Menu
blogid : 19157 postid : 1278473

अपनी मां के गर्भ से नहीं जन्मी थी राधा, श्रीकृष्ण के अंश से हुआ था विवाह

से हुआ जन्म
ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार, राधा की मां कीर्ति ने अपने गर्भ में वायु को धारण कर रखा था. कीर्ति ने वायु को जन्म दिया लेकिन वायु के बाहर आने के साथ ही राधा जी कन्या रूप में प्रकट हो गई...Next
Read More:

कृष्ण और राधा की प्रेम कहानी तो सदियों से अधिकतर लोगों की प्रिय रही है, लेकिन क्या आपने कभी राधा रानी के जन्म की कहानी सुनी है. धर्म ग्रंथों के अनुसार राधा रानी का भी जन्म अपनी मां की कोख से नहीं हुआ था. ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार, राधा भी श्रीकृष्ण की तरह ही अनादि और अजन्मी हैं. इस पुराण में राधा के संबंध में बहुत ही ऐसी बातें बताई गई हैं जो बहुत कम लोग जानते हैं. आइए जानते हैं राधा के जन्म की कहानी.

radha birth

श्रीकृष्ण के शरीर से ही प्रकट हुई थीं राधा

ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार, श्रीकृष्ण के बाएं अंग से एक सुंदर कन्या प्रकट हुई, प्रकट होते ही उसने भगवान श्रीकृष्ण के चरणों में फूल अर्पित किए. श्रीकृष्ण से बात करते-करते वह उनके साथ सिंहासन पर बैठ गई. यह सुंदर कन्या ही राधा हैं.

Radha_Krishna1

राधा को मिला था शाप

राधा ने श्रीकृष्ण को अपनी एक अन्य पत्नी विराजा के साथ देखा जिससे वो दुखी हो गई और कृष्ण संग देख उन्हे भला बुरा कहने लगी. कृष्ण को भला-बुरा सुनाने पर श्री कृष्ण के सेवक और मित्र श्रीदामा को गुस्सा आ गया और उन्होंने राधा को गुस्से में आकर शाप दे दिया.

radha

क्या मिला था राधा को शाप

श्रीदामा ने राधा को शाप दिया था कि पृथ्वी पर मनुष्य रूप में जन्म लेंगी.  ब्रह्मपुराण के अनुसार जब देवी राधा और श्रीदामा ने जब एक दूसरे को शाप दे दिया तब ही भगवान श्री कृष्ण ने राधा जी से कहा कि पृथ्वी पर तुम्हें गोकुल में देवी कीर्ति और वृषभानु की पुत्री के रूप में जन्म लेना होगा.

krishan

Read: इस उम्र में हुई थी श्रीकृष्ण की मृत्यु, भगवान राम जन्मे थे इस वर्ष में

कृष्ण के अंश से हुआ था विवाह

ब्रह्मपुराण के अनुसार कृष्ण के कहे अनुसार राधा का जन्म गोकुल में देवी कीर्ति और वृषभानु के घर हुआ और उनका विवाह 'रायाण' नामक एक वैश्य से हुआ जो भगवान कृष्ण का ही अंश माना जाता है.

radhaa

कैसे हुआ जन्म

ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार, राधा की मां कीर्ति ने अपने गर्भ में वायु को धारण कर रखा था. कीर्ति ने वायु को जन्म दिया लेकिन वायु के बाहर आने के साथ ही राधा जी कन्या रूप में प्रकट हो गई...Next

Read More:

श्रीकृष्ण मां काली के रुप में और शिव जन्मे थे राधा के रूप में, जानिए देवी पुराण से जुड़ी अनसुनी बातें!

प्रेम में श्रीकृष्ण को पीना पड़ा था राधा का चरणामृत

कृष्ण के मित्र सुदामा एक राक्षस थे जिनका वध भगवान शिव ने किया, शास्त्रों की अचंभित करने वाली कहानी