार इसमें उनकी मदद करेगी।

हेल्थ और फ्रंटलाइन वर्कर को पंजीकरण से छूट
स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि हेल्थ वर्कर और फ्रंटलाइन वर्कर को वैक्सीनेशन के लिए कोविन-20 प्लेटफॉर्म या एप्प पर अपना पंजीकरण कराने की जरूरत नहीं होगी। उनका डाटा पहले ही रिकॉर्ड किया जा चुका है। वैक्सीनेशन के लिए सेशन बांटने की पूरी प्रकिया इलेक्ट्रॉनिकली होगी। डिजिटल तरीके से लाभार्थी की मॉनि​टरिंग होगी।

वैक्सीन के डोज, प्रभाव पर निगरानी रखेगा कोविन-20
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव के मुताबिक लाभार्थी को वैक्सीनेशन हुआ ये डिजिटली रिकॉर्ड किया जाएगा और उसे अगला डोज लेने कब आना है इसकी जानकारी भी उसे डिजिटली मिलेगी। वैक्सीन लेने के बाद अगर उसका कोई बुरा प्रभाव होता है तो उसकी ​रियल टाइम रिपोर्टिंग के लिए कोविन-20 वैक्सीन डिलीवरी मैनेजमेंट सिस्टम में प्रावधान किया गया है।

जनवरी के तीसरे सप्ताह से शुरू होगा टीकाकरण
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने भारत में वैक्सीनेशन प्रक्रिया की शुरुआत होने के बारे में जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि इमरजेंसी यूज अथोराइजेशन जिस दिन हुआ है उसके 10 दिन के भीतर टीकाकरण शुरू होने की पूरी तैयारी है। बता दें कि 3 जनवरी को भारत में वैक्सीन के इमर्जेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिली थी। इसका मतलब है कि 13 जनवरी तक या उससे पहले देश में कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण शुरू हो जाएगा।...NEXT

 

Read More: ग्रीस फोटोग्राफर को फोटो ऑफ द ईयर अवॉर्ड, बेस्ट तस्वीरें देखें

2020 का दर्द और त्रासदी बयां करती ये तस्वीरें

2020 में दुनिया को छोड़ गए सिनेमाजगत के ये लीजेंड

जॉर्डन समेत 9 देशों में कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिली

भारत में 3 वैक्सीन को मंजूरी का इंतजार