Menu
blogid : 316 postid : 1393901

भारत में 5 कंपनियां बना रहीं कोरोना वैक्सीन, एम्स के निदेशक ने बताया वैक्सीन आने का समय

 

Rizwan Noor Khan
Rizwan Noor Khan16 Jul, 2020

 

भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण को थामने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। इस दिशा में कोरोना वैक्सीन बनाने का काम भी तेज कर दिया गया है। ट्रायल की गति तेज कर दी गई है। भारत में कुल 5 कंपनियां वैक्सीन विक​सित करने के लिए काम कर रही हैं।

 

 

 

 

देश में 10 लाख होने वाले हैं कोरोना मरीज
स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक भारत में कोरोना संक्रमण रोजाना नए रिकॉर्ड बनाता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 32,695 नए मामलों की पुष्टि की गई है। इतनी बड़ी संख्या में कोरोना केस अब से पहले कभी नहीं मिले हैं। देशभर में कुल 9,68,876 लोग कोरोना पॉजिटिव हैं। जबकि, 24,915 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है।

 

 

 

मृत्युदर सबसे कम और रिकवरी रेट ज्यादा
एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने मृत्युदर और रिकवरी रेट को लेकर भारत की अच्छी स्थिति बताई है। उन्होंने कहा कि आज हमारे यहां कोरोना वायरस से मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम 2.57 प्रतिशत है। उन्होंने ये भी कहा कि भारत रिकवरी रेट बढ़ रहा है और यह अब 63.25 प्रतिशत पहुंच गया है।

 

 

 

 

वैक्सीन पर एम्स के निदेशक ने ये बात कही
एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने एएनआई से कहा कि देश में कोरोना के मामले बढ़ तो रहे हैं लेकिन हमारा रिकवरी रेट अच्छा है, हमारी मृत्यु दर भी बहुत कम है। उन्होंने कहा कि भारत में वैक्सीन पर 4-5 कंपनियां काम कर रही हैं, ट्रायल भी शुरू हो गए हैं। इस साल के अंत तक या अगले साल की शुरुआत तक वैक्सीन आ जाएगी।

 

 

 

 

कोवैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल पटना से शुरू
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान संस्थान और भारत बायोटेक कंपनी कोरोना की कोवैक्सीन बना रहे हैं। इसे ह्यूमन ट्रायल की मंजूरी सरकार पहले ही दे चुकी है। कोवैक्सीन का पहला ह्यूमन ट्रायल पटना में शुरू किया जा चुका है। वैक्सीन के चरणबद्ध ट्रायल के लिए देश के अन्य 12 शहरों को भी चुना गया है।

 

 

 

 

दुनियाभर में बन रहीं 150 वैक्सीन
विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 30 जून की रिपोर्ट में बताया ​था कि दुनियाभर में कुल 150 वैक्सीन बनाई जा रही हैं। उसे 149 वैक्सीन के मूल्यांकन के आवेदन मिले हैं। भारत की कोवैक्सीन को मिलाकर यह संख्या 150 हो गई है। WHO ने तब बताया था कि इनमें से 17 आवेदन क्लीनिकल ट्रायल फेज में हैं, जबिक 132 आवेदन प्रीक्लिनिकल फेज में चल रहे हैं।

 

 

 

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन अंतिम फेज में
ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और ब्रिटिश दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका कोरोना की ओर से बनाई जा रही कोरोना वैक्सीन ChAdOx1 nCoV-19 ट्रायल के अंतिम फेज में पहुंचने वाली पहली वैक्सीन बन चुकी है। वहीं, रूस ने अपनी कोरोना वैक्सीन के सफल ट्रायल के बाद उम्मीद जताई है कि वह अगले महीने तक इसे बाजार में उतार देगा।..NEXT

 

 

 

Read More :

दुनियाभर में बन रहीं कोरोना की 149 वैक्सीन, WHO ने बताया चल रहा क्लीनिकल ट्रायल

शरीर में चकत्ते और खुजली हो तो लापरवाही न बरतें, ये कोरोना संक्रमण का संकेत, रिसर्च में दावा

यहां अस्पतालों से दूर भाग रहे कोरोना पेशेंट, खाली पड़े हैं कोरोना हॉस्पिटल्स के हजारों बेड

कोरोना को लिटिल फ्लू बताने वाले बोलसोनारो संक्रमित, इस देश में बेकाबू होता जा रहा कोरोना

दुनियाभर में बन रहीं कोरोना की 149 वैक्सीन, आने में लगेगा इतना समय

दुनिया के 12 देशों की सीमा लांघ नहीं पाया कोरोना, अब तक नहीं मिला एक भी मरीज