Menu
blogid : 314 postid : 794

बज गया चुनावी बिगुल

रेल बजट और आम बजट घोषित हो चुके हैं और इसी के साथ घोषित हो गयी है भारत के पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों की तारीख. तमिलनाडु, केरल, पुडुचेरी, पश्चिम बंगाल और असम में होने वाले चुनावों की तारीखें आ चुकी हैं. ममता जी प. बंगाल के चुनाव को देखते हुए पहले ही अपने रेल बजट को प. बंगाल के ऊपर मेहरबान कर चुकी हैं. और कांग्रेस ने भी लगता है आम बजट में कुछ ऐसा ही किया है. बहरहाल कुछ दिन पहले ही बिहार चुनावों में हमने देश के नेताओं की ताकत देखी थी अब एक बार और देखिए पांच राज्यों का घमासान.

India-Elections-3चुनाव आयोग ने 1 मार्च को तमिलनाडु, केरल, पुडुचेरी, पश्चिम बंगाल और असम में होनेवाले विधानसभा चुनावों के कार्यक्रम का एलान किया. चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल के लिए 18 अप्रैल से 10 मई के बीच छह चरणों में मतदान की घोषणा की है जबकि केरल, पुडुचेरी तथा तमिलनाडु में एक चरण में 13 अप्रैल को मतदान होगा. असम में 2 फेज में 4 और 11 अप्रैल को वोटिंग होगी. सभी पांच राज्यों में मतगणना 13 मई को होगी और उसी दिन परिणाम भी घोषित हो जाएंगे. चुनावों की घोषणा के साथ ही पांचों राज्यों में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है, जिसके दायरे में केन्द्र और राज्य सरकारों के अलावा राजनीतिक दल और उम्मीदवार भी आते हैं.

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की तिथियां

पश्चिम बंगाल में पहले चरण में 54 सीटों के लिए 18 अप्रैल को मतदान होगा, जबकि दूसरे चरण में 50 सीटों के लिए 23 अप्रैल को वोटिंग होगी. पश्चिम बंगाल में तीसरे चरण में 75 सीटों के लिए 27 अप्रैल को मतदान होगा जबकि चौथे चरण में 63 सीटों के लिए तीन मई को पश्चिम बंगाल में वोट डाले जाएंगे. इसी तरह पांचवें चरण में 38 सीटों के लिए 7 मई को और छठे एवं अतिम चरण में 14 सीटों के लिए 10 मई को मतदान होगा.

तमिलनाडु की 234, केरल की 140 और पुडुचेरी की 30 सीटों के लिए एक साथ 13 अप्रैल को वोट पड़ेंगे. असम की कुल 126 सीटों के लिए 4 अप्रैल और 11 अप्रैल को मतदान होगा. असम को छ़ोडकर बाकी में मतदान के लिए फोटो मतदाता सूचियों का इस्तेमाल किया जाएगा.