Menu
blogid : 316 postid : 1397112

चेस्ट के डॉक्टर को नियमित दिखाएं कोरोना मरीज, आईएमए ने बताई मृत्युदर बढ़ने की वजह और बचने के उपाय

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने कोरोना मरीजों को सेहत का सावधानीपूर्वक ध्‍यान रखने की सलाह दी है। उन्‍होंने कहा कि मरीज नियमित चेस्‍ट के डॉक्‍टर के स्थिति की जांच कराते रहें। कोरोना यूनिट में दिनरात काम कर रहे चिकित्‍सकों को ड्यूटी के घंट कम करने की सलाह दी गई है। दूसरी लहर के कारण 269 डॉक्‍टरों की मौत हो चुकी है। उधर, दिल्‍ली यूनिवर्सिटी में पिछले एक माह में 35 शिक्षकों की कोरोना से मौत हो चुकी है।

Rizwan Noor Khan
Rizwan Noor Khan18 May, 2021

Image courtesy- ANI

मृत्‍युदर बढ़ने के कारण और बचाव के उपाय
देश में बढ़ रही कोरोना मौतों ने चिकित्‍सा विशेषज्ञों को चिंता में डाल दिया है। एएनआई के अनुसार IMA के वित्त सचिव डॉ. अनिल गोयल ने कहा कि कोरोना मरीजों का देरी से अस्‍पताल पहुंचना मृत्‍युदर बढ़ने का बड़ा कारण है। जो लोग होम क्वारंटीन में हैं वे अस्पताल देरी से जा रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि जो कोरोना मरीज घर हैं वे नियमित तौर पर कोविड अस्पताल में किसी न किसी छाती के डॉक्टर को दिखाते रहें ताकि शुरूआत में ही उनका ठीक से इलाज किया जा सके।

कोविड यूनिट में सिर्फ 6-8 घंटे काम करें डॉक्‍टर
डॉ. अनिल गोयल ने चिकित्‍सकों को सलाह देते हुए कहा कि जो डॉक्टर कोविड यूनिट में दिन रात काम कर रहे हैं। हो सकता है वैक्सीनेशन के बाद भी उनकी इम्यूनिटी उतनी न हो जिससे वे कोविड के नए वेरिएंट से पार पा सकें, इसलिए डॉक्टरों की ज्यादा मौतें हो रही हैं। डॉक्टरों और प्रशासन को कहना चाहता हूं कि 6-8 घंटे से ज्यादा काम न करें।

IMA Finance Secretary. Dr. Anil Goyal.

अप्रैल से अबतक 269 डॉक्‍टरों की कोरोना से मौत
इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने बताया कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के कारण अप्रैल से अब तक देशभर में 269 डॉक्टरों की जान जा चुकी है। बीती 16 मई को सबसे ज्‍यादा 50 चिकित्‍सकों की मौत हो गई है। रिपोर्ट में बताया गया कि सबसे ज्‍यादा बिहार में 78 डॉक्टरों की मौत हुई है। उत्‍तर प्रदेश में 37 और दिल्‍ली में 28 चिकित्‍सकों की कोरोना से मौत हो चुकी है।

दिल्‍ली यूनिवर्सिटी में एक माह में 35 टीचर्स की मौत
उधर, दिल्‍ली यूनिवर्सिटी ने एएनआई को बताया कि पिछले माह अप्रैल में उसके 35 शिक्षकों की कोरोना से मौत हो चुकी है। दिल्ली यूनिवर्सिटी टीचर्स यूनियन के मुताबिक यूनिवर्सिटी के हर कॉलेज से कम से कम 3 शिक्षक या स्‍टडेंट की कोरोना से मौत हुई है। यूनियन ने एडहॉक टीचर्स के लिए मेडिकल सुविधाएं बढ़ाने की मांग की है। दिल्‍ली के अलावा अन्‍य शैक्षणिक संस्‍थानों में कोरोना से मौतें की खबरें सामने आ चुकी हैं।...Next

 

 

ये भी पढ़ें - 

DRDO ने लांच की कोरोना की दवा, मरीजों को ठीक करने में सफल

पहली बार 525 बच्चे कोवैक्सीन ट्रायल का हिस्सा बनेंगे

10 दिन में रिकॉर्ड 30 लाख से ज्यादा कोरोना मरीज रिकवर

हॉलीवुड सुपरहीरो फिल्मों की रिलीज डेट फाइनल, हिंदी में इस दिन देखें

कोरोना वैक्सीन चोरी के बाद ऑक्सीजन से भरा टैंकर गायब